बेस्ट कोट्स एवर इन हिंदी – Best Quotes Ever in Hindi सर्वश्रेष्ठ बेहतरीन विचार

Best Quotes Ever in Hindi Best Quotes Ever in Hindi

 

  • एक सपना हजार वास्तविकताओं से ज्यादा ताकतवर होता है.

 

  • आप जो सोच सकते हैं, आप उसे कर भी सकते हैं.
  • जब किसी आदमी के स्मार्टनेस में धूर्तता मिल जाती है, तो व्यक्ति का व्यक्तित्व धूमिल हो जाता है.
  • पैसों के अभाव में जीवन का एक-एक दिन चुनौतीपूर्ण हो जाता है.
  • जिसके पास पैसा होता है, अक्सर उसके पास घमंड भी होता है.
  • जब दूसरे लोग मूर्खतापूर्ण बातें कर रहे हों, तो चुप रहना हीं बुद्धिमानी है.
  • बुरी नियत थोड़े समय तक फायदा पहुंचा सकती है, लेकिन इसका अंजाम अंत में बुरा हीं होता है.
  • कुप्रथाओं और बुरी सोच को खत्म कर दिया जाए, तो जिंदगी खूबसूरत है.
  • बुरे व्यक्ति के प्यार में पड़ने वाले लोग बहुत दुःख पाते हैं, इसलिए हमें बुरे व्यक्ति से भूलकर भी प्रेम नहीं करना चाहिए.

  • अपने धन के बारे में, दुःख के बारे में, अपने अपमान के बारे में और पति-पत्नी के बीच की गुप्त बातें किसी
    को नहीं बतानी चाहिए.
  • जो व्यक्ति धन से जुड़े मामलों में, खाने में, नई बातें सिखने में, और स्वरोजगार में शर्म नहीं करता है…..
    वह सुखी रहता है.
  • जो बातें हमें कोई नहीं सिखाता है, वैसी सारी बातें हमें अनुभव सीखा देती है.
  • गरीबी दुनिया के हर कोने में एक जैसी होती है…… पीड़ादायक और हौसलों को आजमाने वाली. गरीब खुद को बेसहारा हीं पाते हैं, चाहे वो दिल्ली में रहते हों या लंदन में.
  • बिना हुनर के पैसा नहीं कमाया जा सकता है और पैसों के बिना जीवन दर्द से भर जाता है.
  • अतिआदर्शवादी बातें कहानियों में हीं अच्छी लगती है, असल जिंदगी में जीवन बर्बाद कर देने वाली
    आदर्शवादी बातों से बचना चाहिए.
  • Mood के हिसाब से बोलनेवाले लोग सभी के बीच अपनी छवि खुद खराब कर लेते हैं. इसलिए जब मूड
    खराब हो तो चुप रहना बेहतर है.

 

अगर आप कविता, शायरी, Article इत्यादि लिखने में सक्षम हैं, तो हमें अपनी रचनाएँ 25suvicharhindi@gmail.com पर भेजें. आपकी रचनाएँ मौलिक और अप्रकाशित होनी चाहिए.

SHARE

2 COMMENTS

  1. Ajabgajabjankari

    बहुत ही अच्छे विचारों का संग्रह तैयार किया है. बहुत बढ़िया

  2. sukhmangal singh

    अच्छे विचारों को समाज ने सदा कद्र किया है | बुरी आदतें और बुरे संगत सदा कष्ट दायक होते हैं | इनसे बचने के उपाय ढूढ़ते चलना गोपनीयता को बनाये रखना जहां उचित होता है वहीं श्रम में कोताही अच्छी नहीं होती | अनुभव किताबी ज्ञान पर भारी होता है यद्यपि पठन -पाठन आवश्यक है |
    भावना में भाव पर ध्यान देना आवश्यक भाउकता अथवा भावावेश में नियंत्रण खोने के अवशर नहीं पलने देना चाहिए |
    आपके विचारों में सहमती ब्यक्त करते हुए धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here