ब्रा से जुड़ी महत्वपूर्ण 25 जानकारियाँ – Bra Information in Hindi What is Bra

Bra Information in Hindi – ब्रा से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियाँ – Bra Information in Hindi – Bra Information in Hindi – Bra Information in Hindi – ब्रा पहनने के फायदे – bra meaning in hindi 

 

  • ब्रा से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियाँ

 

  • ब्रा हर स्त्री के लिए एक महत्वपूर्ण वस्त्र है, लेकिन अधिकतर महिलाओं को ब्रा के बारे में बहुत कम जानकारी होती है. और ब्रा के बारे में कम जानकारी रखना उन्हें किस तरह महंगा पड़ता है, ये बात उन्हें पता तक नहीं चलती है. इस आर्टिकल में हम आपको ब्रा से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियाँ बताने वाले हैं. कई छोटी-मोटी बातें जिन पर आपका ध्यान जाता हीं नहीं होगा और ब्रा से जुड़ी वैसी बातें जिन्हें नजरंदाज करना आपको बाद में महंगा पड़ सकता है.
  • ब्रा से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियाँ :
  • ब्रा पहनने के बाद होने वाले जलन से बचने के लिए सूती लाइनिंग वाली ब्रा खरीदें.
  • ब्रा चुनते वाट यह सुनिश्चित करें कि आप ब्रा के साइज़, आकार तथा उसके कम्फर्ट लेवल से संतुष्ट हैं या नहीं.
  • सस्ते के चक्कर में घटिया गुणवत्ता वाली ब्रा कभी नहीं खरीदें. घटिया ब्रा आपके स्तनों को नुकसान हीं पहुंचायेंगी.
  • एक हीं ब्रा को 1 दिन से अधिक दिनों तक कभी न पहनें. इससे ब्रा की फिटिंग लम्बे समय तक बरकरार रहेगी और ब्रा लम्बे समय तक चलेगी.
  • आपको अपने अपने हमेशा 3-4 ब्रा रखनी चाहिए ताकि आप इन्हें बदल-बदलकर पहन सकें.
  • पूरी तरह से सूखी हुई ब्रा हीं पहनें, हल्की सी भी भींगी ब्रा न पहनें.
  • बिना अपने ब्रेस्ट का आकार जाने किसी भी आकार का ब्रा खरीदने की भूल कभी न करें.
  • लगभग एक हीं ब्रेस्ट आकार वाली महिलाओं के लिए एक तरह का ब्रा अच्छा हो ऐसा जरूरी नहीं है.
  • एक अच्छी तरह से फिट ब्रा स्तनों को बैंड के द्वारा 90 % तक और स्ट्रैप्स 10 % सहारा देते हैं.
  • अगर आपको आपकी वर्तमान ब्रा पहने में तकलीफ हो रही है. तो तुरंत अपना ब्रा बदलें.
  • ब्रा पहने बिना सोने से स्तनों के आकार में कोई नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता हैबल्कि ब्रा पहनकर सोने से कई प्रकार की तकलीफें होने का खतरा बन जाता है.
  • अच्छे लुक के चक्कर में कभी भी कम्फर्ट से समझौता न करें. यानि आप वही ब्रा खरीदें, जिसे पहनने के बाद आप आरामदायक महसूस करें, न कि ऐसी ब्रा खरीदें… जो केवल देखने में अच्छी लगे.
  • 1 साल में आपको कम-से-कम 2 बार अपनी ब्रा का साइज चेक करना चाहिए.
  • ब्रा को कभी भी मशीन या फिर ड्राई क्लीन से न धोएँ. ब्रा को हमेशा अपने हाथों से साफ करें. हाथ से धोने से ब्रा की साइज बड़ी नहीं होती है.
  • अगर कप के ऊपर की तरफ से आपके स्तन बाहर निकल रहें हों, तो ब्रा का ये साइज़ आपके लिए छोटा है.
  • एक सही ब्रा वही है जिसे पहनने के बाद निपल्स आगे की तरफ और आपके ऊपरी बाजू से आधी दूर पर टिके रहें.
  • अगर आपकी ब्रा बहुत ज़्यादा ढीली होगी तो ब्रा पीछे की तरफ ऊपर उठ जाएगी और सही सपोर्ट नहीं मिलेगा.
  • अगर ब्रा के कप का फैब्रिक सिकुड़ जाए, तो वो कप साइज़ आपके लिए बड़ा है.

 

  • जब भी ब्रा खरीदने जाएँ, तो सही शेप वाली शर्ट पहनें. हाई-कॉलर्ड या लूज़ शर्ट में ब्रा और क्लीवेज़ का सही लुक मालूम नहीं चल पाएगा. इसीलिए फिटेड शर्ट पहनें ताकि ब्रा से मिलने वाले अलग-अलग शेप आसानी से मालूम चल जाए.
  • स्ट्रैपलेस ब्रा की को कप साइज़ के हिसाब से चुनें ताकि ये आपके ब्रेस्ट में चुभे नहीं और न हीं ऊपर उठे. इस बात का ध्यान रखें कि इसका बैंड काफी मज़बूत हो ताकि ये आपके चेस्ट पर अच्छी तरह फिट हो जाए.
  • अंडरवायर और एक्सट्रा सपोर्ट – भारी और बड़े स्तनों वाली महिला को अंडरवायर ब्रा या ऐसे ब्रा जिसमें चौड़े बैंड्स और मोटे स्ट्रैप्स के रूप में एक्सट्रा सपोर्ट हो, की ज़रूरत पड़ती है. अंडरवायर ब्रा क्लीवेज़ को भी स्थिरता देती है.
  • ब्रा को जबरदस्ती फिट करने की कोशिश न करें, इस बात को स्वीकार करना सीखें कि एक महिला के स्तनों के आकार में समय के साथ परिवर्तन होता रहता है.

 

  • सालों से अगर आप पूरे दिन टाइट या अंडरवायर ब्रा पहन रही हैं तो ये आपके ब्रेस्ट टीश्यू को कमजोर कर देगा, जिससे ब्रेस्ट कैंसर होने की संभावना बढ़ जाएगी. अगर आप ऐसे ब्रा पहनती हों तो इन्हें नियमित अन्तराल में बदलते रहें और अगर सम्भव हो तो घर में रहने के दौरान ब्रा न पहनें और रात में सोते वक्त तो ब्रा बिल्कुल भी न पहनें.
  • ब्रा का बैंड आपके बैक में सही फिट होना चाहिए.
  • वैसा ब्रा हीं खरीदें, जिसके स्ट्रैप्स को आवश्यकता के अनुसार घटाया या बढ़ाया जा सके. ताकि वह ढीला होकर कंधे से नीचे न गिरे.
  • अगर आपका कंधा छोटा है तो आप टी-बैक या रेज़र बैक ब्रा खरीदने के जगह रेसरबैक ब्रा खरीद सकती हैं.

 

अगर आप कविता, शायरी, Article इत्यादि लिखने में सक्षम हैं, तो हमें अपनी रचनाएँ 25suvicharhindi@gmail.com पर भेजें. आपकी रचनाएँ मौलिक और अप्रकाशित होनी चाहिए. अपनी रचनाएँ हिन्दी में टाइप करके भेजिए.

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here