इन्हें भी जरुर पढ़ें ➜
Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Essay in Hindi – information हिंदी निबंध passage ppt video some kuchh speech article paragraph anuched upchar composition childhood contribution darshan full दिवस जयंती जयन्ती parichay परिचय write up

मेरे प्रिय शिक्षक – My Favourite Teacher Essay in Hindi Mere Priya Shikshak Nibandh

Mere priya shikshak nibandh – mera priya adhyapak short essay in hindi – mera priya shikshak nibandh in gujarati – my favourite teacher essay in hindi Wikipedia – mera priya shikshak in gujarati – essay on my favourite teacher in hindi in 1000 words – mera priya shikshak gujarati ma nibandh – essay on teacher in hindi for class 1 – adarsh shikshak essay in hindi
मेरे प्रिय शिक्षक - My Favourite Teacher Essay in Hindi Mere Priya Shikshak Nibandh

 

  • गुरु गोबिंद दोउ खड़े, काको लागू पाँय।
    बलिहारी गुरु आपनो, गोबिंद दियो बताय।।

 

  • कबीरदास का यह दोहा शिक्षक के महत्व को दर्शाता है। एक शिक्षक किसी शिक्षार्थी के लिए ईश्वर से भी उच्च महत्व रखता है, क्योंकि, ईश्वर तक पहुचंने का रास्ता गुरु ही दर्शाता है। ईश्वर ने मनुष्य को रचा है, किन्तु उसे मनुष्यता शिक्षक सिखाता है। ईश्वर द्वारा बनाए गए मनुष्य में त्रुटियां होती हैं, गुरु उन्हीं त्रुटियों को ढूंढ कर निकलता है। कबीरदास ने इसे इन शब्दों में दर्शाया है:-
  • “गुरु कुम्हार शिष्य कुम्भ है, गढ़ि – गढ़ि काढ़े खोट,

    अन्तर हाथ सहार दे, बाहर – बाहर चोट । ’’

  • मेरे प्रिय अध्यापक श्री राम कुमार हैं। वे हिंदी के अध्यापक हैं। यूँ तो मेरे सभी अध्यापक अपने विषय के ज्ञाता तथा विद्वान हैं, किन्तु मुझे श्री राम कुमार जी इसलिए विशेष पसन्द हैं कि वह हमें साहित्य के साथ, व्यवहारिक जीवन तथा नैतिकता का भी ज्ञान देते हैं। यही नहीं वह जो भी ज्ञान देते हैं, वो व्यवहारिक होता है, तथा वह स्वयं भी उसका अक्षरशः पालन करते हैं। वह स्वयं भी अनुशासित रहते हैं, तथा पूरी कक्षा को भी अनुशासित रहते हैं। कक्षा में सभी उनके डर से नहीं उनके सम्मान में सदैव शांत रहते और कभी भी शोर नहीं करते। वह सभी से प्रेमपूर्वक तथा ससम्मान बात करते हैं। यदि कभी किसी को डांट भी देते हैं, तो तुरंत उसके उपरांत उसे उसकी गलती समझाते हैं तथा शांत मन से उसे उसका दुष्परिणाम भी समझाते हैं। वह सदैव समय से कक्षा में आते हैं । वह सभी की जिज्ञासा का धैर्यपूर्वक उत्तर देते हैं तथा कभी भी किसी के सवाल पूछने पे क्रोधित नहीं होते। उनके पढाने का तरीका भी काफी सुरुचिपूर्ण है। वह बच्चों से संवाद स्थापित करते हुए पढ़ाते हैं।
    मेरे लिए वह मेरे जीवन के प्रेरणास्त्रोत हैं। उन्होंने मुझे अपने परिवार, देश तथा समाज के प्रति अपने कर्तव्यों का बोध कराया है। मेरे व्यक्तित्व का एक बड़ा हिस्सा उनके द्वारा निर्मित है। मैं उनका कृतज्ञ हूँ तथा उनके चरणों में कोटिश्च नमन करता हूँ।
    -अंशु प्रिया ( Anshu priya)
  • आपको यह निबन्ध ( My Favourite Teacher Essay in Hindi ) कैसा लगा, हमें जरुर बताएँ.
  • कठिन परिश्रम पर 25 विचार हिन्दी में

 

हिंदी दिवस पर भाषण – Hindi Diwas Speech in Hindi Bhashan Aur Jankari & Essay

hindi diwas speech in hindi – hindi diwas jankari in hindi – hindi diwas essay in hindi poem – hindi diwas poems – hindi diwas 2017 – speech on hindi language in hindi – hindi diwas slogans – hindi diwas essay in english – hindi diwas kyu manaya jata hai – hindi diwas speech in hindi bhashan aur jankari
हिंदी दिवस पर भाषण - Hindi Diwas Speech in Hindi Bhashan Aur Jankari & Essay

 

  • Hindi Diwas Speech in Hindi Bhashan Aur Jankari & Essay

 

  • हिंदी दिवस
  • हिंदी दिवस 14 सितम्बर को प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है. हिंदी भारत की राजभाषा है. 14 सितम्बर 1949 को ही संविधान सभा ने यह निर्णय लिया था की हिंदी भारत की राजभाषा होगी. यही कारण है की हिंदी दिवस मनाने के लिए इस दिन को उपयुक्त समझा गया और राजभाषा हिंदी के महत्व को जनमानस तक पहुचाने के लिए प्रत्येक वर्ष हिंदी दिवस मनाया जाता है. इस दिन देश भर में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. स्कूल, कॉलेज, दफ्तरों में हिंदी के प्रयोग, हिंदी में निबंध, वाद-विवाद, हिंदी लेखन के अनेक प्रतियोगिताएं आयोजित की जातीं हैं.

 

  • आजादी के समय भारत छोटे-छोटे रियासतों में बटा हुआ था. आजादी के बाद संविधान सभा का गठन भारत का संविधान बनाने के लिए किया गया. अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों के बीच राजभाषा का मुद्दा भी एक अहम मुद्दा था. चूँकि भारत एक विशाल देश हैं, यहाँ सैंकड़ों भाषाएँ बोली जाति है, विभिन्न क्षेत्रों के लोगों की संस्कृति और भाषाएँ अलग-अलग थी, ऐसे में किसी एक भाषा को भारत की राजभाषा के रूप में स्थापित करना संभव नहीं था, परन्तु 1918 में हिंदी साहित्य सभा में गाँधी जी ने कहा था की हिंदी भारतीय जनमानस की भाषा है, और हिंदी को आज़ाद भारत की राजभाषा बनाने को कहा था, इसलिए संविधान सभा ने बहुत विचार विमर्श के बाद हिंदी को भारत की राजभाषा के रूप में चुना. गैर हिंदी भाषी क्षेत्रों के प्रतिनिधियों के सुझाव पर हिंदी के अतिरिक्त अंग्रेजी को भी राजभाषा का दर्जा मिला है.
  • अंग्रेजी आजादी के समय सरकारी विभागों की मुख्य भाषा थी, और अंग्रेजी को भी राजभाषा का दर्जा मिलने के कारण हिंदी का प्रयोग हमेशा से सिमित ही रहा, इसी को ध्यान में रखते हुए राजभाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर हिंदी दिवस मनाने की शुरुवात हुई. आज हिंदी के कई प्रसंशक और प्रेमी हिंदी दिवस को निरर्थक और खोखला भी मानते हैं, उनका मत है की हिंदी इतनी कमजोर नहीं हैं की इसके लिए हिंदी दिवस की जरुरत हो. हिंदी दिवस की आलोचना करने वालों और इसका समर्थन करने वालों की कोई कमी नहीं है. जो लोग हिंदी दिवस दिवस का समर्थन करते हैं, उनके अनुसार हिंदी दिवस हिंदी भाषा के महत्व को रेखांकित करने और हिंदी भाषा की महानता का उत्सव मनाने का एक मौका है.

 

  • Hindi Bhasha Ka Mahatva: भारत जैसे विशाल और बहुसांस्कृतिक और बहुभाषी राष्ट्र में एक राष्ट्र भाषा होना तो तार्किक भी नहीं लगता, परन्तु इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता की देश की एक राजभाषा होने के अपने फायदे भी है, इससे लोगों के बिच एक जुडाव बढ़ता है. भाषा के एकीकरण से सांस्कृतिक भिन्नता को समझने और भिन्नताओं के बिच भी एकता का एक माहौल बनता है. राजभाषा हिंदी को बढ़ावा देने के लिए और कदम उठाने की जरुरत है, लेकिन इसे किसी पर थोपा नहीं जाना चाहिए. हिंदी के प्रचार प्रसार के लिए गैर हिंदी भाषी राज्यों में हिंदी को एक ऐच्छिक भाषा के रूप में स्कूल सिलेबस में जोड़ने की जरुरत है, तब ही हिंदी सही मायने में भारत की राजभाषा बन पायेगी. हिंदी दिवस राजभाषा हिंदी को बढ़ावा देना का एक अच्छा मौका तो है ही, इसकी महानता का उत्साह मनाने का एक अवसार भी है. तो आप भी इस हिंदी दिवस गर्व से हिंदी का जश्न मनाएं, विभिन्न कार्यक्रमों का लुफ्त उठायें. hindi pakhwada भी हमारे यहाँ मनाया जाता है.
  • हिंदी हैं हम, वतन है हिन्दुस्तान हमारा.
  • हिंदी दिवस पर 5 कविता

 

मेरे सपनों का भारत – Mere Sapno Ka Bharat Essay in Hindi india of my dream essay

mere sapno ka bharat essay in hindi – india of my dream essay in hindi – मेरे सपनों का भारत निबन्ध – mere sapno ka bharat essay in hindi 1000 words – mere sapno ka bharat essay in hindi 50 words – mere sapno ka bharat essay in hindi in easy language – mere sapno ka bharat kaisa hoga – mere sapno ka bharat slogan in hindi – mere sapno ka bharat essay in hindi 200 words – mere sapno ka bharat book – mere sapno ka bharat kaisa hona chahiye – mere sapno ka bharat essay in hindi – india of my dream essay in hindi – मेरे सपनों का भारत निबन्ध – mere sapno ka bharat essay in hindi – india of my dream essay in hindi – मेरे सपनों का भारत निबन्ध
मेरे सपनों का भारत - Mere Sapno Ka Bharat Essay in Hindi india of my dream essay

 

  • मेरे सपनों का भारत – Mere Sapno Ka Bharat Essay in Hindi india of my dream essay

 

  • मेरे सपनों का भारत ऐसा होगा जहाँ सबको समानता की नजर से देखा जायेगा।जात-धर्म का भेदभाव दूर होगा, जहाँ सिर्फ लोग एकजुट रहेंगे।किसी भी व्यक्ति को उसके जात-धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं किया जायेगा।हर जगह सब प्रेम पूर्ण तरीके से रहेंगे। तकनीकी क्षेत्रों में तरक्क़ी हो।भारत विकासशील देश से विकसित देश बन जाये ऐसा सपनों का भारत है मेरा। निम्नलिखित बातें है मेरे सपनों का भारत में जो बहुत महत्वपूर्ण है-
  • शिक्षा और रोजगार- यहाँ के लोगों को मुफ्त शिक्षा प्रदान किया जाये, लोगों को शिक्षा के लिये प्रोत्साहित किया जाये।जितने शिक्षित व्यक्ति होंगे उतना ही भारत प्रगति करेगा।रोजगार के समान अवसर सबको प्रदान करना चाहिए तो युवा निराश नहीं होंगे।
  • स्वच्छ भारत-हर जगह बस गंदगी का अंबार है,जिस से बस बीमारी का आगाज है।इसलिए भारत में बीमारी से बहुत कोई ग्रसित है।हमारा भारत स्वच्छ होगा तो भारतवासी भी स्वस्थ रहेंगे।मेरे सपनों का भारत स्वच्छ भारत भी है।
  • लिंग भेद-लड़का-लड़की में जो लिंग भेद किया जाता है, लड़कियों को शिक्षित नहीं किया जाता है।ये सब बन्द हो।मेरे सपनों के भारत में लड़का-लड़की को समान अवसर मिले।पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को ज्यादा सम्मान मिले मेरे सपनों का भारत ऐसा है।
  • तकनीकी तरक्की-भारत अब हर ओर विकास कर रहा है।औद्योगिक तरक्क़ी कर रहा है,हर क्षेत्र में विकास हो ऐसा मेरा भारत हो।विकासशील देश से विकसित देश बनने की ओर भारत के ये बढ़ते कदम बढ़ते रहे ऐसा है मेरा सपनों का भारत।
  • भ्रष्टाचार-भारत की तरक्की में मुख्य अवरोधक भ्रष्टाचार है।नेता अपने स्वार्थ देखते है। आम जनता का विकास नहीं। मेरे सपनों का भारत ऐसा है जिसमें ना हो कोई काला धन ना ही हो कोई भ्रष्टाचार की बात।
  • जातिवाद-मेरे सपनों का भारत ऐसा है जिसमें ना हो कोई जात-पात की बात,ना ही हो कोई जात-धर्म से लड़ाई की बात।मेरे सपनों का भारत ऐसा हो जिसमें हो सबमें बस भाईचारे की बात सब ओर हो बस प्रेम की ही बात।
  • कृषि-मेरे सपनों का भारत ऐसा हो जिसमें हो कृषि बहुत अच्छे तरीके से।अत्याधुनिक तरीके से कृषि किया जाये ऐसा हो मेरे सपनों का भारत।

 

  • गरीबी-अभी भी हमारे भारत में गरीबी बहुत है।मेरे सपनों का भारत ऐसा हो जिसमें गरीबी कम हो जाये,सबको खाना-कपड़ा मिल जाये।सब अपना जीवन अच्छे से यापन कर सके ऐसा है मेरे सपनों का भारत।
  • निष्कर्ष:- मेरे सपनों का भारत ऐसा हो जिसमें हो सब एक समान।ना हो जात-पात की बात,ना ही हो लिंग भेद की चर्चा।सब ओर हो बस अच्छी और सच्ची सुविचार की बात।महिलाएं आगे बढ़े ऐसा हो हमारा भारत।गरीब भूखे ना मरे ऐसा हो मेरे सपनों का भारत।भ्रष्टाचार पर अंकुश लग जाये ऐसा हो मेरे सपनों का भारत।
  • – अनामिका मिश्रा
  • भ्रष्टाचार पर हिन्दी में निबंध – Bhrashtachar Essay in Hindi Nibandh On Corruption

 

मेरी प्यारी माँ निबन्ध – Meri Maa Essay in Hindi My Mother Nibandh speech pyari maa

meri maa essay in hindi – meri maa essay in hindi for class 6 – meri maa essay in hindi for class 4 – meri maa par topic hindi – essay on mother in hindi for class 7 – essay on my mother in hindi for class 10 – maa ka mahatva in hindi – 10 lines on my mother in hindi for class 2 – mother day essay in hindi – essay on my mother in hindi for class 10 – essay on mother in hindi for class 7 – 10 lines on my mother in hindi for class 2 – meri maa essay in hindi for class 6 – meri maa essay in hindi for class 4 – mother day essay in hindi – meri maa par topic hindi – maa ka mahatva in hindi – mother day speech hindi – heart touching speech on mother in hindi – best speech on mother in hindi – essay on mother in hindi for class 7 – emotional speech on mother in hindi – emotional speech on maa in hindi – mother day speech in school in hindi – meri maa essay in hindi for class 6मेरी प्यारी माँ निबन्ध - Meri Maa Essay in Hindi My Mother Nibandh speech pyari maa

 

  • मेरी प्यारी माँ निबन्ध – Meri Maa Essay in Hindi My Mother Nibandh speech pyari maa

 

  • माँ, कहने को तो बड़ा छोटा शब्द है, पर यह कहना गलत नही होगा कि इस छोटे शब्द में शायद पूरी सृष्टि का उद्भव सूत्र समाहित है। माँ, किसी व्यक्ति विशेष का नहीं, एक भावना का द्योतक है, ममत्व से परिपूर्ण भावना। एक ऐसी भावना जिसमें सिर्फ प्रेम है, निःस्वार्थ, निश्छल प्रेम। सिर्फ देने का भाव है, लेना कुछ भी नही। माँ ऐसी ही तो होती है। कहते हैं ईश्वर हर वक़्त हमारा ध्यान नही रख सकता, इसलिए उसने माँ बनाई। माँ, माता, मम्मी, अम्मा, अम्मी, माई, आई, न जाने कितने संबोधन हैं सिर्फ इस एक भावना को परिभाषित करने को।
  • जन्म लेते के साथ जो पहला स्पर्श प्राप्त होता है, वो माँ है। माँ उस एक स्पर्श में अपनी सारी पीड़ा, सारा प्रेम, सबकुछ उड़ेल देती है। और तब से त्याग के सिलसिले की शुरुआत होती है जो उसकी ज़िन्दगी की अंतिम साँस तक चलती रहती है। वह हमें अपने अंदर 9 महीने अपना खून पिला कर पालती है, अपने अंदर हमारा भार ले कर घूमती है, और फिर जन्म देने के बाद अपने अस्तित्व को सार्थक मानती है, जैसे जन्म ले कर हमने कोई उपकार कर दिया हो उसपर। जन्म देने के बाद भी वह हमें दूध के रूप में अपना खून ही पिलाती है, बड़े होने पर प्यार से भरा भोजन खिलाती है।
  • यूँ तो स्त्री का स्वभाव कोमल होता है, किन्तु अपने बच्चे की रक्षा कर रही माँ को कभी देखा हो तो पता चले, की माँ से मजबूत कुछ नही होता। वो जितनी कोमलता से पालन करती है, उतनी ही कठोरता से रक्षा भी। चाहे वह मनुष्य हो या पशु, शेरनी हो या हिरणी, रक्षा कर रही माँ से ज़्यादा साहसी कोई नही होता।
    माँ सदैव पूज्य होती है। संस्कृत में एक सूक्ति है-
    कुपुत्रो जायेत क्वचिदपि कुमाता न भवति।

 

  • Meri Pyari Maa Essay in Hindi
  • अर्थात पुत्र कुपुत्र हो सकता है किंतु माता कभी कुमाता नही होती। माँ का प्रेम इस संसार की सबसे अमूल्य वस्तु है। किंतु मनुष्य अक्सर ही यह समझ पाने में असमर्थ होता है। जिस माँ की ममता का मोल चुकाना चाहे तो वह सम्पूर्ण जीवन मे भी नही चुका सकता, उस माँ की जरूरत के समय में वह मुह मोड़ लेता है। आवश्यक है इस हानि- लाभ से भरे युग में माँ के सच्चे निस्वार्थ प्रेम का मोल समझें। जिस माँ ने हमारे रोने पे अपनी रातें हमारे सिरहाने जाग कर गुज़ार दी , उसे कभी न रोने दें। तभी हमारा जीवन सफल हो सकता है।
    – अंशु प्रिया ( Anshu Priya )
  • आपको यह निबन्ध ( मेरी प्यारी माँ निबन्ध – Meri Maa Essay in Hindi My Mother Nibandh speech pyari maa ) कैसा लगा, हमें अपनी राय जरुर बताएँ.
  • 10 Poem on Mother in hindi माँ पर हिन्दी कविता 

 

Jeevan Me Khelo Ka Mahatva in Hindi Essay Quotes Importance of Sports in Life

jeevan me khelo ka mahatva in hindi essay quotes – Importance of Sports essay in hindi – Jeevan Me Khelo Ka Mahatva in Hindi Essay Quotes Importance of Sports in Life – vidyarthi jeevan mein khelo ka mahatva –  Jeevan Me Khelo Ka Mahatva in Hindi Essay Quotes Importance of Sports in Life – shiksha mein khel ka mahatva in hindi – khelo ka mahatva par nibandh – jeevan mein khelo ka mahatva nibandh hindi mein – Jeevan Me Khelo Ka Mahatva in Hindi Essay Quotes Importance of Sports in Life – khelo ka mahatva quotes in hindi – slogan on khelo ka mahatva in hindi – khel ka mahatva in sanskrit – khel aur swasthya par nibandh in hindi – Jeevan Me Khelo Ka Mahatva in Hindi Essay Quotes Importance of Sports in Life
Jeevan Me Khelo Ka Mahatva in Hindi Essay Quotes Importance of Sports in Life

 

 

  • Jeevan Me Khelo Ka Mahatva ( Importance of Sports in Life ):

    खेल हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं. खेलों के जरिए हमारा मनोरंजन तो होता ही है साथ ही
    हमारा शरीर भी स्वस्थ रहता है. खेलों से जुड़े रहने वाले लोग मानसिक और शारीरिक रूप से दूसरे लोगों से
    ज्यादा सक्रिय रहते हैं. खेलों के जरिए लोग एक दूसरे से जुड़ते हैं जो सामाजिक ताने-बाने को स्वस्थ रखने के
    लिए महत्वपूर्ण है. खेल से जुड़े रहने वाले व्यक्ति को कई प्रकार की बीमारियां कभी नहीं सताती है. खेल से जुड़े
    रहने से व्यक्ति का बौद्धिक विकास भी होता है. खेल से जुड़े रहने वाला व्यक्ति खेल भावना, टीम भावना, प्रतिस्पर्धा और
    चुनौतियों से भलीभांति वाकिफ हो जाता है. इस तरह से खेल हमारे व्यक्तित्व को निखारने में भी बहुत
    महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. इसलिए हम सभी को खेलों से किसी ना किसी प्रकार से जुड़े रहना चाहिए।

  • Khelo Ke Jariye Carrier ( Carrier and sports ):

    पढ़ोगे लिखोगे बनोगे नवाब खेलोगे कूदोगे बनोगे खराब यह कहावत अब पुरानी हो चुकी है. अब किसी भी खेल को आप अपना करियर बना सकते हैं अगर आप समर्पण के साथ इस खेल के क्षेत्र में आगे बढ़ने की कोशिश करते हैं तो आपका भविष्य सुनहरा हो सकता है. हां आपको इस बात का ध्यान जरूर रखना होगा कि खेलों के साथ आप पढ़ाई पर भी उचित ध्यान दें. अगर आप किसी खेल को अपना करियर बनाना चाहते हैं तो, बचपन से ही आपको उस खेल के क्षेत्र में आगे बढ़ना होगा.

  • Other Benefits of Games and sports ( Khelo Ke Anya Fayde ):

    खेलों में सक्रिय रहने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि शारीरिक सक्रियता के अभाव के कारण आजकल के लोग विभिन्न बीमारियों के शिकार होते हैं आप खेलों में सक्रियता के कारण उन बीमारियों से आसानी से बच जायेंगे. खेलों में सक्रिय रहने वाले लोगों की लंबाई बिना किसी बाधा के बढ़ती है. खेलों में सक्रिय रहने वाले लोगों का पाचन सही तरीके से होता है, उनका रक्त संचार सुचारु रुप से चलता है. जो लोग खेल से जुड़े रहते हैं उनकी मानसिक सक्रियता भी दूसरे व्यक्ति से ज्यादा होती है. खेल के जरिये आप करियर बना सकते हैं. खेल से जुड़े रहने वाले लोगों को नींद अच्छी आती है क्योंकि वे शारीरिक श्रम करते हैं.

  • Side Effects of Games and Sports ( Khelo Ke Nuksan ):

    दूसरी चीजों की तरह खेल के भी नुकसान हैं. अगर आप खेल के चक्कर में पढ़ाई या खानपान में बहुत ज्यादा लापरवाही करते हैं, तो खेल आपको नुकसान हीं पहुंचाएंगे. इसलिए खेलों से आप जुड़े रहें लेकिन बाकि चीजों पर भी ध्यान दें.

  • Khelon Ke Prakar ( Types of Games and Sports ):

    खेलों को मुख्यतः दो वर्गों में बांटा जा सकता है. 1. घर के बाहर खेले जाने वाले खेल. 2. घर के अंदर खेले जाने वाले खेल. घर के बाहर खेले जाने वाले खेल हमारी मानसिक और शारीरिक दोनों तरह की सक्रियता को बढ़ाते हैं. उदाहरण: क्रिकेट, फुटबॉल, हाकी, इत्यादि. बाहर खेले जाने वाले ज्यादातर खेलों के लिए खुली जगह या मैदान की आवश्यकता होती है. जबकि घर के अंदर खेले जाने वाले खेल सिर्फ हमारी मानसिक क्षमता को हीं बढ़ाते हैं. उदाहरण: शतरंज, लूडो, कैरम इत्यादि. घर के अंदर खेले जाने वाले खेल के लिए ज्यादा जगह की जरूरत नहीं होती है.

 

  • Successful Sport Persons ( Safal Khiladi ):

    सफल खिलाड़ी हमें आगे बढ़ने की प्रेरणा देते हैं. सफल खिलाड़ियों के कुछ उदाहरण: पीटी उषा, महेंद्र सिंह धौनी, सचिन तेंडुलकर, सौरभ गांगुली, साइना नेहवाल, विश्वनाथन आनंद. इसमें से कई खिलाड़ियों ने छोटे शहरों से निकलकर एक बड़ा मुकाम हांसिल किया है. जो यह बात बताता है, कि खेलों के जरिये भी बड़ी उपलब्धि हांसिल की जा सकती है. चाहे आप कितने में अभावों में क्यों न पले हों.

  • Conclusion – Summary – Saransh :

    सारांश यह है कि खेल सभी के लिए जरूरी हैं, चाहे बड़े हों या बच्चे. खेलों को भी करियर बनाया जा सकता है. खेलों से हमें ढेर सारे फायदे होते हैं. इसलिए खेलों को बुरा या समय बर्बाद करने वाला नहीं समझना चाहिए. लेकिन यह भी ध्यान रखना चाहिए कि बाकि सबकुछ छोड़कर केवल दिन-रात खेलें यह भी नहीं करना चाहिए.

 


  • 12 Khelo Ka Mahatva Quotes in Hindi :

    • खेल भावना, खेलों से सीखिए.. इससे आपकी जिंदगी से तनाव कम होगा.
    • कई बार बड़ी समस्याओं से निपटने के रास्ते खेल के जरिये सूझ जाते हैं.
    • खेल हमें टीम की तरह रहना सिखाते हैं.
    • खेल हमें जुझारू बनाते हैं.
    • जो लोग खेल से जुड़े रहते हैं, वो बेहतर बनते जाते हैं.
    • खेलों की सबसे खास बात यह है, कि यह सभी को तनावमुक्त बनाते हैं.
    • एक खिलाड़ी पूरे देश का प्रतिनिधित्व करता है.
    • खेल आज के दौर में एक चमकते करियर की सम्भावना उपलब्ध करवाते हैं.
    • टीम की जीत के लिए प्रत्येक खिलाड़ी को योगदान करना होता है.
    • एक खिलाड़ी हमेशा अपने बल पर मैच में जीत नहीं दिला सकता है.
    • कोई भी खिलाड़ी खेल या देश से बड़ा नहीं होता है.
    • खेल हमें अंत तक लड़ना सिखाते हैं.

  • आपको यह निबन्ध ( Jeevan Me Khelo Ka Mahatva in Hindi Essay ) कैसा लगा. हमें जरुर बताएँ.

 

समय के नियोजन पर निबन्ध Samay Niyojan Essay in Hindi Mahatva Pabandi nibandh

samay niyojan essay in hindi – समय नियोजन निबन्ध हिंदी में – samay niyojan meaning in hindi – essay on samay ka mahatva – samay ki kadar in punjabi essay – samay par nibandh – samay niyojan ka mahatva spasht kare – samay ka mahatva story in hindi – samay ka sadupyog in hindi for class 6 – samay ki pabandi essay in hindi – samay niyojan essay in hindi – समय नियोजन निबन्ध हिंदी में – samay niyojan essay in hindi – समय नियोजन निबन्ध हिंदी में – samay niyojan essay in hindi – समय नियोजन निबन्ध हिंदी में – samay niyojan essay in hindi – समय नियोजन निबन्ध हिंदी मेंSamay Niyojan Essay in Hindi समय के नियोजन पर निबन्ध  Mahatva Pabandi nibandh

Samay Niyojan Essay in Hindi

 

  • Samay Niyojan Essay in Hindi : यह निबन्ध छात्रों को ध्यान में रखकर लिखा गया है. आशा है आप इस Essay को पसंद करेंगे.

 

  • नियोजन का अर्थ होता है, योजना बनाना. समय का नियोजन करने का अर्थ होता है इस बात की योजना बनाना कि आप अपने समय को कैसे किन किन कामों में लगाने वाले हैं. हम में से ज्यादातर लोग यही गलती करते हैं कि हम अपने समय को कैसे किन कामों में लगाएंगे इस बात की योजना कभी नहीं बनाते हैं. अपने समय को प्लानिंग के साथ खर्च करने वाले लोग कैसे बड़े-बड़े काम कर जाते हैं इस बात का उदाहरण महान वैज्ञानिक एडिशन खुद हैं. जो अपने 1-1 मिनट का बेहतरीन उपयोग करते थे और इसी खूबी के कारण उन्होंने अपने जीवन में 16 सौ से अधिक आविष्कार किये जबकि कोई और वैज्ञानिक अपने पूरे जीवन में इतने छोटे बड़े अविष्कार नहीं कर पाया. व्यक्तिगत जीवन में ज्यादातर व्यक्ति भले समय के नियोजन के बारे में जागरुक ना हो, लेकिन सार्वजनिक कार्यों में वही लोग समय के नियोजन के प्रति जागरूक रहते हैं क्योंकि जैसे स्कूल का खुलना, ट्रेन का आना, ऑफिस बंद होना, अखबार का छपना ये सभी काम पूर्वनियोजित समय से ही होते हैं इस बात से हमें यह पता चलता है कि समय के बारे में पूर्वनियोजित होना कितना जरूरी है. जो लोग समय का नियोजन करके जीवन में नहीं चलते हैं वे लोग अक्सर दूसरों से बहुत ज्यादा पिछड़ जाते हैं क्योंकि समय का पूर्व नियोजन करके चलने वाला व्यक्ति दूसरों से ज्यादा काम कर लेता है. समय एक शक्तिशाली पूंजी है और इस पूंजी का सही तरीके से उपयोग तभी किया जा सकता है जब हम नियोजित तरीके से समय को बताने की आदत डाल लें. समय को योजनाबद्ध तरीके से खर्च करने की आदत हमें बचपन से ही डाल लेनी चाहिए ऐसा करने वाले लोग आगे जाकर किसी भी मुकाम तक पहुंच सकते हैं, किसी भी मंजिल को पा सकते हैं. पीवी सिंधु और साइना नेहवाल यह दोनों बचपन से ही 4:00 बजे उठकर बैडमिंटन की प्रैक्टिस करती थी और इसी कारण से आज ये दोनों सफल बैडमिंटन खिलाड़ी है.
    प्रकृति भी यही चाहती है कि आप अपने समय को योजनाबद्ध तरीके से खर्च करें जो काम जिस समय करना है उसी समय वह काम करें. इसे हम छोटे से एक उदाहरण से समझ सकते हैं अगर हम समय पर खाना नहीं खाते हैं तो हमारी तबीयत खराब हो सकती है. अगर हम सुबह नहाने के बदले शाम में या रात में नहाते हैं तो हम पूरे दिन ताजगी महसूस नहीं कर पाएंगे. इस तरह से हर काम को उसके निर्धारित समय में करना जरूरी और फायदेमंद है. कुछ लोग तो इस बात की प्लानिंग भी नहीं करते हैं कि उन्हें आज का समय कैसे खर्च करना है जबकि कुछ लोग आने वाले हफ्ते महीनों और सालों को कैसे बिताना है इस बात की योजना भी पहले से ही बनाकर रखते हैं. बहुत सारे लोग प्रतिभाशाली होने के बावजूद केवल इसलिए असफल हो जाते हैं क्योंकि उन्होंने समय का योजनाबद्ध तरीके से उपयोग करना नहीं सीखा. अगर आपके पास समय है तभी आप कुछ कर सकते हैं अगर आपके पास समय नहीं है तो आप कुछ भी नहीं कर सकते हैं और लापरवाही से समय को बर्बाद करने वाले लोग बर्बाद हो जाते हैं. नियोजित तरीके से समय का उपयोग करना एक कष्ट पूर्ण कार्य है लेकिन अगर इसे किया जाए तो यह हर किसी के लिए फायदेमंद है.

 

  • कुछ लोग आज का काम कल पर टालते रहते हैं और ऐसे लोग जीवन में कभी भी आगे नहीं बढ़ पाते हैं. जो लोग समय तय करके काम करते हैं वह आस-पास के लोगों में बहुत लोकप्रिय होते हैं और लोग इनसे जुड़े रहना पसंद करते हैं. ना चाहते हुए भी आपको समय को योजनाबद्ध तरीके से खर्च करने की आदत डालनी चाहिए क्योंकि ऐसा नहीं करने से आप ही छवि आसपास के लोगों के बीच खराब होती है. अगर सभी लोग समय का नियोजन करके जीना सीखें तो जिंदगी सभी के लिए सुनहरी हो जाएगी लेकिन अगर सभी लोग समय का पालन करना छोड़ दें तो कहीं आने-जाने खाने-पीने या कोई भी और काम करने में सभी को बहुत ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ेगा. सफल और असफल लोगों के बीच एक ही अंतर होता है और वह होता है समय का नियोजन करना या समय को अव्यवस्थित तरीके से बर्बाद करना.

 

  • समय को नियोजित करके चलने का फायदा यह होता है कि आप व्यस्तताओं के बीच भी दूसरे कामों के लिए समय निकाल लेते हैं 10 काम करने के बावजूद दो और काम करने के लिए आपके पास समय होता है. और समय को नियोजित करके नहीं चलने से नुकसान होता है कि आप 10 काम कर सकते हैं, उनमें से भी दो काम आप से छूट जाते हैं और इसका कारण केवल इतना होता है कि आप समय को व्यवस्थित तरीके से उपयोग में नहीं लाते हैं. अगर आप अपने बड़े सपनों को हकीकत में बदलना चाहते हैं तो आपको आज से ही समय को सुनियोजित तरीके से खर्च करने की आदत डाल लेनी चाहिए, अगर आप ऐसा करते हैं तो आप असंभव लक्ष्य को भी आसानी से पा सकते हैं. समय का नियोजन करने से हमारा व्यक्तित्व भी निखर कर बाहर आता है और हमारे पास ढेर सारा समय बच जाता है.
  • हमें विश्वास है आपको यह निबन्ध ( Samay Niyojan Essay in Hindi ) पसंद आएगा और आपके homework & project में आपकी मदद करेगा. अपनी राय हमें जरुर बताएं Samay Niyojan Essay in Hindi कैसा लगा.
  • Mera Ghar Essay in Hindi – मेरा घर निबंध my home essay in hindi paragraph

 

हिमालय पर्वत पर निबन्ध Essay on Himalaya in Hindi parvat history information

essay on himalaya in hindi – himalaya parvat history in hindi – himalaya information in hindi – हिमालय पर्वत पर निबन्ध अनुच्छेद – essay on himalaya in hindi – himalaya parvat history in hindi – himalaya information in hindi – हिमालय पर्वत पर निबन्ध अनुच्छेद – essay on himalaya in hindi – himalaya parvat history in hindi – himalaya information in hindi – हिमालय पर्वत पर निबन्ध अनुच्छेद – essay on himalaya in hindi – himalaya parvat history in hindi – himalaya information in hindi – हिमालय पर्वत पर निबन्ध अनुच्छेद – essay on himalaya in hindi – himalaya parvat history in hindi – himalaya information in hindi – हिमालय पर्वत पर निबन्ध अनुच्छेदहिमालय पर्वत पर निबन्ध Essay on Himalaya in Hindi parvat history information

हिमालय पर्वत पर निबन्ध Essay on Himalaya in Hindi parvat history information

 

  • Essay on Himalaya in Hindi parvat history information

 

  • हिमालय का अर्थ होता है बर्फ का घर. हिमालय एक पर्वत श्रृंखला है. यह महान हिमालय, मध्य हिमालय और शिवालिक से मिलकर बना है. हिमालय भारतीय उपमहाद्वीप और तिब्बत को अलग करता है. Mount Everest दुनिया का सबसे ऊंचा पर्वत शिखर है. हिमालय का विस्तार 5 देश की सीमाओं तक है, भारत, पाकिस्तान, नेपाल, भूटान और चीन.  धौलागिरी,  कंचनजंगा और अन्नपूर्णा हिमालय की कुछ प्रमुख शिखरें हैं. गंगा, सिंधु, ब्रह्मपुत्र आदि हिमालय की कुछ प्रमुख नदियां हैं. हरिद्वार, बद्रीनाथ, केदारनाथ, देवप्रयाग, कैलाश मानसरोवर और अमरनाथ गुफा हिमालय के कुछ प्रमुख धार्मिक स्थल हैं.
    हिमालय के आसपास के स्थानों में अनेक पर्यटन स्थल हैं.  पर्वतारोहियों के लिए हिमालय पसंदीदा स्थान है.  हिमालय का प्रथम उत्थान 650 लाख वर्ष पूर्व हुआ था. हिमालय ध्रुवीय क्षेत्रों के बाद पृथ्वी का सबसे बड़ा बर्फ से ढका हुआ क्षेत्र है.  हिमालय की पर्वत श्रृंखलाएं साइबेरियाई शीतल हवाओं को रोककर भारतीय उपमहाद्वीप को ठंड के दिनों में अधिक ठंड पड़ने से बचाती है.
  • हिमालय की पर्वत श्रेणियां मानसूनी हवाओं के मार्ग में रूकावट पैदा करके इस क्षेत्र में पर्वतीय वर्षा कराती हैं.

  • हिमालय कई नदियों का जल स्रोत है. हिमालय के कारण ही भारतीय उपमहाद्वीप उन क्षेत्रों में भी उष्ण और उपोष्ण कटिबंधीय जलवायु पाई जाती है जो कर्क रेखा के उत्तर में स्थित हैं. हिमालय के कारण ही गंगा, यमुना जैसी नदियों में वर्षा के बाद भी बड़ी मात्रा में जल मौजूद रहता है. प्राचीन काल से ही ऋषि मुनि हिमालय में तपस्या करते आए हैं. हिमालय में कई प्रकार की अमूल्य वनस्पतियां पाई जाती है. देवदार और चीड़ आदि के पेड़ हिमालय की विशेषता हैं. हिमालय की तराई में कई गांव और शहर बसे हुए हैं. हिमालय भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल और चीन के लिए कई प्रकार से उपयोगी है. हिमालय चारागाह के रुप में भी बहुत उपयोगी है क्योंकि इस की घाटियों में नरम घास वाले कई क्षेत्र मौजूद हैं. हिमालय चूना पत्थर, डोलोमाइट स्लेट और चट्टानी नमक का स्रोत है.  हिमालय जंगली जानवरों के लिए भी एक सुरक्षित स्थान है.  इस तरह से हिमालय प्राकृतिक संतुलन बनाए रखने में भी बहुत मददगार है. हिमालय में कई प्रकार के पक्षी पाए जाते हैं.  हिमालय देखने में अद्भुत नजर आता है. हिमालय में कई प्रकार की प्राकृतिक जड़ी बूटियां भी पाई जाती हैं. ऋषि मुनि इन जड़ी बूटियों का उपयोग करना भली-भांति जानते थे. हिमालय के आसपास के क्षेत्रों के घरों के छत ढलवा होते हैं.  हिमालय के आसपास के क्षेत्रों में पर्यटन आय का एक बड़ा माध्यम है.  लेकिन पेड़ों के कटने के कारण हिमालय के बर्फ पिघल रहे हैं और यह सभी के लिए चिंता का कारण है. प्रकृति का संतुलन बना रहे इस बात के लिए पूरे मानव समाज को गंभीरता से सोचने की जरूरत है. ताकि हिमालय जैसी धरोहर हमारे लिए वरदान ही बनी रहे.

 

गर्लफ्रेंड पर मजेदार निबन्ध || Essay On Girlfriend in Hindi gf par nibandh lekh

essay on girlfriend in hindi – गर्लफ्रेंड पर निबन्ध हिंदी में – essay on girlfriend in hindi – गर्लफ्रेंड पर निबन्ध हिंदी में – essay on girlfriend in hindi – गर्लफ्रेंड पर निबन्ध हिंदी में – essay on girlfriend in hindi – गर्लफ्रेंड पर निबन्ध हिंदी में – गर्लफ्रेंड पर मजेदार निबन्ध || Essay On Girlfriend in Hindi gf par nibandh lekh
गर्लफ्रेंड पर मजेदार निबन्ध || Essay On Girlfriend in Hindi gf par nibandh lekh

 

  • गर्लफ्रेंड पर मजेदार निबन्ध || Essay On Girlfriend in Hindi gf par nibandh lekh

 

  • Girlfriend नारी रूपी जीव की Latest Version है. इन्हें Recharge करने के लिए, समय-समय पर Gift देने होते हैं.
    इनके Pizza, Burger, Cold Drink, गुपचुप आदि का Bill Boyfriend को देना होता है. अक्सर ये अपनी गलती
    नहीं मानती है. खुद गलती करके भी रूठ जाना Girlfriend की विशेषता होती है. आजकल Girlfriends, facebook
    और whats app पर chatting करते हुए अपना ज्यादातर समय बिताती हैं. आजकल हर दिन ढेर सारे selfie लेकर,
    selfie को FB, whatsapp पर Upload करना इनकी नई Hobby बन गई है. गर्लफ्रेंड बजट बिगाड़ने के लिए जानी जाती है. Boyfriend, Girlfriend का रिश्ता Limited Time Contract जैसा होता है, जो कुछ महीनों या कुछ साल में
    खत्म हो जाता है. बढ़ती महंगाई में Girlfriend का साथ भी महंगा हो गया है. इस प्राणी का सबसे खतरनाक
    हथियार रोना और इमोशनली ब्लैक मेल करना होता है. लड़के अक्सर girlfriend बनाने की कोशिश में लगे
    रहते हैं. Girlfriend के साथ समय बिताना और घूमना अच्छा लगता है. Girlfriend को यह बात बर्दाश्त नहीं
    होती है, कि Boyfriend किसी और लड़की की भूलकर भी तारीफ करे. जिद करने के मामले में girlfriend छोटे
    बच्चों से भी ज्यादा जिद्दी होती है, वह जिद करके boyfriend से अपनी बात मनवा हीं लेती है. Girlfriend के
    साथ होने से पढ़ने वाले विद्यार्थी और अपना कैरियर बनाने वाले लड़के अक्सर अपने लक्ष्य से भटक जाते हैं.
    Girlfriend के calls या msgs का जवाब तुरंत नहीं देने का मतलब होता है, सवालों के बौछारों का सामना
    करने के लिए तैयार रहना. अक्सर यह देखा गया है कि कोई खूबसूरत लड़की तभी आपकी Girlfriend बन
    सकती है, जब आपकी जेब में पैसे हों. Girlfriend होने पर Breakup होने का डर भी अक्सर बना रहता है.
    सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इस प्राणी में बहुत सारे अवगुण होते हैं, फिर भी लोग Girlfriend बनाने के
    मोह से खुद को दूर नहीं रख पाते हैं. हाँ rarely कुछ girlfriend और boyfriend अपने रिश्ते को शादी के
    मुकाम तक पहुँचाते हैं. हर Girlfriend अच्छी या बुरी नहीं होती है, यह आपकी किस्मत पर निर्भर करता है
    कि आपको भविष्य बनाने वाली Girlfriend मिलती है या भविष्य बर्बाद करने वाली.
    by – Abhishek Mishra “ Abhi “
  • गर्लफ्रेंड के लिए लव लाइन्स – Love Lines For Girlfriend in Hindi

 

error: Content is protected !!