इन्हें भी जरुर पढ़ें ➜
Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Love Poems book excellent amazing wonderful tiptop expansive smashing super छोटी हास्य famous poets writers वीमेन comment कमेन्ट कमेंट death encyclopedia full gyan notes ideas magazine movie shastra

दर्द ए दिल पोएट्री इन हिंदी || Dard E Dil Poetry in Hindi दर्द ए दिल पर छोटी कविता

dard e dil poetry in hindi – दर्द ए दिल पोएट्री इन हिंदी – dard e dil poetry in hindi – दर्द ए दिल पोएट्री इन हिंदी – dard e dil poetry in hindi – दर्द ए दिल पोएट्री इन हिंदी – dard e dil poetry in hindi – दर्द ए दिल पोएट्री इन हिंदी
दर्द ए दिल पोएट्री इन हिंदी || Dard E Dil Poetry in Hindi दर्द ए दिल पर छोटी कविता

 

  • दर्द ए दिल पोएट्री

 

  • दिल न चाहे, तब भी इसे किसी न किसी से प्यार हो हीं जाता है
    इश्क की तड़प के आगे हर शख्स लाचार हो हीं जाता है
    फिर होती है दो प्रेमियों के बीच प्यार भरी बातें
    कभी ख़ुशी-ख़ुशी, तो कभी तड़प कर गुजरती है कई रातें
    फिर वादों और कसमों का सुनहरा दौर चलता है
    प्रेमी और प्रेमिका की आँखों में हर वक्त कोई ख्वाब पलता है
    फिर जुदाई की बारी आती है, दोनों की राहें जुदा हो जाती हैं
    कोई एक बेवफाई करता है और दूसरा अपना सबकुछ खोता है
    इसलिए प्यार की राह में आगे बढ़ना सोचसमझकर
    ताकि दिल टूटने का हादसा तुम्हारे साथ न हो जाए
    कोई पहले पास आए फिर सदा के लिए छोड़कर न चला जाए
    मैंने भी किसी से कभी प्यार किया था…बहुत सपने देखे थे
    बहुत कुछ सोचा था, लेकिन इश्क ने मुझे बर्बाद कर दिया
    कभी मैं दुआ था असरदार, उसने मुझे बेअसर कर दिया
    जो जीवनसाथी बनने को तैयार न हो…. उससे दूर हीं रहना
    इंतजार करना सही शख्स का, उससे पहले भले तन्हाई सहना
    क्योंकि दर्द ए दिल अक्सर ज़िंदगियाँ बर्बाद कर देता है
    प्यार का जख्म जिंदगी में अक्सर सभी को नाकाम कर देता है
    – अभिषेक मिश्र “ Abhi “
  • Dard e Dil Poetry

    dil na chaahe, tab bhee ise kisee na kisee se pyaar ho heen jaata hai
    ishk kee tadap ke aage har shakhs laachaar ho heen jaata hai
    phir hotee hai do premiyon ke beech pyaar bharee baaten
    kabhee khushee-khushee, to kabhee tadap kar gujaratee hai kaee raaten
    phir vaadon aur kasamon ka sunahara daur chalata hai
    premee aur premika kee aankhon mein har vakt koee khvaab palata hai
    phir judaee kee baaree aatee hai, donon kee raahen juda ho jaatee hain
    koee ek bevaphaee karata hai aur doosara apana sabakuchh khota hai
    isalie pyaar kee raah mein aage badhana sochasamajhakar
    taaki dil tootane ka haadasa tumhaare saath na ho jae
    koee pahale paas aae phir sada ke lie chhodakar na chala jae
    mainne bhee kisee se kabhee pyaar kiya tha…bahut sapane dekhe the
    bahut kuchh socha tha, lekin ishk ne mujhe barbaad kar diya
    kabhee main dua tha asaradaar, usane mujhe beasar kar diya
    jo jeevanasaathee banane ko taiyaar na ho…. usase door heen rahana
    intajaar karana sahee shakhs ka, usase pahale bhale tanhaee sahana
    kyonki dard e dil aksar zindagiyaan barbaad kar deta hai
    pyaar ka jakhm jindagee mein aksar sabhee ko naakaam kar deta hai
    – Abhishek Mishra “ abhi “

 

प्यार क्या होता है कविता ? Pyar Kya Hota Hai Poetry || love poem in hindi line

pyar kya hota hai poetry – Pyar Kya Hota Hai Poetry || प्यार क्या होता है कविता || love poem in hindi line – Pyar Kya Hota Hai Poetry || प्यार क्या होता है कविता || love poem in hindi line- Pyar Kya Hota Hai Poetry || प्यार क्या होता है कविता || love poem in hindi line – Pyar Kya Hota Hai Poetry || प्यार क्या होता है कविता || love poem in hindi linePyar Kya Hota Hai Poetry || प्यार क्या होता है कविता || love poem in hindi line

 

  • Pyar Kya Hota Hai Poetry || प्यार क्या होता है कविता || love poem in hindi line

 

  • प्रेम क्या है ? – Pyar Kya Hota Hai Poetry

    व्यर्थ आशाएं और यातना का आधार है
    प्रेम क्या है? बस मिथ्या का संसार है
    कौन आजीवन प्रेम करता है?
    कौन वचनों की लाज रखता है?
    त्याग भाव अब कौन रखता है?
    द्रौपदी के प्रतिशोध में यहाँ,
    कौन ‘पाण्डव’ युद्ध करता है?
    बस स्वार्थ से सन्निहित एक विचार है,
    प्रेम क्या है? मिथ्या का संसार है।
    साक्ष्य है इतिहास और वर्तमान,
    देख लेना प्रेम कहानियों के अंजाम,
    सब वास्तविकता बतलाएंगे,
    इस मोह के टूटे मनके,
    हर जगह मिल जाएंगे,
    वे भी आश्वस्त थे उनका प्रेम सफल होगा,
    उनका विश्वास भी अपने प्रेम पर अटल होगा,
    यौवन को विस्मित करने का मायाजाल है,
    प्रेम क्या है? मिथ्या का संसार है ।
    – Jaya Pandey

  • Tumhari Aankho me

    Tumhari aankho me uu doob jaate h
    Gud se jyada meethe lgte ho
    Imli se bhi jyada khatte
    Tumhari madhosh khushbu saaye ki trah rahti h sath
    Tumhari bechain dhadkan nhi jeene deti h mujhe
    Satati h kuch iss trah ki saans ruk jaati h
    Par tumhare liye unaka pyaar ni
    Jis pal tumko baaho me bharte h
    Lagta h maano jannat sath ho
    Tumhari un aadao ne kuch iss trah ghayal kar diya h ki kambhakt iss pagal dil ko hum smjha hi ni skte
    Suno laut kar aao na
    Aaya kro to jaya na karo
    Bus baaho me bharkar humein uhi sataya karo#priya
    – Sudha Tiwari

 

  • यहां हम जैसे और भी हैं – Pyar Kya Hota Hai Poetry

    यहां हम जैसे और भी हैं
    बिखरे हुए दीवाने अल्फ़ाज़ों के,
    टूटे हुए फ़साने जज़्बातों के,
    और भी गुम हुए हैं दर्द के शोर में,
    कोई अब भी जी रहे हैं गुज़रे हुए दौर में ।
    यहां हम जैसे और भी हैं
    कितनों को दर्द ले डूबे
    कितने टुकड़ो में टूटे
    कितनों ने मौत को चुन लिए
    हम खुशकिस्मत थे
    हमारे दर्द कागज़ ने सुन लिए
    कुछ लोगों के हमसफ़र उनके संग हैं
    कितने अधूरे दास्तां डायरी में बंद हैं ।
    यहां हम जैसे और भी हैं …
    कितनों के अल्फ़ाज़ यहां मुक़म्मल हुए हैं
    कितनों को गुमनामी के ख़िताब मुक़र्रर हुए हैं
    कितनों को नाम मिले,
    कितने गुमनाम हुए,
    जो भी शहर-ए-मोहब्बत से गुज़रे
    बेशक बर्बादी के अंजाम हुए ।
    यहां हम जैसे और भी हैं…
    हम जैसे कितनो को भटकाया
    उस टूटते हुए तारे ने
    कितनो को रास्ता दिखाया
    इस कलम के सहारे ने
    ये कागज़ सुनते हैं
    कभी हमनवा
    कभी हमसफ़र बनते हैं
    ये दर्द समेटने का हुनर जानते हैं
    ये ख़ामोशी की क़दर जानते हैं
    हम जैसों का सफर जानते हैं
    ये यादों का क़हर जानते हैं ।
    यहां हम जैसे और भी हैं…
    फितूर इश्क़ का पहले तो थाम लेता है
    फिर जी भर के इन्तेक़ाम लेता है
    कितने ग़ालिब यहां
    कितने आशिक़ हुए
    मोहब्बत के घाव क्या बताएं
    यहां सब हैं वाकिफ़ हुए ।
    यहाँ हम जैसे और भी हैं…
    – Jaya Pandey

  • गर्लफ्रेंड के लिए रोमांटिक कविता – Romantic Poems in Hindi For Girlfriend

 

बॉयफ्रेंड / पति के लिए कविता Love Poem in Hindi for Husband kavita boyfriend

love poem in hindi for husband – love poem in hindi for boyfriend – पति के लिए कविता – love poem in hindi for husband – love poem in hindi for boyfriend – पति के लिए कविता – love poem in hindi for husband – love poem in hindi for boyfriend – पति के लिए कविता – love poem in hindi for husband – love poem in hindi for boyfriend – पति के लिए कविता – love poem in hindi for husband – love poem in hindi for boyfriend – पति के लिए कविता – love poem in hindi for husband – love poem in hindi for boyfriend – पति के लिए कविता – pyar par kavita
love poem in hindi for husband - love poem in hindi for boyfriend – पति के लिए कविता

 

  • Love Poem in Hindi for Husband बॉयफ्रेंड / पति के लिए कविता kavita boyfriend

 

  • चली आई तेरे संग

    बाबुल का आंगन छोड़ कर,
    चली आई तेरे संग ।
    तेरा स्नेह -स्पर्श पाकर,
    रंग गई तेरे रंग।
    तुझी से तकरार ,
    ओर तुझी से प्यार।
    तू ही मेरे होंठों की मुस्कान,
    तू ही मेरी आँखों की शरारत ।
    तू ही मेरा विश्वास,
    मेरा अभिमान भी तू ही।
    तेरे बिना मेरे जीवन का,
    कोई आधार नही।
    तू ही मेरे माथे की बिंदिया,
    मांग का सिंदूर भी तू ही…
    तेरे नाम की मेहंदी  की रंगत,
    तेरे प्यार -सी गहरी।
    मैं…. मैं कहाँ रही
    बस तुझ में ही कहीँ खो गयी …
    – मीनाक्षी मोहन ‘मीता’

  • Chali aai tere sang

    baabul ka aangan chhod kar,
    chalee aaee tere sang.
    tera sneh -sparsh paakar,
    rang gaee tere rang.
    tujhee se takaraar ,
    or tujhee se pyaar.
    too hee mere honthon kee muskaan,
    too hee meree aankhon kee sharaarat.
    too hee mera vishvaas,
    mera abhimaan bhee too hee.
    tere bina mere jeevan ka,
    koee aadhaar nahee.
    too hee mere maathe kee bindiya,
    maang ka sindoor bhee too hee…
    tere naam kee mehandee kee rangat,
    tere pyaar -see gaharee.
    main…. main kahaan rahee
    bas tujh mein hee kaheen kho gayee …
    – meenaakshee mohan meeta

 

Hindi prem kavita romantic poems – हिंदी प्रेम कविता romantic poems in hindi

Hindi prem kavita romantic poems – हिंदी प्रेम कविता – Hindi prem kavita romantic poems – हिंदी प्रेम कविता – Hindi prem kavita romantic poems – हिंदी प्रेम कविता romantic poems in hindiHindi prem kavita romantic poems - हिंदी प्रेम कविता romantic poems in hindi

 

  • Hindi prem kavita romantic poems – 1

 

  • मेरा प्यार

  • अगर जो दिल की सुनोगे तो हार जाओगी
    हम जैसा प्यार फिर  कहाँ से  पाओगी
    जान देने की बात तो हर कोई  करता है
    जिन्दगी  बनाने  वाला कहाँ  से लाओगी
    जो इक नजर देखोगे  हमें …
    हर तरफ  हम को  ही  पाओगी. ..
    यकीन अपनी  चाहत का है  मझे..
    मेरी ऑखो में झांकोगी तो लौट  आओगी. .
    मरी यादो के  समंदर में जो  डूब  गऐ तुम
    कहीं जाना भी चाहोगी,  तो जा नहीं पाओगी तुम
    – सौरभ राजपूत  (sd)
  • Hindi prem kavita romantic poems – 2
    “”अभी-अभी अचानक”

    अभी-अभी अचानक मेरे दिल में तुम्हारा एहसास सा हो आया है,
    मैंने तुम्हें अभी अपनी साँसों में पाया है।
    ये मेरे सिले होठों की तुम मुस्कान लगी,
    रुक-रुक कर चलते धड़कन की तुम जान लगी।
    मंजुल सा हर वो लम्हा हो गया,
    मैंने जब-जब तेरा नाम लिया,
    तुमको सोचता हूँ और मैं आह्लादित हो जाता हूँ,
    देखो तुमने कैसा काम किया।
    कहीं तुमसे मुझे रति तो नहीं??,
    जो भी हो पर बिन तेरी यादों के मेरी कोई रात कटी तो नहीं।
    मेरे मन के खेमे में तेरी ही यादों का बसेरा है,
    साथ तुम हो तो ही जीवन में सवेरा है।
    मैं भी हैरान हूँ कि कैसे तुमने मुझ पर आधिपत्य जमाया है,
    किसी और पे नजर जाती नहीं मेरी,
    मेरी आँखों पर तुमने ये कैसा पहरा लगाया है??
    अभी-अभी अचानक मेरे दिल में तुम्हारा एहसास सा हो आया है।
    – हिमांशु शर्मा ‘हेमु’

 

  • हिंदी प्रेम कविता – Hindi prem kavita romantic poems – 3
  • वो मेरा नहीं- (दिल का हाल)

    मैं आज भी वेसी हीं हूँ, जैसी उसकी पसंद है,
    लेकिन अब वो वैसा नहीं, जैसा मुझे पसंद है !
    वो मेरा पहला प्यार है,
    लेकिन मैं उसका पहला प्यार नहीं
    मैं खुश होती हूँ उसकी हंसी देखकर,
    वो खुश होता है, किसी और की हंसी देखकर !
    मैं तो आज भी उसकी हूँ, ये वो नहीं जानता,
    वो किसी और का है, ये सब जानते हैं !
    – जयति जैन, रानीपुर, झांसी उ.प्र.

 

  • चलो आज हम दोनो … – Hindi prem kavita romantic poems – 4

    चलो आज हम दोनो शिकायत करते हैं
    कुछ तुम कहो हमसे कुछ हम तुमसे कहते हैं
    बड़े दिनों बाद आज मिले हैं हम दोनो
    कुछ देर ही सही और नाराज रहते हैं
    बड़ी बेबस है इंसां सबकुछ बेइंतहा चाहता है
    हम भी उम्मीदो का दायरा थोड़ा बढ़ा लेते हैं
    संग रहते थे पहले, संग रहेंगे बाद में भी
    फिलहाल कुछ दिन की और जुदाई सहते हैं
    आज दोस्ती नही दुश्मनी की दुआ करते हैं
    तुम दीया सा जलो हम हवा सा बहते हैं
    या अपने ही अंदाज में हम इश्क करते हैं
    तुम शमा सा जलो हम परवाना बनते हैं
    नज़र से बात करते थे नज़र से बात करते हैं
    कमबख्त दिल है पागल, न उसकी बात सुनते हैं
    बगावत खुद से कर दुनिया की तरफदारी करते हैं
    आज इस जहां में नया अफसाना बुनते हैं
    खुदा ने बख्शा है तुझे लाखों अदा दिलवर
    तो क्या? आज हम भी थोड़ा इतराकर चलते हैं
    पाबंदी है आंसूओ पर हमारे दिल के जहां मे
    आज तेरे संग हम ‘बिट्टू’ खुलकर हंसते हैं
    प्रभात कुमार (बिट्टू)
    बख्तियारपुर, पटना

 

  • हिंदी प्रेम कविता – Hindi prem kavita romantic poems – 5
  • अब तुम्हारा प्यार भी – Ab Tumhara Pyaar Bhi Mujhko Nahi Sveekar Preyasi

    अब तुम्हारा प्यार भी मुझको नहीं स्वीकार प्रेयसि!
    चाहता था जब हृदय बनना तुम्हारा ही पुजारी,
    छीनकर सर्वस्व मेरा तब कहा तुमने भिखारी,
    आँसुओं से रात दिन मैंने चरण धोये तुम्हारे,
    पर न भीगी एक क्षण भी चिर निठुर चितवन तुम्हारी,
    जब तरस कर आज पूजा-भावना ही मर चुकी है,
    तुम चलीं मुझको दिखाने भावमय संसार प्रेयसि !
    अब तुम्हारा प्यार भी मुझको नहीं स्वीकार प्रेयसि !
    भावना ही जब नहीं तो व्यर्थ पूजन और अर्चन,
    व्यर्थ है फिर देवता भी, व्यर्थ फिर मन का समर्पण,
    सत्य तो यह है कि जग में पूज्य केवल भावना ही,
    देवता तो भावना की तृप्ति का बस एक साधन,
    तृप्ति का वरदान दोनों के परे जो-वह समय है,
    जब समय ही वह न तो फिर व्यर्थ सब आधार प्रेयसि !
    अब तुम्हारा प्यार भी मुझको नहीं स्वीकार प्रेयसि !
    अब मचलते हैं न नयनों में कभी रंगीन सपने,
    हैं गये भर से थे जो हृदय में घाव तुमने,
    कल्पना में अब परी बनकर उतर पाती नहीं तुम,
    पास जो थे हैं स्वयं तुमने मिटाये चिह्न अपने,
    दग्ध मन में जब तुम्हारी याद ही बाक़ी न कोई,
    फिर कहाँ से मैं करूँ आरम्भ यह व्यापार प्रेयसि !
    अब तुम्हारा प्यार भी मुझको नहीं स्वीकार प्रेयसि !
    अश्रु-सी है आज तिरती याद उस दिन की नजर में,
    थी पड़ी जब नाव अपनी काल तूफ़ानी भँवर में,
    कूल पर तब हो खड़ीं तुम व्यंग मुझ पर कर रही थीं,
    पा सका था पार मैं खुद डूबकर सागर-लहर में,
    हर लहर ही आज जब लगने लगी है पार मुझको,
    तुम चलीं देने मुझे तब एक जड़ पतवार प्रेयसि !
    अब तुम्हारा प्यार भी मुझको नहीं स्वीकार प्रेयसि !
    – गोपाल दास नीरज.

 

  • पर आँखें नहीं भरीं – Hindi prem kavita romantic poems – 6

    कितनी बार तुम्हें देखा
    पर आँखें नहीं भरीं।
    सीमित उर में चिर-असीम
    सौंदर्य समा न सका
    बीन-मुग्ध बेसुध-कुरंग
    मन रोके नहीं रुका
    यों तो कई बार पी-पीकर
    जी भर गया छका
    एक बूँद थी, किंतु,
    कि जिसकी तृष्णा नहीं मरी।
    कितनी बार तुम्हें देखा
    पर आँखें नहीं भरीं।
    शब्द, रूप, रस, गंध तुम्हारी
    कण-कण में बिखरी
    मिलन साँझ की लाज सुनहरी
    ऊषा बन निखरी,
    हाय, गूँथने के ही क्रम में
    कलिका खिली, झरी
    भर-भर हारी, किंतु रह गई
    रीती ही गगरी।
    कितनी बार तुम्हें देखा
    पर आँखें नहीं भरीं। – शिव मंगल सिंह सुमन

 

गर्लफ्रेंड के लिए लव लाइन्स – Love Lines For Girlfriend in Hindi

Love Lines For Girlfriend in Hindi – Love Lines For Girlfriend in Hindi – Love Lines For Girlfriend in Hindi – Love Lines For Girlfriend in Hindi
गर्लफ्रेंड के लिए लव लाइन्स - Love Lines For Girlfriend in Hindi romantic

 

  • गर्लफ्रेंड के लिए लव लाइन्स – Love Lines For Girlfriend in Hindi

 

  • पगली
    तेरे प्यार ने जिंदगी से पहचान कराई है ,
    घिरते तूफान से बचा कर तू लाई है ,
    बस खुदा इतना करम कर देना मुझ पर ,
    बुझे ना वह समा, जो तेरे प्यार ने जलाई है ।
    साया तुम्हारे प्यार का.. हमेशा मेरे साथ रहता है ,
    मेरे खयालो में तुम्हारी ही छाया रहती है  ,
    दूर हुआ तुमसे तो क्या हुआ मेरी पगली  ,
    मेरे सांसे की गहराई में तो बस तुम्हारी हीं बस्ती है।
    मेरे लिए चांद की चांदनी की तरह हो तुम  ,
    मेरे लिए गुलाब की खुशबू की तरह हो तुम  ,
    दिल का तोहफ़ा दूँ या चांद तारे दूँ प्यारी पगली को  ,
    क्योंकि मेरे जीने की वजह हो तुम ।
    मैं हर दुआं में मांगता हूँ तुमको  ,
    प्यार से भरी ज़िन्दगी मिले तुमको  ,
    किसी दिन तारा टूटे तो मांगूंगा तुमको ,
    सारी जिंदगी दूंगा खुशियाँ तुमको ।
    जिंदगी भी नाम कर दूँ तो कम होगा तुम्हारे लिए  ,
    जो भी करूंगा जिंदगी में कम होगा तुम्हारे लिए  ,
    सोचता हूँ कभी-कभी क्या करूं तुम्हारे लिए  ,
    बार-बार जन्म लेना पड़ेगा तेरे प्यार का कर्ज ऊतारने के लिए ।
    – By Akhilesh Kumar yadav
    Barari bhagalur ( bihar )
  • tere pyaar ne jindagee se pahachaan karaee hai ,
    ghirate toophaan se bacha kar too laee hai ,
    bas khuda itana karam kar dena mujh par ,
    bujhe na vah sama, jo tere pyaar ne jalaee hai .
    saaya tumhaare pyaar ka.. hamesha mere saath rahata hai ,
    mere khayaalo mein tumhaaree hee chhaaya rahatee hai ,
    door hua tumase to kya hua meree pagalee ,
    mere saanse kee gaharaee mein to bas tumhaaree heen bastee hai.
    mere lie chaand kee chaandanee kee tarah ho tum ,
    mere lie gulaab kee khushaboo kee tarah ho tum ,
    dil ka tohafa doon ya chaand taare doon pyaaree pagalee ko ,
    kyonki mere jeene kee vajah ho tum .
    main har duaan mein maangata hoon tumako ,
    pyaar se bharee zindagee mile tumako ,
    kisee din taara toote to maangoonga tumako ,
    saaree jindagee doonga khushiyaan tumako .
    jindagee bhee naam kar doon to kam hoga tumhaare lie ,
    jo bhee karoonga jindagee mein kam hoga tumhaare lie ,
    sochata hoon kabhee-kabhee kya karoon tumhaare lie ,
    baar-baar janm lena padega tere pyaar ka karj ootaarane ke lie .
    – by akhilaish kumar yadav

 

प्यार पर 2 बेहतरीन कविताएँ Love Poem in Hindi for girlfriend gf bf wife || lover

Love Poem in Hindi For Girlfriend – प्रेम कविता / प्यार का नया सिलसिला – heart touching love poem in hindi for girlfriend – 2 Love Poem in Hindi For Girlfriend gf bf wife प्यार पर बेहतरीन कविताएँ lover – 2 Love Poem in Hindi For Girlfriend gf bf wife प्यार पर बेहतरीन कविताएँ lover – 2 Love Poem in Hindi For Girlfriend gf bf wife प्यार पर बेहतरीन कविताएँ lover – 2 Love Poem in Hindi For Girlfriend gf bf wife प्यार पर बेहतरीन कविताएँ lover
Love Poem in Hindi For Girlfriend

 

  • प्यार का नया सिलसिला

 

  • तुम्हारे लिए ख्वाबों की एक दुनिया सजाई है मैंने
    मेरे ख्वाबों की दुनिया में तुम आओ तो सही……………….
    न जाने तुम अब तक क्यों मुझसे दूर हो
    छोड़ कर सबकुछ मेरी बाहों में समा जाओ तो सही……………….
    मैं तो हक से तुम्हें पुकारता हीं हूँ
    अब तुम भी हक से मुझे बुलाओ तो सही……………….
    बहुत सह ली हमने दूरियाँ
    अब मुलाकातों का एक सिलसिला चलाओ तो सही……………….
    मैंने तो तुम्हें अपना सबकुछ मान लिया है
    अब तुम भी मेरे बन जाओ तो सही……………….
    जैसे हमारी नजरों से बातें हुई थी
    फिर उसी तरह मुझसे नजरें मिलाओ तो सही……………….
    मेरा वजूद तो तुममें हीं समा गया है
    तुम भी मेरे वजूद का हिस्सा बन जाओ तो सही……………….
    जहाँ हम पहली बार मिले थे
    फिर वहीं मुझसे मिलने आओ तो सही……………….
    मैंने तो दूरियाँ मिटाने के सब जतन कर लिए
    अब तुम भी करीब आ जाओ तो सही……………….
    खुद की नजर से तो रोज देखा है तुमने खुद को
    कभी मेरी नजरों में खुद को देखो तो सही……………….
    माना प्यार की दुश्मन है दुनिया
    पर प्यार में दुनिया को झुकाओ तो सही ……………….
    प्यार में जो कभी किसी ने नहीं किया हो
    प्यार में कुछ ऐसा कर जाओ तो सही……………….
  • मेरी परी
    जब से तुमने मेरा हाथ थामा, मेरी जिंदगी हीं बदल गई
    ख्वाबों ने लिया हकीकत का रूप, और तुम मेरी बन गई……………….
    मुझे मुझसे भी ज्यादा जानने लगी हो तुम
    मुझे मुझसे भी ज्यादा चाहने लगी हो तुम……………….
    सूने दिल को खुशियों से भर दिया है तुमने
    मेरे रास्ते के काँटों को पलकों से चुन लिया है तुमने……………….
    बड़ी मुश्किलों से मैंने पाया है तुम्हें
    बड़े जतन से मैंने दुनिया से चुराया है तुम्हें……………….
    चलो अब उम्र भर के लिए एक-दूसरे के हो जायें हम-तुम
    प्यार के आगोश में सदा के लिए खो जायें हम-तुम ……………….
    कोई और न हमारे बीच आ सके अब कभी कोई
    चलो इस रिश्ते को इतना मजबूत बनाएँ हम-तुम……………….

 

प्यार पर हिन्दी कविता – Sweet Love Poem in Hindi Lyrics Girl friend Boy friend

Love Poem in Hindi – sad love poems in hindi language – love poem hindi – romantic hindi love poem  fonts – romantic love poems in hindi – i love u poem in hindi  – cute love hindi poem – love story poem in hindi – love poems – poem on love in hindi – love poem in hindi language – poem in hindi on love – love poem in hindi for girlfriend – love poem in hindi for husband – poem for love in hindi – i love you poem in hindi – poem of love in hindi – love poem in hindi lyrics – love poem for husband in hindi – प्यार की कविता – प्यार पर कविता – प्यार भरी कविता Love Poem in Hindi

 

  • प्यार पर हिन्दी कविता

 

  • जो तुमसे दूर चला गया है, उसके लिए क्यों आँसू बहाना
    जो अतीत का पन्ना है, उसके लिए क्यों अपना वर्तमान गंवाना
    जो जीवन नहीं था, जो जीवन का एक हिस्सा भर था…………………
    जो अब बेगाना है, उसके लिए क्यों खुद को दिन-रात रुलाना
    पर अब वो किसी और के संग है, अब वो किसी और के दिल की उमंग है…………………
    क्यों किसी और के हमसफर के लिए, जीवन के सफर में रुक जाना
    तुम तो बस उसके साथ चलो, जो जिंदगी के इस सफर में तुम्हारे संग है…………………
    कोई भी व्यक्ति इतना बड़ा नहीं होता, कि उस पर अपनी जिंदगी लुटाई जाए…………………

    कोई भी बेवफा खुदा नहीं होता, जो उसके लिए अपनी हस्ती मिटाई जाए
    जिंदगी इतनी बेबस नहीं होती, जो किसी के चले जाने से रुक जाए…………………
    ऐसा कभी नहीं होता कि किसी के चले जाने के बाद फिर बसंत कभी न आए
    तुम फिर नए सपने सजाओ, तुम किसी के हमसफर बन जाओ…………………
    नए रिश्ते की बुनियाद रखो तुम, प्यार की राह में फिर खुद को आजमाओ
    जो तुम पर जिंदगी लुटाए, उस पर प्यार लुटाओ तुम…………………
    अतीत को दफन करके, प्यार की एक नई कहानी लिख जाओ तुम
    – अभिषेक मिश्र ( Abhi )
    jo tumase door chala gaya hai, usake lie kyon aansoo bahaana
    jo ateet ka panna hai, usake lie kyon apana vartamaan ganvaana
    jo jeevan nahin tha, jo jeevan ka ek hissa bhar tha…………………
    jo ab begaana hai, usake lie kyon khud ko din-raat rulaana
    par ab vo kisee aur ke sang hai, ab vo kisee aur ke dil kee umang hai
  • रिश्तों पर कविता – Relationship Poems in Hindi – रिश्तों की एहमियत

 

Love Poems For Him in Hindi Font || लव पोएम्स फॉर हिम इन हिंदी फॉण्ट bf gf

Love Poems For Him in Hindi – hindi love poems for him – love poems in hindi for him  – short love poems for him in hindi – sad love poems for him in hindi – love poems for him from the heart in hindi – love poems from the heart for him – Love Poems For Him in Hindi Font || लव पोएम्स फॉर हिम इन हिंदी फॉण्ट bf gf – Love Poems For Him in Hindi Font || लव पोएम्स फॉर हिम इन हिंदी फॉण्ट bf gf = Love Poems For Him in Hindi Font || लव पोएम्स फॉर हिम इन हिंदी फॉण्ट bf gf – Love Poems For Him in Hindi Font || लव पोएम्स फॉर हिम इन हिंदी फॉण्ट bf gf
Love Poems For Him in Hindi

 

  • तू ही है सनम

 

  • तू ही है सनम
    सुकूं है तेरे दिल की
    धड़कनों में जो सनम………………
    क्यूँ बदलू वो रास्ता
    जहाँ आ पड़े हैं मेरे कदम……………………………
    तू ही है जो सपने भर गया
    तू ही है जो रोना सिखा गया………………अहसासों का मंज़र तू ही है
    जिन्दगी का हमदम तू ही है……………………………
    तू है तो मैं हूँ
    तू नहीं तो मैं नहीं
    फिर क्यूँ बदलू वो रास्ता………………
    जो तेरे करीब मुझे ले जाता
    क्यूँ डरु उस इंतज़ार से
    जिसके अंत में तुम खड़े हो……………………………
  • कर्णिका पाठक
  • जब से तुम मिले
    जब से तुम मिले हो सनम
    थोड़ी और निखर गई हूँ मैं………………
    जब से तुमने मेरा हाथ थामा
    गिरते–गिरते सम्भल गई हूँ मैं……………………………
    जब से तुमको पाया मैंने
    बस तेरी बन गई हूँ मैं………………
    जब से तुमको जाना मैंने
    तेरे और करीब आ गई हूँ मैं……………………………
    जबसे तुमने प्यार का इजहार किया
    तब से हवा से बातें करने लगी हूँ मैं………………
    जब से तुमने छुआ है मुझे
    तब से थोड़ी-थोड़ी बहक गई हूँ मैं……………………………
    भूल गई हूँ दुनिया सारी
    बस तेरी रह गई हूँ मैं………………
    तोड़ दिया है रस्मों को
    और तुझमें खो गई हूँ मैं……………………………– अभिषेक मिश्र ( Abhi )

 

 

  • कहाँ से लाऊँ

    जो तेरे दीदार सा हो रोशन
    वो आफताब वो नूर कहाँ से लाऊं?
    जो दिन-रात मुसलसल हो
    ख्वाबों का वो फितूर कहाँ से लाऊं?
    जिसमें तेरे एहसास सा इत्मिनान हो
    पनाह वो महफूज़ कहाँ से लाऊं?
    जो हर अनकही तक़लीफ़ से वाकिफ़ हो
    वो हमदर्द वो मेहबूब कहाँ से लाऊं?
    जो तुझ सा बेफिकर हो
    वो मिज़ाज़ कहाँ से लाऊं?
    जिसमें सबर तेरे जैसा हो
    वो मोहब्बत वो अंदाज़ कहाँ से लाऊं?
    अब तो आलम है कि मिले हुए अरसे बीत गए
    तेरे तस्सवुर से होने वाले वो सहर कहाँ से लाऊं?
    जो तेरी यादों का क़त्ल कर सके
    बता! वो ज़हर कहाँ से लाऊं?
    -Jaya pandey

 

  • मत कर फ़िज़ूल के आरज़ू ऐ दिल
    मत कर फ़िज़ूल के आरज़ू ऐ दिल,
    यहाँ टूटते तारों का कोई मुस्तखबिल नहीं होता
    ना फँसना इन हसीं ख्वाबों के चंगुल में,
    मोहब्बत से बड़ा कोई क़ातिल नहीं होता,
    ये ताउमर साथ रहने के वादों औऱ कसमों के बाद,
    वीरानियों के अलावा कुछ हासिल नहीं होता,
    इन रतजगों का आगाज़ नशीला है मगर,
    नींदों की गुमशुदगी का असर अरसे तक वाजिब नहीं होता
    जाओ तुम भी उन लापता नींदों को ढूंढ लाओ,
    खाली हाथ लौटने वालों को देख हमको ताज्जुब नहीं होता
    – Jaya Pandey
  • 13 रोमांटिक शायरी हिंदी मे Very Romantic Shayari in Hindi For Girlfriend Love

 

error: Content is protected !!