Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

Sex & Love Tips in Hindi

पीरियड जल्दी लाने के असरदार उपाय – Period Lane Ke Gharelu Nuskhe in Hindi masik

period lane ke gharelu nuskhe in hindi – period lane ke gharelu upay in hindi language – period jaldi lane ke yoga – masik dharm ke upay in hindi – periods jaldi aane ki tablet – period badhane ke gharelu upay – period rokne ke upay – period jaldi lane ka upay – period sahi time par nahi aana – period lane ke gharelu nuskhe in hindi
पीरियड जल्दी लाने के असरदार उपाय - Period Lane Ke Gharelu Nuskhe in Hindi masik

 

  • कभी-कभी Ladies या girls Periods जल्दी लाना चाहती हैं. या कभी-कभी Women को Periods आने में देर होती है. इस परेशानी से छुटकारा पाने के लिए आप कुछ आसान घरेलू उपाय आजमा सकती हैं. ये घरेलू नुस्खे आपके मासिक श्राव को जल्दी लाने में मदद करेंगे. इस लेख में हम जानेंगे कि आप अपने Periods कैसे जल्दी ला सकती हैं. इसके लिए आपको क्या-क्या करना होगा और क्या-क्या नहीं करना होगा.

 

  • Period lane ke gharelu nuskhe in Hindi

  • पीरियड को जल्दी लाने के लिए पपीता खाना चाहिए. पपीता में मौजूद कैरोटिन, हार्मोन एस्ट्रोजन उत्तेजन में
    मदद करता है, जिस कारण पीरियड्स जल्दी आ जाते हैं.
  • Period Jaldi Lane Ke Upay :

  • मासिक से 8-15 दिन पहले से पपीता खाने से Periods के दौरान Flow अच्छे से होता है और इससे

    Period का दर्द भी कम हो जाता है.

  • एक ग्लास पानी लीजिये, उसमें एक चुटकी हल्दी मिलाइए. और इस मिश्रण को Periods से 15 दिन
    पहले से सुबह-शाम नियमित रूप से पीना शुरू कर दीजिये, इससे Periods जल्दी शुरू हो जायेंगे.
  • गाजर में carotene पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है, इससे शरीर में एस्‍ट्रोजन का स्‍तर बढ़ जाता है,
    जिससे पीरियड्स जल्‍दी शुरू हो जाते हैं. इसलिए अगर आप अपने Periods को जल्‍दी लाना चाहती हैं
    तो दिन में 2-4 बार ताजा गाजर खाएँ या गाजर का रस पियें.
  • Periods के अनुमानित समय से लगभग 15 दिन पहले गुड़ के साथ एक छोटा चम्मच तिल लें.
    या फिर दिन में 2 बार 1 छोटा चम्मच तिल गर्म पानी से साथ पीने से भी पीरियड्स जल्दी शुरू हो जाता है.
  • समय से पहले Period लाने के लिए तिल के साथ गुड़ लीजिये या फिर 1 Glass पानी में अदरक के रस
    के साथ गुड़ घोलकर खाली पेट लें. इससे भी आपकी मासिक श्राव समय से पहले आएगी.
  • 1 glass अजवाइन के रस को हर दिन 2 बार पीने से Masik Dharm समय से पहले शुरू हो जाता है.
  • आप मेथी के बीजों का उपयोग भी कर सकती हैं. यह भी उतना ही कारगर होता है.
  • ये Tips (Period Jaldi Lane Ke Upay) आपके मासिक को जल्दी लाने में मदद करेंगे.
  • ब्रेस्ट साइज़ बढ़ाने के 23 टिप्स || Breast size Increase tips in Hindi

 

स्तनों का दर्द दूर करने के उपाय – Breast Pain Solution in Hindi Stan Dard Ke Upay Tips

breast pain solution in hindi – breast problem solution in hindi – breast me pain ke reason in hindi – pregnancy me breast pain solution in hindi – breast me jalan in hindi – stan dard ke upay – breast me ganth ka gharelu upchar – breast diseases in hindi – breast infection in hindi
स्तनों का दर्द दूर करने के उपाय - Breast Pain Solution in Hindi Stan Dard Ke Upay Tips

 

  • Girls, Ladies या Women को कई कारणों से Breast Pain oहोता है.होता होता है. कुछ आसान घरेलू नुस्खों को आजमाकर आप इस दर्द से खुद छुटकारा पा सकती हैं. इस लेख में हम आपको Breast pain दूर करने के कुछ ऐसे हीं आसान टिप्स बतायेंगे. जिन्हें आप घर बैठे कर सकती हैं.

 

  • हरी सब्जियों, केला और डार्क चॉकलेट का सेवन करें.
  • बादाम, हरी साग, हरा फूलगोभी का सेवन करें.
  • Ice Pack का use के आप Breast pain से राहत पा सकती हैं. ध्यान रखें कि बर्फ को सीधे स्तनों के

    सम्पर्क में न लायें. इसे दस मिनट तक लगायें.

  • ब्रेस्‍ट पर मसाज करने से सूजन से राहत मिलेग. नहाने से पहले ब्रेस्‍ट पर साबुन लगाकर कुछ मिनट तक
    हल्‍के हाथों से मसाज कीजिये. इसके अलावा 2 चम्‍मच गरम जैतून तेल और कुछ बूंद कपूर तेल में
    मिलाकर ब्रेस्‍ट को 1 या 2 बार दिन में मसाज कीजिये. इससे भी आपको राहत मिलेगा.
  • Push Up Bra और Underwire Bra ना खरीदें. व्‍यायाम के समय Sports पहने.

  • ढेर सारा पानी पीने की आदत डालिए.
  • विटामिन ई से युक्त आहार लें. सूरजमुखी बीज, बादाम, जैतून तेल, पालक, एवाकाडो और बीटरूट आदि का सेवन सेवन करें. इनमें Vitamin e पाया जाता है.
  • 1 या 2 चम्‍मच सेब का सिरका एक गिलास गरम पानी में मिलाएं. फिर उसमें थोड़ा शहद मिलाएं.
    इसे दिन में 2 बार पियें. यह आपके हार्मोन को बैलेंस करेगा और सूजन को कम करेगा.
  • 1 चम्‍मच सौंफ को 1 कप गरम पानी में डालकर 10 मिनट तक ढंककर रख दें.
    फिर इसे छानकर दिन में कई बार पियें. आप चाहें तो दिन में कई बार सौंफ चबा सकती हैं.
    यह फीमेल हार्मोन को बैलेंस करता है और शरीर में गंदगी जमा नहीं होने देता.
  • एक चम्‍मच रेंड़ी के तेल को 2 चम्‍मच जैतून तेल के साथ मिलाकर के ब्रेस्‍ट पर मसाज करें.
    इस तेल से ब्रेस्‍ट की सूजन कम होगी और उस तक ढेर सारे पोषण पहुंचेगें.
  • ज्यादा मक्खन, अचार आदि न खाएं.
  • अगर आपका वजन ज्यादा है, तो आपको अपना वजन कम करना होगा. इसके बिना Breast Pain
    से राहत पाना सम्भव नहीं होगा.
  • पत्ता गोभी के पत्तों को अपने ब्रेस्ट पर लगाइए और फिर किसी सूती कपड़े से लपेट लीजिये.

    ये आपकी सूजन को भी कम करेगा साथ हीं इसके दर्द में भी राहत मिलेगा.

  • Breast pain न हो हो इसके लिए आपको शारीरिक रूप से तन्दुरुस्त रहना होगा.

 

यह गांठ आपको बना सकती है बाँझ || Pcod Problem Solution in Hindi

pcod problem solution in hindi – यह गांठ आपको बना सकती है बाँझ || Pcod Problem Solution in Hindi – यह गांठ आपको बना सकती है बाँझ || Pcod Problem Solution in Hindi – यह गांठ आपको बना सकती है बाँझ || Pcod Problem Solution in Hindiयह गांठ आपको बना सकती है बाँझ || Pcod Problem Solution in Hindi

यह गांठ आपको बना सकती है बाँझ || Pcod Problem Solution in Hindi

 

 

  • PCOS PCOD महिलाओं को होने वाली एक बीमारी है. 10 में से 1 महिला को PCOS PCOD की बीमारी होती है. इस लेख में हम इसी बीमारी के लक्षण, कारण, उपचार के बारे में आपको जानकारी देंगे.
  • PolyCystic Ovarian Disease ( PCOD ) जिसे PolyCystic Ovarian Syndrome ( PCOS ) भी कहा जाता है, यह महिलाओ में होने वाली एक बीमारी है. इस समस्या से ग्रस्त ज्यादातर महिलाओ को पता नहीं होता है कि उन्हें यह समस्या है. महिलाओ में Hormones के असंतुलन के कारण अंडाशय ( Ovary ) में छोटी-छोटी गांठ तैयार हो जाती है जिस कारण महिलाओ के मासिक धर्म के साथ प्रजनन क्षमता पर भी असर पड़ता है. अगर समय पर PCOD का इलाज न किया जाए तो यह Cancer का रूप भी ले सकती है. महिलाओ में अंडाशय में सामान्य से अधिक मात्रा में Androgen Hormones के निर्मिति होने पर अंडाशय में छोटी-छोटी तरल पदार्थयुक्त गांठ तैयार हो जाती है जो धीरे-धीरे बढ़ने लगती है. इससे महिलाओ में प्रजनन क्षमता कम हो जाती है और महिला गर्भधारणा करने में असमर्थ हो जाती है.

  • PolyCystic Ovarian Disease ( PCOD ),
    ( PCOS ) के symptoms :

    अनियमित मासिक धर्म
    चेहरे / शरीर पर अधिक बाल
    मुंहासे
    रुसी
    पेटदर्द
    गर्भधारण में मुश्किल आना
    यौन इच्छा में अचानक कमी आना
    गर्भ में छोटी-छोटी गांठ जो Ultra Sound Scan करने पर दिखाई देती है
    बार-बार गर्भपात
    सिर के बालों का अधिक झड़ना
    त्वचा पर दाग
    मोटापा


  • Reasons of PCOS PCOD

    PCOS PCOD होने के कारण

  • असंतुलित आहार : junk food, ज्यादा तेलयुक्त, वसायुक्त और अधिक मीठा आहार।
  • रोग ( Diseases ) : PCOD होने के पीछे मधुमेह ( Diabetes ) और उच्च रक्तचाप ( Hypertension ) जैसे रोग भी एक बड़ी वजह है. अनुवांशिकता भी एक कारण है. Cholesterol का बढ़ना, HDL कम होना या उच्च Triglycerides के वजह से भी PCOD हो सकता है.
  • मोटापा ( Obesity ) : मोटापे में शरीर में बढ़ी हुई चर्बी के कारण Estrogen hormone का निर्माण सामान्य से ज्यादा होता है, जो कि अंडाशय में गांठ बनाने के लिए जिम्मेदार हो सकता है.
  • तनाव ( Stress ) : धूम्रपान, शराब, रात का खाना देर से खाना इत्यादि कारणों से भी hormonal imbalance होता है.
  • PCOS PCOD होने पर क्या करें?
  • तुरंत डॉक्टर से मिलें. इसके अलावा diabetes व thyroid टेस्ट ज़रूर करवा लें क्योंकि जो भी महिला PCOS PCOD से पीड़ित होती है उसके diabetes होने के chances बढ़ जाते हैं. और हाइ इंसुलिन लेवल के कारण ओवरीज़ ज़्यादा male हॉर्मोन्स बनाने लग जाती है – और इसकी वजह से हाई BP, हाई कोलेस्ट्रॉल व दिल की बीमारियां होने की संभावना बढ़ जाती है.

 


  • PCOS PCOD को दूर करने के घरेलू उपाय

    PCOS PCOD Dur karne ke gharelu upay

  • दालचीनी – एक टी स्पून दालचीनी का पाउडर गर्म पानी में मिलाकर पी लें. आप चाहें तो इसे अपने cereal, ओटमील, दही या चाय में मिला कर भी पी या खा सकती हैं. इसका सेवन रोज करें, जब तक आपको सुधार न दिखने लगे.
  • अलसी – 1-2 टेब्लस्पून ताज़ी पीसी हुई अलसी को पानी में मिलाकर पी लें. इसे रोजाना तब तक पिए, जब तक आपको नतीजे न मिलने लगे.
  • मेथीदाना – तीन टी स्पून मेथीदाने को पानी में 7-8 घंटे के लिए भिगो दें. फिर सुबह खाली पेट एक टी स्पून भीगा हुआ मेथीदाना शहद के साथ मिलाकर खा लें. इसी तरह से एक-एक टीस्पून लंच व डिनर के 10 मिनट पहले खा लें. इस उपाय को कुछ महीने तक करें, जब तक आपको मनचाहे नतीजे ना मिलें.
  • Apple Cider Vinegar – दो टी स्पून apple cider vinegar को एक ग्लास पानी में मिलाकर रोजाना सुबह खाली पेट व लंच और डिनर से पहले पिएं. इसे कुछ महीने करें, जब तक आपको बीमारी से छुटकारा ना मिल जाए.
  • कोई भी नुस्खा आज़माने से पहले डॉक्टर से ज़रूर सलाह लें.

 


  • क्या-क्या सावधानी बरतें इस बीमारी से छुटकारा पाने के लिए
    Savdhaniyan

  • वज़न कंट्रोल करें – वज़न ज़्यादा होने से PCOS की समस्या गंभीर हो जाती है. वज़न कम करने से androgen का लेवल व दूसरी समस्याएं भी कम होंगी और पीरियड भी नियमित रूप से आने लगेगा. अगर इसके कारण आपको pregnant होने में समस्या हो रही है तो वज़न कम करने से ये समस्या भी दूर हो सकती है, इसलिए वज़न कम करना बेहद ज़रूरी है.
  • नियमित Exercise करें – वॉक, स्विमिंग, जोगिंग, cycling etc किसी भी तरह की कसरत नियमित रूप से करें.
  • तनावमुक्त रहें – इसके लिए आप प्राणायाम व meditation भी कर सकती हैं.
  • सही लाइफस्टाइल का चुनाव करें – स्मोकिंग, alcohol, कोल्ड ड्रिंक्स, जंक फूड, caffeine… इन सभी चीजों से दूर रहे क्योकि ये शरीर को dehydrate करती हैं व दूसरे और भी नुकसान पहुंचाती है.
  • जल्दी उठें व पूरी नींद लें.
  • खान-पान का रखे ध्यान – खाने में ओमेगा 3 फेटी एसिड्स से भरपूर चीज़ें शामिल करें जैसे अलसी, फिश, अखरोट etc. अपनी डाइट में विटामिन B2, B3, B5 व B6 को शामिल करें, Whole grains, नट्स, ताज़े seasonal फल व सब्जियां अपनी रोज की डाइट में शामिल करें. दिन में 3 लीटर पानी पिएं.

 

24 घंटे ब्रा पहनने के 9 नुकसान जानते हैं आप ? Bra Side Effects in Hindi haniyan

Bra Side Effects in Hindi – ब्रा साइड इफेक्ट्स इन हिंदी – Bra Side Effects in Hindi – ब्रा साइड इफेक्ट्स इन हिंदी – Bra Side Effects in Hindi – ब्रा साइड इफेक्ट्स इन हिंदी – Bra Side Effects in Hindi – ब्रा साइड इफेक्ट्स इन हिंदी
24 घंटे ब्रा पहनने के 9 नुकसान जानते हैं आप ? Bra Side Effects in Hindi haniyan

 

  • ब्रा पहनना हर स्त्री के लिए जरूरी है. इसके कई फायदे हैं. लेकिन अगर आप 24 घंटे ब्रा पहनी रहती हैं, तो आपको अपनी यह आदत जल्द-से-जल्द बदल देनी चाहिए. खासतौर पर तब अगर आप स्पोर्ट्स ब्रा या टी शर्ट ब्रा पहनती हों. इस लेख में हम आपको बतायेंगे कि 24 घंटे ब्रा पहने रहने से आपको क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं. और 24 घंटे ब्रा नहीं पहनकर आप किन-किन परेशानियों से बच जायेंगी.

 

  • दिन-रात ब्रा पहनने से होने वाले नुकसान :

  • दिन-रात ब्रा पहनने का सबसे बड़ा नुकसान होता है, कि ब्रा के आसपास के हिस्सों में रक्त संचार सुचारू रूप से नहीं हो पाता है. इसलिए आपको रात में ब्रा पहने बिना सोने की आदत डालनी चाहिए. रक्त संचार सुचारू रूप से नहीं होने से आपको स्तनों से जुड़ी कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.
  • 24 घंटे ब्रा पहनने से आपके स्तनों में दर्द की समस्या हो सकती है.

  • 24 घंटे ब्रा पहनने से आपको पीठ दर्द की समस्या भी हो सकती है, क्योंकि ब्रा कसा हुआ होता है.
  • हमेशा ब्रा पहनने से ब्रा के आसपास के हिस्सों या स्तनों में लाल धब्बे हो सकते हैं.
    या फिर खुजली या जलन की समस्या हो सकती है.
  • 24 घंटे ब्रा पहनने से आपके स्तनों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है.
  • हमेशा ब्रा पहनने से कंधे में दर्द की समस्या भी हो सकती है.

  • 24 घंटे ब्रा पहनने से फंगस या बैक्टीरिया की समस्या भी आपको हो सकती है.
  • हमेशा ब्रा पहनने वाली महिलाओं के ब्रा के आसपास के हिस्से का रंग शरीर के सामान्य रंग से अलग हो जाता है.
  • 24 घंटे ब्रा पहनने से स्तनों में गांठ होने की सम्भावना बढ़ जाती है.
  • तो आप भी 24 घंटे ब्रा पहनने की आदत को अलविदा बोलिए और निश्चिन्त रहिये.
  • साथ हीं रात में ढीले कपड़े पहनकर सोने की आदत डालिए.
  • आई पिल के 28 साइड इफ़ेक्ट फायदे I Pill side effects in hindi tablet नुकसान प्रभाव

 

ये 9 गलतियाँ कर देंगी आपको प्रेग्नेंट || Pregnancy Se Bachne Ke Upay in Hindi

pregnancy se bachne ke upay in hindi – प्रेग्नेंसी से बचने के उपाय – pregnancy se bachne ke upay in hindi – प्रेग्नेंसी से बचने के उपाय – pregnancy se bachne ke upay in hindi – प्रेग्नेंसी से बचने के उपाय – pregnancy se bachne ke upay in hindi – प्रेग्नेंसी से बचने के उपाय – pregnancy se bachne ke upay in hindi – प्रेग्नेंसी से बचने के उपाय – pregnancy se bachne ke upay in hindi – प्रेग्नेंसी से बचने के उपाय
ये 9 गलतियाँ कर देंगी आपको प्रेग्नेंट || Pregnancy Se Bachne Ke Upay in Hindi

  • कई बार ऐसा होता है कि आप Pregnant होना नहीं चाहती हैं, आप Condom या अन्य precautions का भी use करती हैं. फिर भी आप गर्भवती हो जाती हैं. Condom का उपयोग करने के बाद भी आप Pregnant हो सकती हैं, अगर आप ये 9 गलतियाँ करती हैं. इस लेख में हम इन्हीं 9 गलतियों के बारे में जानेंगे, जो protection use करने के बाद भी आपको गर्भवती कर सकती है.
  • कई बार ऐसा होता है कि Male Partner कॉन्डोम जल्दबाजी में उल्टा पहन लेता है, और उसके प्राइवेट पार्ट में वीर्य हल्का निकला हुआ होता है. तो जब वह कॉन्डोम को सीधा करके पहनता है, तो कॉन्डोम का वह भाग जिसमें पहले हीं वीर्य लग चुका होता है. सम्भोग के दौरान सुरक्षा देने की बजाए…. स्त्री की योनी के सम्पर्क में आ जाता है. और इस तरह कॉन्डोम का उपयोग करने के बावजूद स्त्री का गर्भ ठहर जाता है.
  • गुदा मैथुन या Anal sex करने पर भी गर्भ ठहरने का खतरा बना हुआ रहता है. क्योंकि इस पोजीशन में सम्भोग करने के बाद भी वीर्य के स्त्री के अंडाणु के सम्पर्क में आने की सम्भावना बनी रहती है.
  • कभी-कभी ऊँगली या नाख़ून लगने से कॉन्डोम में छोटा छेद हो जाता है. और फिर उसी कॉन्डोम का उपयोग करने से वह सुरक्षा देने में असमर्थ हो जाता है. इसलिए कॉन्डोम को सावधानी से खोलें और पहनें.
  • ड्राई इंटरकोर्स फोरप्‍ले करते वक्‍त अगर आपने अंडरवेयर पहनी है और आपके साथी का वीर्य लीक हो कर फैबरिक के अंदर से होते हुए योनी तक पहुंच जाए तो भी आप प्रेगनेंट हो सकती हैं.
  • अगर आप प्रेग्नेंट हैं और इस दौरान भी असुरक्षित सम्बन्ध बनाती है. तो भी आपके गर्भ ठहरने की सम्भावना बनी रहेगी.
  • कई लोग सेक्‍स करने के दौरान ऑयल लगाकर, कंडोम का इस्‍तेमाल करते हैं. इससे कंडोम फिसलता है और उसमें छेद हो जाता है.
  • अगर आप गर्भनिरोधक गोलियाँ खाती हैं और सम्बन्ध बनाने वाले एक भी दिन गोली नहीं खाती हैं. तो आप आसानी से गर्भवती होती हैं.
  • कभी-कभी पुरूष अपने वीर्य को हाथ से छूने के बाद महिला की योनि में उंगली डालकर फिंगरिंग करता है.
    ऐसा करने से भी महिला गर्भवती हो सकती है.
  • कई बार साथ-साथ नहाने से भी गर्भ ठहर जाता है.
  • तो ऊपर बताए गये बातों का ध्यान रखें, ताकि अनचाही प्रेगनेंसी आपको परेशान न कर सके.
    और हमें यह जरुर बताएँ कि आपको यह लेख कैसा लगा.
  • शीघ्रपतन रोकने के 28 उपाय | Shighrapatan Rokne Ke Upay in Hindi desi dawa

गर्भपात के बाद क्या न खाएँ || Garbhpat ke Bad kya na khaye kya parhej karein

garbhpat ke bad kya na khaye kya parhej karein – garbhpat ke bad kya kya na khaye kya parhej karein – गर्भपात के बाद क्या-क्या न खाएँ – गर्भपात के बाद क्या न खाएँ || Garbhpat ke Bad kya na khaye kya parhej karein – गर्भपात के बाद क्या न खाएँ || Garbhpat ke Bad kya na khaye kya parhej karein – गर्भपात के बाद क्या न खाएँ || Garbhpat ke Bad kya na khaye kya parhej karein
गर्भपात के बाद क्या न खाएँ || Garbhpat ke Bad kya na khaye kya parhej karein

 

  • Garbhpat ke Bad kya na khaye kya parhej karein || गर्भपात के बाद क्या न खाएँ ||

 

  • गर्भपात करना किसी भी स्त्री के लिए आसान नहीं होता है, न तो शारीरिक रूप से और न मानसिक रूप से. गर्भपात के बाद की स्थिति किसी भी महिला के लिए चुनौतीपूर्ण और तकलीफ देने वाली होती है. ऐसे में प्रत्येक महिला को जानना चाहिए कि गर्भपात के बाद आपको क्या-क्या नहीं खाना चाहिए. गर्भपात के बाद महिला का शरीर कमजोर हो जाता है, इसलिए महिला को अपने खानपान का विशेष ध्यान रखना चाहिए.
  • गर्भपात के बाद आपको ये खाद्य पदार्थ नहीं खाने चाहिए Garbhpat ke Bad kya na khaye kya parhej karein :
  • तले-भूने हुए खाद्य पदार्थ –

    गर्भपात के बाद महिला को तेल-मसाले वाले खाद्य पदार्थों और तले-भूने खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचना चाहिए.
    साथ हीं गर्भपात के बाद पौष्टिक भोजन करना चाहिए और उचित मात्रा में भोजन करना चाहिए.

  • सोया Product –
    गर्भपात के वक्त स्त्री के शरीर से बहुत अधिक मात्रा में आयरन की खपत होती है. इसलिए गर्भपात के बाद सोया products
    खाने की सलाह नहीं दी जाती है, क्योंकि यह शरीर में आयरन की मात्रा को कम करता है. इसलिए गर्भपात करने
    के बाद स्त्री को अपने भोजन में आयरन युक्त भोज्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए.
  • डिब्बाबंद और ठन्डे पदार्थ – गर्भपात के बाद महिला को न हीं डिब्बाबंद आहार का सेवन करना चाहिए और न ही
    बहुत ज्यादा ठन्डे पदार्थों का. क्योंकि, बहुत ज्यादा ठंडे पदार्थ आपको नुकसान पहुंचा सकते हैं. अगर आपने
    गर्भपात किया हो, तो आपको अपने आहार में गर्म चीजों को शामिल करना चाहिए, ताकि आपका शरीर गर्म रहे.
  • कॉफी में कैफीन की मात्रा अधिक होने के कारण गर्भावस्था के दौरान कॉफ़ी पीने की सलाह नहीं दी जाती है.
    और कॉफ़ी को बच्चेदानी के लिए अच्छा नहीं माना जाता है.
  • गर्भपात के बाद आपको fast food और बाहर के खुले खानों को खाने से बचना चाहिए.

  • गर्भपात के बाद फिर से माँ बनने से पहले को शारीरिक और मानसिक रूप से खुद को सामान्य होने के लिए समय देना चाहिए.
  • गर्भपात के नुकसान दुष्परिणाम हानि Garbhpat Ke Nuksan Dushparinam Hani remedie
  • Garbhpat ke gharelu Nuskhe in hindi – गर्भपात के घरेलू नुस्खे गर्भपात के उपाय

 

पीरियड के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी ! period ke kitne din baad pregnancy hoti hai

Period Ke Kitne din baad Pregnancy hoti hai पीरियड के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी – Period Ke Kitne din baad Pregnancy hoti hai पीरियड के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी- Period Ke Kitne din baad Pregnancy hoti hai पीरियड के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी – Period Ke Kitne din baad Pregnancy hoti hai पीरियड के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी – Period Ke Kitne din baad Pregnancy hoti hai पीरियड के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी – Period Ke Kitne din baad Pregnancy hoti hai पीरियड के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी- Period Ke Kitne din baad Pregnancy hoti hai पीरियड के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी
Period Ke Kitne din baad Pregnancy hoti hai - Pregnant Kaise Hote Hai

 

  • Period Ke Kitne din baad Pregnancy hoti hai – Pregnant Kaise Hote Hai

 

  • Har pati patni is question ka answer janna chahte hain ki period ke kitne din baad pregnancy hoti hai. Aaj is article mein hum isi swal ka jwab aapko btane jar he hain. Jyadatar log is bat ko nahi jante hain ki kab sambhog karne se pregnancy hoti hai. Lekin is swal ka jwab janna bhut jaruri hai. Purush ke shukranu ka mahila ke garbh mein jane se garbhdharan hota hai. Jab purush ka shukranu mahila ke andanu se milta hai to garbh thaharta hai. Waise to garbh na thaharne ke kai karan ho skte hain, lekin sahi samay par sambhog nhi karna bhi iska ek karan ho skta hai. Aaiye jante hain period ke kitne din baad pregnancy hoti hai aur koun-koun si baton ka dhyan rakh kar aap aasani se pregnant ho skti hain. Aur koun koun si aise karan hote hain, jo pregnant hone mein proble create karte hain.
  • Aapke period ki bleeding jis din band hoti hai, uske thik agle din sambhog karne se pregnancy ke chance jyada hote hain. Example: agar aapke period ki bleeding aaj khatm hui hai, to kal sex karne se aapke pregnant hone ke chance sabse jyada honge.
  • Periods ke turant bad sex karne se phle apni saf-safai ka pura dhyan rakhein. Periods puri tarah khatm ho jane dein. Tabhi garbhdharan ki or badhein.
  • Periods start hone wale din se 16th din tak sambhog karne se pregnancy ki sambhawna sabse jyada hoti hai.

  • Waise pregnancy kisi bhi din asurakshit sex karne se ho skti hai. Isliye agar aap baby chahte hain to samay samay par sambhog karte rahein. Aur agar aap pregnancy nhi chahte hain to bina protection ke kabhi sambhog na karein.
  • Is bat ka dhyan rkhein ki bar bar garbhpat mahila ko nuksan pahunchata hai aur bad mein pregnant hone mein bhi samasya khadi kar skta hai.

 

  • Aur agar aap pregnancy chate hain to phle women ko healthy hona chahiye. Agar aap baby ki planning kar rahe hain, to aapko phle hi kisi doctor ki slah leni chahiye. Taki aapka baby healthy ho.
  • ovulation period ke douran pregnancy ke chance sabse jyada hote hain. Apne ovulation period ka pta lgane ke liye aapko kisi doctor se contact karna chahiye.
  • Agar purush apni mahila sathi ko sahwas ke douran orgasm tak pahunchata hai, to isse pregnancy ke chance bahut badh jate hain. Isliye male partner ko chahiye ki aap apne female partner ko orgasm tak pahunchayein.
  • Morning ka time pregnancy ke liye bhut achchha hota hai.
  • Agar garbh thaharne mein koi samasya ho to bhi doctor se contact krein. Agar koi khas jankari janni ho to bhi doctor turant meinl.
  • श्वेत प्रदर सफेद पानी के 21 घरेलू इलाज Safed pani ka ilaj leucorrhea likoria upay

 

एचआईवी एड्स के 12 लक्षण || HIV Aids Symptoms in hindi Information details

HIV Aids Symptoms in Hindi – HIV Aids Symptoms in Hindi – HIV Aids Symptoms in Hindi – hiv aids in hindi – hiv symptoms in hindi – hiv aids information in hindi – hiv test in hindi – hiv kaise hota hai in hindi – hiv information in hindi – hiv ke lakshan in hindi – 7 HIV Aids Symptoms in hindi Information details || एचआईवी एड्स सिम्पटम्स  – hiv treatment in hindi – hiv positive treatment in hindi – hiv aids symptoms in hindi – hiv positive symptoms in hindi – symptoms of hiv in hindi – hiv aids treatment in hindi – hiv aids in hindi information – hiv in hindi information – hiv aids in hindi pdf – hiv details in hindi – hiv aids ke lakshan in hindi – hiv aids treatment in hindi language – hiv symptoms in hindi language – hiv cure in hindi – hiv in hindi symptoms – hiv aids information in hindi pdf – hiv aids symptoms in male in hindi – hiv aids information in hindi language – hiv aids ka ilaj in hindi – hiv ke lakshan kya hai in hindi – hiv in hindi pdf – hiv medicine in hindi – ayurvedic treatment for hiv in hindi – एचआईवी का इलाज – एचआईवी एड्स – एचआईवी टेस्ट – पुरुषों में एचआईवी के लक्षण – एचआईवी का इलाज 2016 – एचआईवी क्या है – एचआईवी लक्षण
स्त्रियों / पुरुषों में एचआईवी के लक्षण - HIV Aids Symptoms in Hindi Information Details

 

  • HIV एक ऐसी बीमारी है, जिसके बारे में जितनी जल्दी पता चल जाए, उतना अच्छा है. एचआईवी एड्स एक यौन संचारित रोग है. शुरुआत में इस बीमारी का इलाज नहीं करने से यह एड्स का रूप ले लेती है. इस लेख में हम HIV के लक्षणों के बारे में जानेंगे.

 

  • एचआईवी HIV के शरुआती लक्षण:
  • हमेशा बिना किसी कारण के हमेशा थकान महसूस करना HIV का लक्षण हो सकता है.
    और अगर थकावट हद से ज्यादा हो, तो आपको इसे बिल्कुल गम्भीरता से लेने की जरूरत है.
  • अगर कम उम्र में हीं आपके जोड़ों में बहुत ज्यादा दर्द रहने लगे और सूजन होने लगे, तो यह भी
    HIV का एक लक्षण हो सकता है.
  • हर दो-तीन दिन में बुखार आ जाना और ऐसा बार-बार लगातार होना HIV का लक्षण हो सकता है.
  • बिना किसी ठोस कारण के मांसपेशियों में तनाव या अकड़न होना भी HIV का लक्षण हो सकता है.
  • अगर आपको अक्सर गला पकने की शिकायत हो, तो यह भी HIV का एक लक्षण हो सकता है.
    गले में अक्सर खरास रहना, इसका लक्षण है.
  • बिना किसी कारण, अगर आपके सर में अक्सर दर्द रहता है और दिन चढ़ने के साथ दर्द बढ़ता जाता है,
    तो यह भी HIV का एक लक्षण हो सकता है.
  • अगर धीरे-धीरे आपका वजन जरूरत से ज्यादा कम होता हीं जा रहा है, तो यह भी HIV का लक्षण हो सकता है.

  • अक्सर शरीर में लाल-लाल चकते हो जाना या रैसेज हो जाना भी HIV का एक लक्षण हो सकता है.
  • अगर आप बिना किसी कारण के अक्सर तनावग्रस्त हो जाते हैं, तो यह भी HIV का एक लक्षण हो सकता है.
  • खाना खाने के बाद अक्सर बिना किसी कारण के उल्टी आ जाना या जी मचलना भी HIV का एक लक्षण हो सकता है.
  • अगर मौसम सामान्य रहने के बावजूद आपको अक्सर जुकाम की समस्या रहती हो, नाक बहता रहे
    तो यह भी HIV का एक लक्षण हो सकता है.
  • HIV Aids से बचने का सबसे अच्छा उपाय यह है कि आप सम्बन्ध बनाते समय हमेशा कॉन्डोम का उपयोग करें.
  • अगर आपको HIV की आशंका हो, तो तुरन्त डॉक्टर से जाँच करवाएँ.
  • 10 Dangerous Sex Positions in Hindi || खतरनाक सेक्स पोजीशन about info

 

error: Content is protected !!