27 चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Quotes in Hindi Book Online चाणक्य नीति

chanakya quotes in hindi with images Chanakya Quotes in Hindi – Chanakya Quotes in Hindi – chanakya quotes hindi – motivational quotes in hindi by chanakya – chanakya quote in hindi – acharya chanakya neeti hindi – chanakya neeti quotes in hindi – quotes of chanakya in hindi चाणक्य नीति हिंदी में  – motivational quotes in hindi by chanakya – chanakya niti quotes in hindi – quotes of chanakya in hindi – acharya chanakya quotes in hindi – chanakya quotes in hindi for success – famous quotes of chanakya in hindi – chanakya quotes on love in hindi – chanakya niti in hindi books – chanakya niti book in hindi – chanakya niti in hindi book online – chanakya niti quotes in hindi – acharya chanakya niti in hindi – chanakya niti shastra in hindi – chanakya niti book in hindi pdf free download – chanakya niti for success in hindi – chanakya niti for students in hindi – chanakya niti in hindi pdf – chanakya niti in hindi book pdf free download – chanakya niti in hindi download books
chanakya niti pdf in hindi – chanakya niti in hindi pdf file full download — chanakya niti in hindi download – chanakya niti shastra in hindi pdf – chanakya niti in hindi pdf download – chanakya niti in hindi image – chanakya niti about marriage in hindi – चाणक्य नीति – चाणक्य नीति हिंदी में – चाणक्य के अनमोल विचार – चाणक्य नीति स्त्री – अनमोल वचन चाणक्य – आचार्य चाणक्य – चाणक्य नीति इन हिंदी – चाणक्य विचार – चाणक्य नीति हिंदी चाणक्य नीति सूत्र – चाणक्य के विचार – सम्पूर्ण चाणक्य नीति हिंदी में – आचार्य चाणक्य के विचार सम्पूर्ण चाणक्य नीति – आचार्य चाणक्य नीति – चाणक्य कोट्स – चाणक्य नीति दर्पण – चाणक्य नीती

 

  • चाणक्य नीति

 

  • आतुरे व्यसने प्राप्ते दुर्भिक्षेत्र शत्रुसंकटे।
    राजद्वारे श्मशाने च यस्तिष्ठति स बांधव:।
    अर्थ- जो व्यक्ति बीमारी में, दुख में, गरीबी में, शत्रु द्वारा कोई संकट खड़ा करने पर, शासकीय कार्यों में और
    परिवार में किसी की मृत्यु के समय हमारे साथ उपस्थित रहे, वही हमारा शुभचिंतक है. इन परिस्थितियों
    में साथ निभाने वाले व्यक्ति का साथ कभी छोड़ना नहीं चाहिए.
  • बुद्धिमान व्यक्ति भी तब घोर परेशानी से घिर जाता है, जब वह किसी मूर्ख व्यक्ति को यह समझाने की कोशिश
    करता है कि सही क्या है और गलत क्या है.
  • अच्छा मनुष्य भी तब कष्ट भोगता है, जब उसे दुष्टा पत्नी का पालन पोषणकरना पड़ता है.
    जब कोई व्यक्ति किसी दुखी व्यक्ति के साथ बहुत ज्यादा मेलजोल बढ़ा लेता है, तो उसे भी कष्ट उठाना पड़ता है.
  • बुरी पत्नी, झूठा दोस्त, बदमाश नौकर और साँप के साथ रहना मरने जैसा होता है.
  • हर व्यक्ति को भविष्य में आने वाली मुसीबतों से निपटने के लिए धन जमा करना चाहिए. और जरूरत
    पड़ने पर धन-दौलत का त्याग करके भी अपनी पत्नी की रक्षा करनी चाहिए. लेकिन जब आत्मा के रक्षा
    की बात आए तो उसे धन और पत्नी दोनों को तुच्छ समझना चाहिए.
  • भविष्य में आने वाली मुसीबतों के लिए धन एकत्रित करना चाहिए.
  • उस स्थान में निवास नहीं करना चाहिए, जहाँ आपकी ईज्जत न हो, जहाँ आप जीविका चलाने के लिए
    धन नहीं कमा सकते हैं, जहाँ आपका कोई दोस्त नहीं हो और जहाँ आप ज्ञान की बात नहीं सीख सकते हैं.
  • ऐसे स्थान पर 1 दिन भी नहीं रहना चाहिए. जहाँ निम्न 5 न हों : एक अमीर व्यक्ति, वेदों को जानने
    वाला ब्राह्मण हो, एक राजा, एक नदी , और एक डॉक्टर.
  • बुद्धिमान व्यक्ति को ऐसे देश में कभी नहीं जाना चाहिए – जहाँ पैसा कमाने का कोई साधन न हो, जहाँ

    लोगों में सही-गलत का डर न हो, जहाँ लोगों में शर्म न हो, जहाँ के लोग बुद्धिमान न हों, जहाँ लोग दान

    -धर्म न करते हों.

  • नौकर की परीक्षा तब होती है,जब वह कर्तव्य का पालन  नहीं करता है. रिश्तेदारों की परीक्षा तब होती है,
    जब आप पर कोई मुसीबत आती है. दोस्त की परीक्षा मुश्किल घड़ी में होती है. और जब बुरे समय में
    पत्नी की परीक्षा होती है.
  • अच्छा दोस्त वही है जोआपको निम्न स्थितियों में अकेला नहीं छोड़ता है :
    जरूरत पड़ने पर.
    2. किसी दुर्घटना पड़ने पर.
    3. अकाल पड़ने पर.
    4. जब युद्ध हो रहा हो.
    5. जब आपको राजदरबार में जाना पड़े.
    6. और जब आपको श्मशान घाट जाना पड़े.

 

  • जो व्यक्ति किसी नाशवान वस्तु के लिए,कभी नाश नहीं होने वाली चीज को छोड़ देता है, तो उसके हाथ से
    अविनाशी वस्तु तो चली हीं जाती है और इसमें भी कोई संदेह नहीं कि वह नाशवान वस्तु को भी खो देता है.
  • हमें इज्जतदार घर की कन्या से हीं विवाह करना चाहिए. किसी बुरे घर की बहुत सुंदर कन्या से कभी
    विवाह नहीं करना चाहिए. विवाह हमेशा बराबरी वाले घरों में अच्छा होता है.
  • इन 5 लोगों पर कभी विश्वास न करें :
  1. नदियाँ
  2. जिन लोगों के पास अस्त्र-शस्त्रहो
  3. नाखून और सींग वालेजानवर
  4. औरतें
  5. राजघराने के लोगों पर
  • अगर हो सके तो विष  से भी अमृत निकाल लेना चाहिए, यदि सोना गंदे स्थान में भी गिरा हुआ हो तो
    उसे उठा लेना चाहिए, नीच कुल में जन्म लेने वाले व्यक्ति से भी ज्ञान की बातें सीखनी चाहिए, बदनाम
    घर की स्त्री भी महान गुणों से सम्पन्न हो, तो उसे ग्रहण करना चाहिए.

 

  • महिलाओं में पुरुषों की अपेक्षा: भूख 2 गुना, लज्जा 4 गुना, साहस 6 गुना, और काम 8 गुना अधिक होती है.

  • भोजन के योग्य पदार्थों की हमेशा उपलब्धता और भोजन करने की क्षमता, सुन्दर पत्नी और उसे भोगने के लिए पर्याप्त काम शक्ति, पर्याप्त धन और दान देने की भावना – ये सारी चीजें विशेष तप के फलस्वरूप प्राप्त होती है.
  • उस व्यक्ति के लिए धरती पर हीं स्वर्ग है : 1. जिसका बेटा आज्ञाकारी है 2. जिसकी पत्नी उसकी इच्छा के अनुसार व्यवहार करती हो 3. जिसे अपने पास के धन पर संतोष है.
  • पुत्र वही है जो पिता का कहना मानता हो, पिता वही है जो पुत्रों का पालन-पोषण करता हो, मित्र वही है
    जिस पर विश्वास किया जा सकता है और पत्नी वही है जिससे सुख मिले.

 

  • ऐसे लोगों से दूर रहें जो आपके मुँह में तो मीठी-मीठी बातें करते हैं, लेकिन आपके पीठ पीछे आपको
    बर्बाद करने की योजना बनाते हैं, ऐसे लोग उस जहर भरे घड़े के समान होते हैं, जिसकी ऊपरी सतह
    दूध से भरी है, लेकिन नीचे जहर हीं जहर भरा हुआ है.
  • बुरे दोस्त पर कभी विश्वास नहीं करना चाहिए. साथ हीं एक अच्छे दोस्त पर भी विश्वास नहीं करना
    चाहिए. क्योंकि यदि ऐसे लोग आपसे रुष्ट होंगे, तो आपके सभी राज सभी को बता देंगे.
  • मन में सोचे हुए काम को किसी को नहीं बताना चाहिए. बल्कि गम्भीरता से चिन्तन करते हुए,
    उसकी रक्षा करते हुए उस कार्य को सम्पादित कर देना चाहिए.
  • मुर्खता दुःख देने वाली है, जवानी भी दुःख देने वाली है, लेकिन इन दोनों से कहीं अधिक दुःख
    देने वाली चीज है, किसी दूसरे व्यक्ति के घर में जाकर उसका अहसान लेना.

 

  • हर पर्वत पर माणिक्य नहीं होते, हर हाथी के सिर पर मणी नहीं होता, सज्जन पुरुष भी हर जगह नहीं होते और हर वन में चंदन के पेड़ नहीं होते हैं.
  • बुद्धिमान पिता अपने पुत्रों को अच्छे गुणों की शिक्षा देता है. क्योंकि नीतिज्ञ और ज्ञानी लोगों हीं कुल में महत्व मिलता है.
  • प्यार और दोस्ती बराबर वाले लोगों के बीच में हीं अच्छी होती है, राजा के यहाँ नौकरी करने वाले को हीं सम्मान मिलता है, वाणिज्य सबसे अच्छा व्यवसाय है, और अच्छे गुणों वाली स्त्री अपने घर में सुरक्षित रहती है.
  • जो व्यक्ति दुराचारी, बुरी दृष्टि वाले, और बुरे स्थान में रहने वाले व्यक्ति के साथ दोस्ती करता है, जल्दी हीं उसका नाश हो जाता है.

 

अगर आप कविता, शायरी, Article इत्यादि लिखने में सक्षम हैं, तो हमें अपनी रचनाएँ 25suvicharhindi@gmail.com पर भेजें. आपकी रचनाएँ मौलिक और अप्रकाशित होनी चाहिए.

10 COMMENTS

  1. Thank for motivation thght

  2. Thank fr thght

    Jevan jene k adhar hai

  3. JiVan jine ke aadhar hai yevichar.

  4. Aage jivan jine Me bahot help milegi..
    Thanks

  5. bhut badjhiya very good ya

  6. complete more best about complete by acharya chanakya niti neeti motivational political quotes quote of thoughts on love women with images by chanakya in hindi – www http://www.chanakyaniti चाणक्य नीति हिंदी में

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here