Breaking News

Child Poem in Hindi font Hindi Poems for Kids बच्चों के लिए कविता Kavita

child poem in hindi font – Child Poem in Hindi font Hindi Poems for Kids बच्चों के लिए बेहतरीन कविता Kavita – Child Poem in Hindi font Hindi Poems for Kids बच्चों के लिए बेहतरीन कविता Kavita

 

  • इक बूँद

 

  • इक बूँद चली
    घर से निकली
    गिरती पड़ती
    डगमग करती
    पत्थर आये
    धोखे खाये
    पर नहीं रुकी
    ना कहीं झुकी
    गिरती पड़ती
    डगमग करती
    फिर रस्ते में
    इक और मिली
    नन्ही सी बूँद
    बन गयी बड़ी
    चलती ही गयी
    बढ़ती ही गयी
    अब साथ में उसके
    चार चलीं
    फिर आठ हुईं
    अब लहर बनी
    कोई रोक नहीं
    कोई टोक नहीं
    मंज़िल की भी
    परवाह नहीं
    इक नयी राह
    एक निडर चाह
    इक दुनिया नयी
    बसाने की
    मन में निश्चय
    न कोई भय
    अब फिक्र न रही
    ज़माने की
    – कुमुद सोधानी
  • If we walk together
    Anything is achievable.
  • बचकाने से शब्द

  • बचकाने से शब्द कई आये हैं मेरी ड्योढ़ी पर
    उचक उचक कर पूछ रहे हैं क्या हम आजायें अंदर
    कुछ सूखे कुछ भीगे से हैं, कुछ जाने पहचाने हैं
    चिरपरिचित यादों में खोये क्या ये कोई बहाने हैं
    कभी यही अपने से लगते, घुलमिल बातें करते हैं
    और कभी अनदेखा करके, मुंह फेरे चल देते हैं
    ये शब्दों की आंख मिचौली बस इनकी मनमानी है
    कभी धूप तो कभी फुहारें हर जीवन की कहानी है.
    – कुमुद सोधानी

 

  • ik boond

  • ik boond chalee
    ghar se nikalee
    giratee padatee
    dagamag karatee
    patthar aaye
    dhokhe khaaye
    par nahin rukee
    na kaheen jhukee
    giratee padatee
    dagamag karatee
    phir raste mein
    ik aur milee
    nanhee see boond
    ban gayee badee
    chalatee hee gayee
    badhatee hee gayee
    ab saath mein usake
    chaar chaleen
    phir aath hueen
    ab lahar banee
    koee rok nahin
    koee tok nahin
    manzil kee bhee
    paravaah nahin
    ik nayee raah
    ek nidar chaah
    ik duniya nayee
    basaane kee
    man mein nishchay
    na koee bhay
    ab phikr na rahee
    zamaane kee
    –    kumud sodhaanee
  • bachakaane se shabd

  • bachakaane se shabd kaee aaye hain meree dyodhee par
    uchak uchak kar poochh rahe hain kya ham aajaayen andar
    kuchh sookhe kuchh bheege se hain, kuchh jaane pahachaane hain
    chiraparichit yaadon mein khoye kya ye koee bahaane hain
    kabhee yahee apane se lagate, ghulamil baaten karate hain
    aur kabhee anadekha karake, munh phere chal dete hain
    ye shabdon kee aankh michaulee bas inakee manamaanee hai
    kabhee dhoop to kabhee phuhaaren har jeevan kee kahaanee hai.
    – kumud sodhaanee
  • रिश्तों पर कविता – Relationship Poems in Hindi – रिश्तों की एहमियत

 

अगर आप कविता, शायरी, Article इत्यादि लिखने में सक्षम हैं, तो हमें अपनी रचनाएँ 25suvicharhindi@gmail.com पर भेजें. आपकी रचनाएँ मौलिक और अप्रकाशित होनी चाहिए.

Previous Short Poem On River in Hindi नदी पर कविता Nadi Poem in Hindi Nadi kavita
Next 21 Quality Slogan in Hindi Quality Slogan in Hindi क्वालिटी पर स्लोगन श्लोग्न

Check Also

Rani Padmavati Poem in Hindi – रानी पद्मावती का जौहर कविता Padmini kavita

Rani Padmavati poem in hindi – Rani Padmavati Poem in Hindi – रानी पद्मावती का जौहर …

Leave a Reply

Your email address will not be published.