गुड मॉर्निंग कविता हिन्दी में – Good Morning Poem in Hindi

Good Morning Poem in Hindi – Good Morning Poem in Hindi – गुड मोर्निंग पोएम इन हिन्दी – Good Morning Poem in Hindi – गुड मोर्निंग पोएम इन हिन्दी – Good Morning Poem in Hindi
गुड मोर्निंग पोएम इन हिन्दी - Good Morning Poem in Hindi

 

  • रंग चक्र

 

  • रंगों का चक्र पहले भी था, है और रहेगा,
    इन चक्रों से प्रतिदिन किसी न किसी नए रंग को अस्तित्व मिलता रहेगा
    कहीं बच्चे के जन्म की खुशी का रंग है,
    तो कहीं किसी के मौत की गोद में जाने का
    एक तरफ सूर्ख और पीले रंग से किसी लड़की के जीवन में सौभाग्य का आगमन हो रहा हैं
    तो दूसरी तरफ किसी के जीवन में दुःख और निरसता से भरे रंग का
    कहीं काली अंधेरी रात में सपनों का खट्टा-मिठा रंग हैं,
    तो दूसरी ओर शरहदों पर रक्त की होली
    जो रात्रि के अंधकार में भी दिव्य ज्योति जला दे ऐसी वीरता का
    कहीं बच्चों के कोमल मन में सभी के लिए प्यार, निस्वार्थ भाव, होंठो पर मंद-मंद सी मुस्कान का रंग है
    तो दूसरी ओर द्वेष, इर्ष्या, जलन, क्रोध और एक दूसरे के लिए विनाश का
    एक तरफ खेतों में किसान के पसीने का लहलहाता हुआ रंग है
    तो दूसरी तरफ उन्हीं खेतों पर बिल्डिंग बनाने की होड़ का
    हवाओं में आज भी कहीं न कहीं लैला-मजनू के पवित्र प्रेम की खुशबू का रंग है
    तो कहीं प्रेम में छलावे का!
    कहीं भवरों के महीनों की मेहनत का रंग है, तो कहीं उसे लूटने वाले लोगों के छल का
    जहाँ भी देखो रंग चक्र है हर तरफ
    – नमिता कुमारी
  • rang chakr
    rangon ka chakr pahale bhee tha, hai aur rahega,
    in chakron se pratidin kisee na kisee nae rang ko astitv milata rahega
    kaheen bachche ke janm kee khushee ka rang hai,
    to kaheen kisee ke maut kee god mein jaane ka
    ek taraph soorkh aur peele rang se kisee ladakee ke jeevan mein saubhaagy ka aagaman ho raha hain
    to doosaree taraph kisee ke jeevan mein duhkh aur nirasata se bhare rang ka
    kaheen kaalee andheree raat mein sapanon ka khatta-mitha rang hain,
    to doosaree or sharahadon par rakt kee holee
    jo raatri ke andhakaar mein bhee divy jyoti jala de aisee veerata ka
    kaheen bachchon ke komal man mein sabhee ke lie pyaar, nisvaarth bhaav, hontho par mand-mand see muskaan ka rang hai
    to doosaree or dvesh, irshya, jalan, krodh aur ek doosare ke lie vinaash ka
    ek taraph kheton mein kisaan ke paseene ka lahalahaata hua rang hai
    to doosaree taraph unheen kheton par bilding banaane kee hod ka
    havaon mein aaj bhee kaheen na kaheen laila-majanoo ke pavitr prem kee khushaboo ka rang hai

अगर आप कविता, शायरी, Article इत्यादि लिखने में सक्षम हैं, तो हमें अपनी रचनाएँ 25suvicharhindi@gmail.com पर भेजें. आपकी रचनाएँ मौलिक और अप्रकाशित होनी चाहिए. अपनी रचनाएँ हिन्दी में टाइप करके भेजिए.

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here