हिन्दी दिवस स्लोगन – Hindi Diwas Slogans – हिंदी दिवस पर नारे

Hindi Diwas Slogans – हिंदी दिवस पर नारे

 

  • हिन्दी है भारत के एकता और अखंडता की पहचान
    हिन्दी हीं तो है मेरे भारत की जान.

 

  • जब भारत करेगा हिन्दी का सम्मान
    तभी तो आगे बढ़ेगा हिन्दुस्तान.
  • हिन्दी है भारत की आशा
    हिन्दी है भारत की भाषा.
  • हर भारतीय की शक्ति है हिन्दी
    एक सहज अभिव्यक्ति है हिन्दी.
  • जब तक हिन्दी नहीं बनेगी, गरीबों की शक्ति
    तब तक देश को नहीं मिलेगी, गरीबी से मुक्ति.
  • हिन्दी ने देश को जोड़े रखा है
    हमारे मतभेदों को तोड़े रखा है.
  • हिन्दी का पतन भारत का पतन है.
  • हर दिन नया विहान है हिन्दी
    मेरे हिन्द की प्राण है हिन्दी.
  • निज भाषा का जो नहीं करते सम्मान
    वे कहीं नहीं पाते हैं सम्मान.
  • हिन्दी के बिना न तो आजादी पाई जा सकती थी
    और न तो हिन्दी के बिना आजादी बरकरार रह सकती है.
  • भारत के गाँवों और कस्बों की भाषा है हिन्दी
    शहरों और गाँवों की ताकत है हिन्दी.
  • हिन्दुस्तान के लिए हिन्दी से अच्छी कोई भाषा नहीं हो सकती है.
  • हिन्दी हीं वह भाषा है, जिसने भारत की आजादी के लौ को कभी कम नहीं होने दिया.
  • अंग्रेजी भारत के लिए उपयोगी है, लेकिन हिन्दी भारत के लिए जरूरी है.
  • हिन्दी का महत्व इसी बात से समझा जा सकता है कि चाहे किसी नेता, अभिनेता या व्यापारी को हर भारतीय तक अपनी बात पहुंचानी होती है, तो उसे हिन्दी का उपयोग करना हीं पड़ता है.
  • हिन्दी के बिना भारत गूंगा हो जाएगा.
  • हिन्दी हम अपनाएंगे. राष्ट्र की शान बढ़ाएंगे.
  • हिन्दी एक जानदार और शानदार भाषा है.
  • हिन्दी हीं एक मात्र भाषा है, जिसने भारत को एक सूत्र में पिरोये रखा है.
  • हिन्दी चिरकाल से हीं एक ऐसी भाषा रही है, जिसने मात्र विदेशी होने के कारण किसी भी शब्द का बहिष्कार नहीं किया है.
  • हिन्दी से आसान दूसरी कोई भाषा नहीं है.
  • मातृभाषा के बिना स्वतन्त्रता बरकरार नहीं रह सकती है.

 

अगर आप कविता, शायरी, Article इत्यादि लिखने में सक्षम हैं, तो हमें अपनी रचनाएँ 25suvicharhindi@gmail.com पर भेजें. आपकी रचनाएँ मौलिक और अप्रकाशित होनी चाहिए. अपनी रचनाएँ हिन्दी में टाइप करके भेजिए.

SHARE

6 COMMENTS

  1. Bht hi acchi lines h mai respect krti hu apni rastra bhasa ka
    Jai hind

  2. Wow !!!!!! Kavita mast hai……

  3. नरेंद्र सिंह

    हिंदी लिखो,हिंदी पढो,हिंदी बोलो \\

    हिंदी लिखो,हिंदी पढो,हिंदी ही तो बोलो,

    हिंदी में सब काम करो , हिंदी में मुख खोलो \

    स्वदेशी को इंकार कर ,गुलामी की आहें मत भरो

    अंग्रेजी को गले लगाकर , हिंदी से मत डरो \

    हिंदी ही है हिंदुस्तान की असली निशानी

    हिंदी के प्रयोग में करो न आना कानी \

    केवल हिंदी पर है ,भारत माता को नाज़

    हिंदी को अपनाकर रख लो ,भारत माँ.की लाज \

    हिंदी को अपनायो शीघ्र, बनो मत अंग्रेजी दलाल

    राष्ट्रभाषा से नेह लगायो ,हिंदुस्तान के लाल \

    विदेशी भाषा त्यागकर , भारत का भाग्य बदल दो,

    हिंदी को अपनाकर स्वतंत्रता के पथ पर चल दो \\

    रचित -नरेन्द्र सिंह,मोहनपुर,अतरी,गया

  4. sukhmangal singh

    बहुत सुंदर श्लोगन बधाइयां ,इन श्लोग्नों का अनुशरण करे अच्छे लगे तो सू चित करें
    १-हिंदी होगी राष्ट्र की भाषा सभी सत्य को भांप रहे हैं |
    २-हिंदी होगी जन जन की भाषा राष्ट्र भक्त सब झाँक रहे है|
    ३- हिंदी है आसान भाषा हिंदी करती सम्मान भाषा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here