लिव-इन रिलेशनशिप 15 फायदे-नुकसान Live in Relationship Meaning in Hindi

live in relationship meaning in hindi – live in relationship law – live in relationship in india – living problems benefits – advantage and disadvantage marriage
लिव-इन रिलेशनशिप के फायदे और नुकसान live in relationship meaning in hindi advantage disadvantage marriage

 

  • Live in Relationship – लिव-इन रिलेशनशिप फायदे / नुकसान

 

  • लिव-इन रिलेशनशिप का मतलब होता है, लड़के और लड़की का आपसी सहमती से, बिना शादी किए पति-पत्नी की तरह रहना. भारतीय शहरों में आजकल लिव-इन रिलेशनशिप का चलन बढ़ रहा है.
    कुछ युवाओं के लिए लिव-इन रिलेशनशिप अपने रिश्ते को जाँचने-परखने का माध्यम होता है.
    तो कुछ युवाओं के लिए लिव-इन रिलेशनशिप टाइमपास और अपनी इच्छाओं की पूर्ति का एक माध्यम होता है.
    कुछ लोग इसे आधुनिकता का पैमाना मानते हैं, वहीं कुछ लोगों को लिव-इन रिलेशनशिप की बात नागवार गुजरती है.
    हर रिश्ते की तरह लिव-इन रिलेशनशिप के भी कुछ फायदे और नुकसान हैं.
    कुछ बातों का लिव-इन रिलेशनशिप में भी ख्याल रखना चाहिए.
    तो आइए जानते हैं कि लिव-इन रिलेशनशिप के फायदे और नुकसान क्या हैं,
    तथा लिव-इन रिलेशनशिप में किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए.
  • लिव-इन रिलेशनशिप शुरू करने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखें :

  • अगर आप लिव-इन रिलेशनशिप टूटने का सदमा बर्दाश्त करने की शक्ति नहीं रखते हैं, तो आपको लिव-इन रिलेशनशिप में भूलकर भी नहीं रहना चाहिए.
    क्योंकि लिव-इन रिलेशनशिप में इस बात की आजादी होती है कि सामने वाला व्यक्ति आपको कभी भी छोड़कर जा सकता है.
  • लिव-इन रिलेशनशिप में उसी व्यक्ति के साथ रहें, जिसे आप कम-से-कम 1 साल से जानते हों.
  • अगर आप किसी को एकतरफा प्यार करते हों, तो उसके साथ भूलकर भी लिव-इन रिलेशनशिप में न रहें.
  • किसी के साथ 1 साल लिव-इन रिलेशनशिप में रहने से अच्छा है, बिना लिव-इन रिलेशनशिप में रहे एक-दूसरे को ज्यादा से ज्यादा समझने की कोशिश करना.
  • अगर आपकी उम्र 30 साल से अधिक हो गई हो, तो आपको लिव-इन रिलेशनशिप में साथ रहने से पहले गम्भीरता पूर्वक सोच लेने की जरूरत है.
    आप उन सेलिब्रिटीज की जिंदगी से सीख ले सकते हैं जो ज्यादा उम्र में लिव-इन रिलेशनशिप शुरू करने के बाद अभी तक सिंगल हैं. और एक तनावग्रस्त जिंदगी जी रहे हैं.
  • अगर आप किसी के साथ एक बार लिव-इन रिलेशनशिप में रह चुके हैं, तो आपको फिर से लिव-इन रिलेशनशिप में नहीं रहना चाहिए.
  • जिस रिश्ते के बारे में आप यह जानते हों कि आपकी शादी के बाद भी आपके परिवार वाले इस रिश्ते को स्वीकार नहीं करेंगे,
    वैसे व्यक्ति के साथ आपको लिव-इन रिलेशनशिप में नहीं रहना चाहिए.
  • जिस व्यक्ति पर आपको भरोसा न हो, या जो व्यक्ति अच्छा न हो उसके साथ लिव-इन रिलेशनशिप में कभी नहीं रहना चाहिए.
  • लिव-इन रिलेशनशिप के दौरान सावधानियाँ :

  • इस बात पर गौर करते रहें कि कहीं आपका पार्टनर केवल आपका Use तो नहीं कर रहा है.
  • ध्यान रखें आपकी अन्तरंग फोटो या वीडियो का इस्तेमाल आपका पार्टनर आपके खिलाफ कर सकता है.
  • इस बात पर भी गौर करें कि आपका पार्टनर केवल पैसों के लिए तो आपका इस्तेमाल नहीं कर रहा है.
  • इस बात पर भी ध्यान दें कि आप अपने पार्टनर के लिए मन बहलाने की वस्तु बनकर न रह जाएँ.
  • अगर लम्बे समय तक लिव-इन रिलेशनशिप में रहने के बाद भी आपको अपने रिश्ते का
    उज्ज्वल भविष्य नजर नहीं आ रहा हो, तो लिव-इन रिलेशनशिप को खत्म कर देना हीं आपके लिए बेहतर होगा.
  • बहुत कम उम्र में लिव-इन रिलेशनशिप के चक्कर में नहीं पड़ना चाहिए.

 

  • लिव-इन रिलेशनशिप के फायदे :

  • लिव-इन रिलेशनशिप में आपको आपके पार्टनर को जानने में मदद मिलती है.
  • शादी की जिम्मेदारियों को समझने में मदद मिलती है.
  • अगर अच्छा पार्टनर मिल जाए तो लिव-इन रिलेशनशिप जिंदगी संवार देता है.
  • दोनों पार्टनरों को अपनी-अपनी जिम्मेदारियों को समझने का मौका मिल जाता है.
  • दोनों अपने हिसाब से पैसों को खर्च या बचा सकते हैं.
  • क़ानून के अनुसार लम्बे समय से लिव-इन रिलेशनशिप में रहने वाले Male पार्टनर की सम्पत्ति में
    Female पार्टनर को हिस्सा मिल जाएगा.

 

  • लिव-इन रिलेशनशिप के नुकसान :

  • अगर खराब पार्टनर मिल गया तो लिव-इन रिलेशनशिप बुरे ख्वाब जैसा हमेशा याद आता रहेगा.
  • लिव-इन रिलेशनशिप में दोनों कपल में असुरक्षा की भावना होती है, क्योंकि दोनों एक-दूसरे को छोड़कर जाने के लिए स्वतंत्र होते हैं.
  • Live in Relationship के बारे में परिवार वालों को पता चल जाने के बाद बिना वजन का तनाव झेलना पड़ता है.
  • लिव-इन रिलेशनशिप उन लोगों के लिए नहीं है, जो लोग बहुत ज्यादा भावुक होते हैं.
  • लिव-इन रिलेशनशिप आपके कैरियर को भी बर्बाद कर सकता है.
  • इसका अंत बहुत बुरा भी हो सकता है.
  • लिव-इन रिलेशनशिप में छोटी-छोटी बातें भी तनाव का कारण बन जाती है.
  • Live in Relationship भारतीय समाज को आज भी स्वीकार्य नहीं है.
  • लिव-इन रिलेशनशिप में विवाह पूर्व शारीरिक सम्बन्ध बनते हैं, जो कभी-कभी जिंदगी तबाह होने का भी कारण बनते हैं.

 

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here