Breaking News

तुम सपनों में आकर – Love Poems in Hindi For The One You Love

Love Poems in Hindi For The One You Love – Love Poems in Hindi For The One You Love – Love Poems in Hindi For The One You Love – जिसे आप प्यार करते हैं उसके लिए हिन्दी कविता – जिसे आप प्यार करते हैं उसके लिए हिन्दी कविता – Language Font Love

 

  • तुम सपनों में आकर 

 

  • तुम सपनों में आकर
    तुम शशिप्रभा सी चमक रही हो,
    फूलों सी महक रही हो,
    श्यामा सी तुम चहक रही हो,
    रिमझिम सी सावन की फूहाड़ में,
    लगता है तुम कुछ बहक रही हो।
    ये अनायास तुम्हें हुआ क्या है?
    हमें भी बताओ तुम्हें मिला क्या है?
    क्यों तुम आगों सी दहक रही हो?
    जरा उम्र का खयाल तो रखो तुम,
    अब तुम यौवन में कदम रखने वाली हो,
    नजर लग जायेंगे दुनिया वालों के,
    तुम इतना जो ठहक रही हो,
    क्या तुम दिल के आखेटक हो?,
    शिकार कर लिया है मेरे मासूम दिल का तुमने,
    और रातों की नींद खो गई हमारी,
    तुम सपनों में आकर पाजेब सी जो छनक रही हो।
    – हिमांशु शर्मा
  • उनकी गुस्ताखियां
    हमसे मत पूछो फराख दिली का मतलब
    हम कातिल को भी एक और मौका देते है।
    मशहूर बहुत हैं रिश्तों के बाज़ार मे क्यूंकि
    निभाकर यारी यारों को भी चौका देते हैं।
    उनकी शख्सियत मे अब भी है वफा की खुशबू
    जब भी मिलते हैं दिल को जला देते हैं।
    हम भी शोख हैं शरारतों से क्यों बाज आए
    बुझाने के लिए आग को हवा देते हैं।
    शहर मे इश्क अब यूं सरेआम हो गया है
    कहानियां सुनकर बस हम मुस्कुरा देते हैं।
    लोग कहते हैं दिवानों सा हुआ है आलम
    क्योंकि हम दिल्लगी को दुआ देते हैंं।
    वो दिल दुखा कर कहते हैंं ‘बुरा मत मानना’
    इसलिए उनकी गुस्ताखियां भुला देते हैंं।
    आदत हो गई है ‘बिट्टू’ मुझे उनकी हंसी की
    फिर वो रूठकर क्यूं मुझे सजा देते हैंं।
    – प्रभात कुमार (बिट्टू)  बख्तियारपुर, पटना

 

अगर आप कविता, शायरी, Article इत्यादि लिखने में सक्षम हैं, तो हमें अपनी रचनाएँ 25suvicharhindi@gmail.com पर भेजें. आपकी रचनाएँ मौलिक और अप्रकाशित होनी चाहिए.

Previous प्रेरणादायक कविता – Inspirational Poems in Hindi About Life
Next हेमंत ऋतु पर हिन्दी कविता – Hemant Ritu Poem in Hindi

Check Also

Rani Padmavati Poem in Hindi – रानी पद्मावती का जौहर कविता Padmini kavita

Rani Padmavati poem in hindi – Rani Padmavati Poem in Hindi – रानी पद्मावती का जौहर …

One comment

  1. Rana saurav singh

    very nice Bhaiya ji

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: