21 पर्सनालिटी डेवलपमेंट टिप्स हिन्दी में – Personality Development Tips in Hindi

Personality Development Tips in Hindi – Personality Development Tips in Hindi – Personality Development Tips in Hindi – personality development books in hindi – personality evelopment in hindi pdf – personality development pdf in hindi – personality development in hindi video – personality development pdf in hindi free download – smart personality tips in hindi – how to develop personality in hindi – how to improve personality in hindi – personality test in hindipersonality meaning in hindi – personality development video in hindi

 

  • पर्सनालिटी डेवलपमेंट टिप्स हिन्दी में – Personality Development Tips in Hindi

 

  • आइए हम जानते हैं कि आप अपने व्यक्तित्व को कैसे आकर्षक और बेहतर बना सकते हैं. कौन सी आदतें आपको छोड़नी पड़ेंगी और कौन सी आदतें अपनानी होंगी. अपने व्यक्तित्व को आकर्षक बनाने के लिए आपको बहुत छोटी-छोटी बातें का ध्यान रखना होगा. आपको यह ध्यान रखना होगा कि आपका व्यक्तित्व आकर्षक तो हो लेकिन खोखला नहीं. आपको यह ध्यान रखना होगा कि आपके व्यक्तित्व में बनावटीपन न हो. तो आइए जानते हैं पर्सनालिटी डेवलपमेंट के लिए उपयोगी टिप्स.
  • संतुलित व्यवहार – आप जब भी किसी से मिलें, तो अपने व्यवहार को संतुलित रखें. न तो किसी से अपने दिल की हर बात बोल दें और न हीं रहस्यमयी व्यक्ति की तरह व्यवहार करें.
  • बातों में असभ्यता या ताना न हो – आप सामने वाले व्यक्ति के बारे में भले हीं सकारात्मक सोच न रखते हों,
    लेकिन आपकी बातों में असभ्यता या ताना नहीं आना चाहिए.
  • पहनावा – साफ-सुथरे और Updated कपड़े, जूते आदि पहनिए, आपके कपड़े या जूते फूहड़ नहीं होने चाहिए.
  • संस्कारी बनिए – संस्कार का मतलब होता है अच्छी आदतें. और अच्छी आदतें कभी पुरानी नहीं पड़ती है.
    इसलिए बड़ों के आने पर खड़े हो जाना, बड़ों को प्रणाम करना, छोटों से प्यार से बातें करना ऐसी हीं छोटी-छोटी
    बातें आपके व्यक्तित्व को निखार देंगी.
  • आपा न खोएँ – परिस्थिति चाहे कितनी भी नकारात्मक क्यों न हो जाए अगर आप अपना आपा नहीं खोते हैं
    तो आपका व्यक्तित्व दूसरों से अलग निखरकर सामने आएगा.
  • चिपकू न बनें – कोई व्यक्ति आपको कितना भी अच्छा क्यों न लगे आपको उसके पीछे पड़ने की जरूरत नहीं है.
  • जिम्मेदारी उठाइए – अगर आपमें जिम्मेदारी उठाने की आदत आ जाएगी, तो आपका व्यक्तित्व हर किसी को आकर्षित करेगा.
  • पीठ पीछे बातें न करें – किसी और के बारे में कोई भी नकारात्मक बात उसकी अनुपस्थिति में न करें.
    उन लोगों के समूह का हिस्सा न बनें जो बेकार में बैठकर दूसरों का हिसाब-किताब करते हैं.
  • लोगों को पहचानना सीखिए – आँख मूंदकर किसी को भी अच्छा या बुरा समझ लेना अच्छी बात नहीं है.
    यह बात भी ठीक नहीं है कि आप हर किसी को अच्छा हीं समझें या हर किसी को बुरा हीं समझें. इसलिए आपको इतना सक्षम होना चाहिए कि आप लोगों को पहचना सकें. और लोगों को पहचानने सीखने में वर्षों लग जाते हैं.
  • झूठ न बोलें – अगर आप झूठ बोलेंगे, तो कभी न कभी आपका झूठ दूसरों के सामने आ हीं जाएगा.
    और आपकी छवि खराब हो जाएगी. इसलिए झूठ न बोलें.
  • Over smartness – जिस चीज के बारे में जानकारी न हो, उसके बारे में अपनी अज्ञानता प्रकट कर दें.
    क्योंकि Over smartness में गलत बात बोलकर आप बेवजह अपनी छवि खराब कर लेंगे.
  • किसी को नीचा न दिखाएँ – किसी के प्रति अपने मन में मैल या द्वेष न रखें. किसी और को हराने या नीचा
    दिखाने के लिए कुछ भी न करें.

 

  • भरोसेमंद बनिए – अगर आप भरोसेमंद बनेंगे, तो आपका व्यक्तित्व खुद-ब-खुद बेहतर हो जाएगा.
  • भरोसा मत तोड़िए – अगर कोई आप पर भरोसा करता है तो उसका भरोसा न तोड़ें. क्योंकि भरोसा तोड़ने
    के बाद आपकी छवि हमेशा के लिए खराब हो जाएगी.
  • अच्छी संगती – अच्छे लोगों की संगति में रहिए, क्योंकि अच्छे लोगों की संगति के बिना अच्छे व्यक्तित्व
    का निर्माण नहीं हो सकता है.
  • बुराईयों की छंटाई – हर व्यक्ति में समय के साथ बुराइयाँ आ जाती है, इसलिए यह जरूरी है आप समय-समय पर अपने बुराईयों की छंटाई करते रहें.

 

  • ज्यादा लोगों से मिलिए – कोशिश करें कि नए-नये लोगों से आपकी मुलाकात होती रहे. नये लोगों से मिलते रहने से आपको नई-नई बातें सीखने के लिए मिलेंगें.
  • सुनना सीखिए – जब लोगों से मिलिए तो उनकी बातों को सुनना सीखें. क्योंकि केवल अपनी बात बोलते जाना अच्छा नहीं होता है.
  • दूसरों की मदद कीजिए – दूसरों की मदद करना सीखिए, हाँ इस बात का भी ध्यान रखें कि कोई आपके मदद करने की आदत का बेकार में फायदा न उठाए.
  • लोगों की सच्ची तारीफ कीजिए – लोगों की तारीफ करना सीखिए, लेकिन तारीफ सच्ची होनी चाहिए.
  • हमेशा कुछ न कुछ पढ़ते या सीखते रहिए – हमेशा कुछ न कुछ पढ़ना और सीखना आपको बेहतर बनाएगा.
    यह लेख आपको कैसा लगा हमें जरुर बताएँ. आपके सुझावों का हमें इंतजार रहेगा.

 

Related Post

SHARE

11 COMMENTS

  1. Mujhe aapki tips padhakar Bahot achha laga main ispar jarur amal karunga

  2. It is very nice and very important

  3. हमेशा की तरह एक और बेहतरीन लेख ….. ऐसे ही लिखते रहिये और मार्गदर्शन करते रहिये ….. शेयर करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। 🙂 🙂

  4. Tanveer Hussain

    Waw ….such a great tips of Personality development . It can change our way to express.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here