रक्षा बंधन पर कविता – Poem on Raksha Bandhan in Hindi

Poem on Raksha Bandhan in Hindi | rakhi short kavita in any language for kids – रक्षा बंधन पर कविता – poems on raksha bandhan in hindi – poem on raksha bandhan in hindi for kids – raksha bandhan in hindi poem – raksha bandhan poem in hindi – raksha bandhan poems in hindi  – hindi poem on raksha bandhan – hindi poems on raksha bandhan Poem on Raksha Bandhan in Hindi

 

  • मेरे भैया

 

  • मेरे भैया, अबकी बार राखी में नई रीत चलाओ तुम
    अपनी बहन को आत्मरक्षा के गुर सिखाओ तुम……………………..
    Well settled लड़का ढूंढने की बजाए, मुझे Economically Independent बनाओ तुम
    जो मुझसे प्यार करे, उसे मेरा जीवनसाथी बनाओ तुम…………………………….
    मेरे संग हमेशा रहना तुम, मेरी ताकत बनना तुम
    मैं जो कभी कमजोर पड़ जाउँ, तो मेरी ढाल बन जाना तुम……………..
    राखी की इस रीत को उम्र भर निभाना तुम
    दुनियादारी के चक्कर में, मुझे मत भूल जाना तुम…………………………..
    बेटी नहीं होती है पराई, ये बात माँ-बाबा को समझाना तुम
    दहेज न कोई सामान देना तुम, मुझे तो मेरा स्वाभिमान देना तुम……………….
    परम्पराओं को सबके साथ ख़ुशी-ख़ुशी निभाना तुम
    पर मुझे कुप्रथाओं की चक्की में, पिसने से बचाना तुम…………………..
    थोड़ी नकचढ़ी बहना हूँ मैं, और मेरे प्यारे भैया हो तुम……………………….
    तुम्हारे नखरे सहती हूँ मैं, और मेरे नाज उठाते हो तुम
    तो चलो एक-दूजे की हिम्मत बन जाएँ हम-तुम……………………..
    भाई-बहन का रिश्ता होता है सबसे अनूठा, ये दुनिया को दिखाएँ हम-तुम
    – अभिषेक मिश्र ( Abhi )
  • ~~भैया मेरे~~
    प्यारे-प्यारे भैया मेरे…
    सबसे अच्छे भैया मेरे…
    तुम हो मेरे रखवाले…
    मुझसे ये राखी बन्धवाले…
    तेरी रक्षा मैं करुगी..
    मेरी रक्षा तुम करना..

    तेरे साथ मैं चलूँगी..
    मेरे साथ तुम चलना…
    राखी का ये बंधन प्यारा..
    इस बंधन को बांधे रखना..
    टूटे ना रिश्तो का धागा…
    मजबूत अपने इरादे रखना…
    जब मैं तुमसे रूठ जाऊं..
    तो तुम मुझे मनाना..
    जब-जब मैं रोऊँ..
    तुम मुझे हंसाना..
    मेरे भैया दूर ना जाना..
    मुझसे तुम राखी बंधवाना..
    प्यारे प्यारे भैया मेरे …
    सबसे अच्छे भैया मेरे…. – पूजा पाठक

 

अगर आप कविता, शायरी, Article इत्यादि लिखने में सक्षम हैं, तो हमें अपनी रचनाएँ 25suvicharhindi@gmail.com पर भेजें. आपकी रचनाएँ मौलिक और अप्रकाशित होनी चाहिए.

SHARE

2 COMMENTS

  1. I love it
    Very gud
    Keep it up…..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here