मुझे याद है ( रोमैंटिक कविता हिन्दी में ) – Romantic Kavita in Hindi

रोमैंटिक कविता हिन्दी में – Romantic Kavita in Hindi – मुझे याद है ( रोमैंटिक कविता हिन्दी में ) – Romantic Kavita in Hindi  – मुझे याद है ( रोमैंटिक कविता हिन्दी में ) – Romantic Kavita in Hindi
मुझे याद है ( रोमैंटिक कविता हिन्दी में ) - Romantic Kavita in Hindi

 

  • मुझे याद है….

 

  • एक नजर देखना तेरा और मेरा लूट जाना
    अनवरत चलते सिलसिले का अचानक टूट जाना
    मेरे साथ-साथ वक्त का भी वहीं रुक जाना
    याद है वो मुझे देखकर तेरा बार-बार मुस्कुराना
    धड़कते हुए दिल पर अपने हाथों को रखना
    काम में व्यस्त होने पर कांधे से दुपट्टे का सरकना
    सामने पड़ते ही मेरे तेरा नजरों को झुकाना
    मुझे याद है वो तेरा खुद में ही सिमट जाना
    तेरे माथे पर परेशानियों के सिलवटों का पड़ना
    होंठो में छिपाकर नजरों से सबकुछ कहना
    नाम जोड़ने पर दोनो का, किसी को झिड़कना
    मुझे याद है वो तेरा मेरा पल-पल ख्याल रखना
    दूर से ही इशारों-इशारों में बात करना
    अपने दोस्तों संग मेरी खिंचाई करना
    वहीं आंगन में बैठकर मेरा, तुझे देखना
    मुझे याद है तेरे हाथों से वो नींबू पानी पीना
    चलते हुए फिर आने का मुझसे वादा लेना
    खड़ा होकर द्वार पर देर तक मुझे निहारना
    जाते हुए तेरा मुड़-मुड़ कर पीछे देखना
    मुझे याद है संग बिताई हुई एक-एक पल जाना
    – By:- प्रभात कुमार (बिट्टू) बख्तियारपुर, पटना
  • mujhe yaad hai….
    ek najar dekhana tera aur mera loot jaana
    anavarat chalate silasile ka achaanak toot jaana
    mere saath-saath vakt ka bhee vaheen ruk jaana
    yaad hai vo mujhe dekhakar tera baar-baar muskuraana
    dhadakate hue dil par apane haathon ko rakhana
    kaam mein vyast hone par kaandhe se dupatte ka sarakana
    saamane padate hee mere tera najaron ko jhukaana
    mujhe yaad hai vo tera khud mein hee simat jaana
    tere maathe par pareshaaniyon ke silavaton ka padana
    hontho mein chhipaakar najaron se sabakuchh kahana
    naam jodane par dono ka, kisee ko jhidakana
    mujhe yaad hai vo tera mera pal-pal khyaal rakhana
    door se hee ishaaron-ishaaron mein baat karana
    apane doston sang meree khinchaee karana
    vaheen aangan mein baithakar mera, tujhe dekhana
    mujhe yaad hai tere haathon se vo neemboo paanee peena
    chalate hue phir aane ka mujhase vaada lena
    khada hokar dvaar par der tak mujhe nihaarana
    jaate hue tera mud-mud kar peechhe dekhana

 

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here