प्रकृति पर हिन्दी कविता – A Short Poem On Nature in Hindi Language – प्रकृति सौंदर्य

A Short Poem On Nature in Hindi Language – प्रकृति पर कविता – प्रकृति सौंदर्य पर कविताप्रकृति पर हिन्दी कविता - A Short Poem On Nature in Hindi Language - प्रकृति सौंदर्य

 

  • प्रकृति

 

  • माँ की तरह हम पर प्यार लुटाती है प्रकृति
    बिना मांगे हमें कितना कुछ देती जाती है प्रकृति…..
    दिन में सूरज की रोशनी देती है प्रकृति
    रात में शीतल चाँदनी लाती है प्रकृति……
    भूमिगत जल से हमारी प्यास बुझाती है प्रकृति
    और बारिश में रिमझिम जल बरसाती है प्रकृति…..
    दिन-रात प्राणदायिनी हवा चलाती है प्रकृति
    मुफ्त में हमें ढेरों साधन उपलब्ध कराती है प्रकृति…..
    कहीं रेगिस्तान तो कहीं बर्फ बिछा रखे हैं इसने
    कहीं पर्वत खड़े किए तो कहीं नदी बहा रखे हैं इसने…….
    कहीं गहरे खाई खोदे तो कहीं बंजर जमीन बना रखे हैं इसने
    कहीं फूलों की वादियाँ बसाई तो कहीं हरियाली की चादर बिछाई है इसने.
    मानव इसका उपयोग करे इससे, इसे कोई ऐतराज नहीं
    लेकिन मानव इसकी सीमाओं को तोड़े यह इसको मंजूर नहीं……..
    जब-जब मानव उदंडता करता है, तब-तब चेतवानी देती है यह
    जब-जब इसकी चेतावनी नजरअंदाज की जाती है, तब-तब सजा देती है यह….
    विकास की दौड़ में प्रकृति को नजरंदाज करना बुद्धिमानी नहीं है
    क्योंकि सवाल है हमारे भविष्य का, यह कोई खेल-कहानी नहीं है…..
    मानव प्रकृति के अनुसार चले यही मानव के हित में है
    प्रकृति का सम्मान करें सब, यही हमारे हित में है…….
    – अभिषेक मिश्र ( Abhi )
  • प्रकृति
    प्रकृति ने अच्छा दृश्य रचा
    इसका उपभोग करें मानव।
    प्रकृति के नियमों का उल्लंघन करके
    हम क्यों बन रहे हैं दानव।
    ऊँचे वृक्ष घने जंगल ये
          सब हैं प्रकृति के वरदान।
    इसे नष्ट करने के लिए
          तत्पर खड़ा है क्यों इंसान।
    इस धरती ने सोना उगला
    उगलें हैं हीरों के खान
    इसे नष्ट करने के लिए
    तत्पर खड़ा है क्यों इंसान।
    धरती हमारी माता है
          हमें कहते हैं वेद पुराण
    इसे नष्ट करने के लिए
          तत्पर खड़ा है क्यों इंसान।
    हमने अपने कर्मों से
    हरियाली को कर डाला शमशान
    इसे नष्ट करने के लिए
    तत्पर खड़ा है क्यों इंसान।
    –  कोमल यादव
    खरसिया, रायगढ़ (छ0 ग0)

 

अगर आप कविता, शायरी, Article इत्यादि लिखने में सक्षम हैं, तो हमें अपनी रचनाएँ 25suvicharhindi@gmail.com पर भेजें. आपकी रचनाएँ मौलिक और अप्रकाशित होनी चाहिए. अपनी रचनाएँ हिन्दी में टाइप करके भेजिए.

SHARE

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here