कब शारीरिक सम्बन्ध न बनाये ? Kab Sharirik Sambandh Na Bnaye :

कब शारीरिक सम्बन्ध न बनाये ? Kab Sharirik Sambandh Na Bnaye
shastron ke anusar achchhe santan ki prapti ke liye kab sharirik sambandh na bnaye - शास्त्रों के अनुसार अच्छे संतान की प्राप्ति के लिए कब शारीरिक सम्बन्ध न बनाये 

कब शारीरिक सम्बन्ध न बनाये ? Kab Sharirik Sambandh Na Bnaye

  • इस लेख में हम आपको बतायेंगे कि सामान्य रूप से कब-कब आपको शारीरिक सम्बन्ध नहीं बनाने चाहिए. और अच्छे सन्तान प्राप्ति के उद्देश्य से कब-कब सम्बन्ध बिल्कुल नहीं बनाने चाहिए.
  • अगर आप अच्छे सन्तान की चाह रखते हैं, तो आपको निम्न समयों में सन्तान प्राप्ति के उद्देश्य सम्बन्ध नहीं बनाने चाहिए.
  • ब्रह्म मुहूर्त, शाम के समय और दोपहर के समय सन्तान प्राप्ति के उद्देश्य से सम्बन्ध नहीं बनाना चाहिए. क्योंकि ब्रह्म मुहूर्त, शाम के समय और दोपहर के समय के सम्बन्ध से जन्म लेने वाला सन्तान आपके लिए परेशानी का सबब बन सकते हैं. अच्छे सन्तान के प्राप्ति के लिए रात्रि में हीं सम्बन्ध बनाने चाहिए.
  • पूर्णिमा के दिन भी सन्तान प्राप्ति के उद्देश्य से सम्बन्ध नहीं बनाना चाहिए.
  • अमावस्या के दिन भी सन्तान प्राप्ति के उद्देश्य से सम्बन्ध नहीं बनाना चाहिए.
  • संक्रांति के दिन भी सन्तान प्राप्ति के उद्देश्य से सम्बन्ध नहीं बनाना चाहिए.
  • श्राद्ध के दिन भी सन्तान प्राप्ति के उद्देश्य से सम्बन्ध नहीं बनाना चाहिए.
  • पितृ पक्ष के दौरान भी सन्तान प्राप्ति के उद्देश्य से सम्बन्ध नहीं बनाना चाहिए.
  • अगर आपके किसी नजदीकी रिश्तेदार की मृत्यु हुए 15 दिन भी न बीते हों. तो आपको उन 15 दिनों में भी सन्तान प्राप्ति के उद्देश्य से सम्बन्ध नहीं बनाना चाहिए.
  • स्त्री या पुरुष दोनों में से एक भी सन्तान के लिए मानसिक रूप से तैयार न हो, तो सन्तान प्राप्ति के उद्देश्य से सम्बन्ध नहीं बनाना चाहिए.
  • अगर महिला शारीरिक रूप से कमजोर हो, तो भी सन्तान प्राप्ति के उद्देश्य से सम्बन्ध नहीं बनाना चाहिए.
  • सामान्य रूप से नवरात्रि के दौरान सम्बन्ध नहीं बनाना चाहिए.
  • अगर स्त्री या पुरुष दोनों में से किसी ने जिस दिन व्रत रखा हो. उस दिन सन्तान प्राप्ति के उद्देश्य से सम्बन्ध नहीं बनाना चाहिए.

.

Leave a Reply

Your email address will not be published.