Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages
Latest Posts - इन्हें भी जरुर पढ़ें ➜

खुसरो की रचनाएँ – Amir Khusro Poetry in Hindi paheliyan dohe ghazal mukriyan poem :

Tags : amir khusro poetry hindi amir khusro amir khusro poetry amir khusro shayari ameer khusro amir khusro hindi ameer khusro kalam amir khusrau ameer khusro poetry amir khusro shayari hindi khusro amir khusro kalam christmas poems amir khusro poetry with translation khusro poetry amir khusro quotes amir khusro dohe allama iqbal poetry robert frost biography hindi poem amir khusro songs amir khusro poetry english poem on environment ameer khusro poetry urdu english poems for class 3 amir khusro persian poetry quotes with explanation ameer khusro poetry with urdu translation spring poem bangla novel amir khusro quotes hindi famous short poems english poem for class 4 best poem hindi birthday poems amir khusro urdu shayari poems about life amir khusro qawwali amir khusro poetry hindi with translation ameer khusro sher sufi poetry hindi ameer khusro poetry hindi amir khusro hindi ameer khusro hindi poetry of amir khusro poems of amir khusro hindi poem on nature comedy poem hindi kalam amir khusro urdu translation abcd poem desh bhakti poem 20 line poems daffodils poem famous hindi poems butterfly poem shakespeare poems amir khusro hindi shayari essar oil english poems about life desh bhakti poem hindi anjum rahbar dosti shayari hindi ameer khusro shayari hindi colour poem english poems for class 6 best english poems amir khusro poetry urdu poem on friendship hindi hindi kavi sammelan desh bhakti kavita friendship thoughts amir khusro hindi songs amir khusro ghazal concrete poem khusro shayari daffodils poem summary ashok chakradhar shayari of amir khusro kalam amir khusro ghazal by amir khusrau joanna fuchs poet amir khusro a short poem on nature about sea amir khusro farsi poetry poem on basant ritu hindi amir khusrau writings amir khusro books abc rhymes acrostic poem examples english poems for class 8 easy english poem sad shayari english maya angelou biography sufi shayari on god hindi amir khusro persian poetry with translation elizabeth jennings poems parrot of india basant ritu about rainy season agnipath poem amir khusro ki shayari literary theory books romantic poem hindi best of amir khusro computer poem concrete poem examples brother poems from sister amir shayari sufiana kalam urdu english poem a limerick poem works of amir khusro poem on tree hindi amir khusro couplets amir khusro quotes english kalam e khusro dosti shayari hindi mein kavita aaj rang hai lyrics sufi shayari hindi amir meaning urdu dost sms amir khusro ki jivani hindi amir ameer poetry evening poem a poem hindi amir khusrau dehlavi qawwali amir khusro english poem for class 9 dvg poems friendship hindi hindi poem hindi poem on basant latest poem english amir khusro music ameer indian amir khosru ameer khusro farsi kalam amir khosrow a poem english khusrau amir khusro poetry hindi pdf classical literary theory wordsworth biography acrostic of home amir khusro biography hindi english poems for class 8th sufi shayari hindi font beginning of english literature amir khosro dehlavi amir khusro and nizamuddin auliya ameer khusro kalam urdu known as the parrot of hindustan poem on college life amir khusro books hindi william wordsworth biography short poem on trees nizamuddin auliya history hindi acrostic examples chand poetry short poetry books amir khusro history hindi leslie norris poems amir khusro poetry urdu pdf list of english poets english poets 20th century ameer khusro poetry with urdu translation pdf hindi poem for class 3 15 line poems english literature movies creative poems english amir khusro was the court poet of a poem on teacher poem on teacher english books of amir khusro amir khusro history poem on water english deval rani khizr khan amir khusro biography hindi language sufi poetry hindi font tree poem english aaj rang hai amir khusro english poem recitation basant ritu par kavita david roth poet amir khusro books list best teacher poems qiran us sadain biography of english poets hindi poem hindi poem amir meaning hindi khusro quotes amir khusro poetry pdf amir khusro books urdu amir khusro paheli about relationship kalam ameer khusro urdu mirza ghalib poetry hindi with meaning sufi kalam hindi books written by amir khusro ameer khusro quotes farsi shayari with hindi translation birthplace of amir khusro poem for class 2 if poem by rudyard kipling explanation amir khusro books pdf short arabic poems who was amir khusro amir khusro biography sufi kalam lyrics hindi kalam ameer khusro amir khusro ki rachnaye hindi history of nizamuddin auliya hindi about rabindranath tagore tughlaq nama list of famous american poets amir khusro nizamuddin auliya ghazal amir about rani of jhansi amir khusro wikipedia hindi sufi lyrics hindi farsi kalam amir khusro amir khusrau was the court poet of poem hindi poem the parrot of india ameer khusro books about amir khusro khusru nizamuddin auliya qawwali lyrics amir khusro songs free download biography of amir khusro ameer khusro songs father of qawwali khusrow amir khusro ki paheliyan khusro nizam amir khusro birthplace kabir das poems hindi wikipedia rang amir khusro amir khusro kalam pdf farsi kalam lyrics ameer khusro poetry pdf amir khusro biography urdu about amir khusro hindi chhap tilak amir khusro amir khusro chhap tilak hindi poem kavita amir khusro invented which musical instrument history of amir khusro ameer khusro history urdu amir khusrau was the famous poet the court of amir khusro images kalam e amir khusro rubai hindi amir hindi information about amir khusro khawaja ameer khusro who is called indian parrot ameer khusro urdu dohe hindi poem kalam ameer khusro urdu pdf who is known as parrot of india amir khusro songs download kavita lyrics hindi ali imam e manasto poetry ameer khusro kalam by nusrat fateh ali khan amir khusro was the famous poet the court of amir khusro songs list meaning of amir hindi amir khusro kalam lyrics amir khusro pdf who is called parrot of india amir khusro hindi wikipedia amir khusro rang nizamuddin auliya and amir khusro amir khusro dargah amir khusro qawwali download who wrote tughlaqnama kalam e ameer khusro amir khusro information hindi kushro piya ghar aaye amir khusro lyrics images of amir khusro amir khusro wikipedia biography of amir khusro hindi ameer khusro ki paheliyan folk poems hindi amir india kalam poem hindi poem on kalam hindi amir ganjavi aamir dehlavi about amir khusrau amir khusro riddles amir khusro paheli hindi amir khusro lyrics couplets hindi amir khusro language ameer khusro kalam by nusrat hindi kavita on khushi amir khusro pictures amir khusro riddles hindi amir khusro foundation songs of amir khusro amir khusrau riddles what did amir khusrau say about sanskrit hindi meaning of sufiana

खुसरो की रचनाएँ – Amir Khusro Poetry in Hindi
खुसरो की रचनाएँ - Amir Khusro Poetry in Hindi paheliyan dohe ghazal mukriyan poem

खुसरो की रचनाएँ – Amir Khusro Poetry in Hindi paheliyan dohe ghazal mukriyan poem

  • खुसरो की रचनाएँ
  • ■ पहेलियाँ – amir khusro ki paheliyan in hindi with answer puzzles

  • एक गुनी ने ये गुन कीना, हरियल पिंजरे में दे दीना।
    देखो जादूगर का कमाल, डारे हरा निकाले लाल।।
    उत्तर—पान
  • एक परख है सुंदर मूरत, जो देखे वो उसी की सूरत।
    फिक्र पहेली पायी ना, बोझन लागा आयी ना।।
    उत्तर—आईना
  • बाला था जब सबको भाया, बड़ा हुआ कुछ काम न आया।
    खुसरो कह दिया उसका नाँव, अर्थ कहो नहीं छाड़ो गाँव।।
    उत्तर—दिया
  • घूम घुमेला लहँगा पहिने,
    एक पाँव से रहे खड़ी
    आठ हात हैं उस नारी के,
    सूरत उसकी लगे परी ।
    सब कोई उसकी चाह करे है,
    मुसलमान हिन्दू छत्री ।
    खुसरो ने यह कही पहेली,
    दिल में अपने सोच जरी ।
    उत्तर – छतरी
  • खडा भी लोटा पडा पडा भी लोटा।
    है बैठा और कहे हैं लोटा।
    खुसरो कहे समझ का टोटा॥
    – लोटा
  • घूस घुमेला लहँगा पहिने, एक पाँव से रहे खडी।
    आठ हाथ हैं उस नारी के, सूरत उसकी लगे परी।
    सब कोई उसकी चाह करे, मुसलमान, हिंदू छतरी।
    खुसरो ने यही कही पहेली, दिल में अपने सोच जरी।
    – छतरी
  • आदि कटे से सबको पारे। मध्य कटे से सबको मारे।
    अन्त कटे से सबको मीठा। खुसरो वाको ऑंखो दीठा॥
    – काजल

  • एक थाल मोती से भरा। सबके सिर पर औंधा धरा।
    चारों ओर वह थाली फिरे। मोती उससे एक न गिरे॥
    – आकाश
  • एक नार ने अचरज किया। साँप मार पिंजरे में दिया।
    ज्यों-ज्यों साँप ताल को खाए। सूखै ताल साँप मरि जाए॥
    – दीये की बत्ती
  • एक नारि के हैं दो बालक, दोनों एकहिं रंग।
    एक फिरे एक ठाढ रहे, फिर भी दोनों संग॥
    – चक्की
  • खेत में उपजे सब कोई खाय।
    घर में होवे घर खा जाय॥
    – फूट
  • गोल मटोल और छोटा-मोटा,
    हर दम वह तो जमीं पर लोटा।
    खुसरो कहे नहीं है झूठा,
    जो न बूझे अकिल का खोटा।।
    उत्तर – लोटा।
  • श्याम बरन और दाँत अनेक, लचकत जैसे नारी।
    दोनों हाथ से खुसरो खींचे और कहे तू आ री।।
    उत्तर – आरी
  • हाड़ की देही उज् रंग, लिपटा रहे नारी के संग।
    चोरी की ना खून किया वाका सर क्यों काट लिया।
    उत्तर – नाखून।
  • बाला था जब सबको भाया, बड़ा हुआ कुछ काम न आया।
    खुसरो कह दिया उसका नाव, अर्थ करो नहीं छोड़ो गाँव।।
    उत्तर – दिया।

  • ■मुकरियाँ amir khusro mukerian with meaning

  • अर्ध निशा वह आया भौन
    सुंदरता बरने कवि कौन
    निरखत ही मन भयो अनंद
    ऐ सखि साजन? ना सखि चंद!
  • शोभा सदा बढ़ावन हारा
    आँखिन से छिन होत न न्यारा
    आठ पहर मेरो मनरंजन
    ऐ सखि साजन? ना सखि अंजन!
  • जीवन सब जग जासों कहै
    वा बिनु नेक न धीरज रहै
    हरै छिनक में हिय की पीर
    ऐ सखि साजन? ना सखि नीर!
  • बिन आये सबहीं सुख भूले
    आये ते अँग-अँग सब फूले
    सीरी भई लगावत छाती
    ऐ सखि साजन? ना सखि पाती!
  • सगरी रैन छतियां पर राख
    रूप रंग सब वा का चाख
    भोर भई जब दिया उतार
    ऐ सखि साजन? ना सखि हार!
  • पड़ी थी मैं अचानक चढ़ आयो
    जब उतरयो तो पसीनो आयो
    सहम गई नहीं सकी पुकार
    ऐ सखि साजन? ना सखि बुखार!
  • सेज पड़ी मोरे आंखों आए
    डाल सेज मोहे मजा दिखाए
    किस से कहूं अब मजा में अपना
    ऐ सखि साजन? ना सखि सपना!
  • बखत बखत मोए वा की आस
    रात दिना ऊ रहत मो पास
    मेरे मन को सब करत है काम
    ऐ सखि साजन? ना सखि राम!

  • सरब सलोना सब गुन नीका
    वा बिन सब जग लागे फीका
    वा के सर पर होवे कोन
    ऐ सखि ‘साजन’ना सखि! लोन(नमक)
  • सगरी रैन मिही संग जागा
    भोर भई तब बिछुड़न लागा
    उसके बिछुड़त फाटे हिया’
    ए सखि ‘साजन’ ना, सखि! दिया(दीपक)
  • राह चलत मोरा अंचरा गहे।
    मेरी सुने न अपनी कहे
    ना कुछ मोसे झगडा-टंटा
    ऐ सखि साजन ना सखि कांटा!

  • ■ दो सुखने amir khusro sukhane

  • गोश्त क्यों न खाया?
    डोम क्यों न गाया?
    उत्तर—गला न था
  • जूता पहना नहीं
    समोसा खाया नहीं
    उत्तर— तला न था
  • अनार क्यों न चखा?
    वज़ीर क्यों न रखा?
    उत्तर— दाना न था( अनार का दाना और दाना=बुद्धिमान)
  • सौदागर चे मे बायद? (सौदागर को क्या चाहिए )
    बूचे(बहरे) को क्या चाहिए?
    उत्तर (दो कान भी, दुकान भी)
  • तिश्नारा चे मे बायद? (प्यासे को क्या चाहिए)
    मिलाप को क्या चाहिए
    उत्तर—चाह (कुआँ भी और प्यार भी)
  • शिकार ब चे मे बायद करद? ( शिकार किस चीज़ से करना चाहिए)
    क़ुव्वते मग़्ज़ को क्या चाहिए? (दिमाग़ी ताक़त को बढ़ाने के लिए क्या चाहिए)
    उत्तर— बा —दाम (जाल के साथ) और बादाम
  • रोटी जली क्यों? घोडा अडा क्यों? पान सडा क्यों ?
    उत्तर— फेरा न था
  • पंडित प्यासा क्यों? गधा उदास क्यों ?
    उत्तर— लोटा न था

  • ■ढकोसले

  • खीर पकाई जतन से और चरखा दिया जलाय।
    आयो कुत्तो खा गयो, तू बैठी ढोल बजाय, ला पानी पिलाय।
  • भैंस चढ़ी बबूल पर और लपलप गूलर खाय।
    दुम उठा के देखा तो पूरनमासी के तीन दिन।।
  • पीपल पकी पपेलियाँ, झड़ झड़ पड़े हैं बेर।
    सर में लगा खटाक से, वाह रे तेरी मिठास।।
  • लखु आवे लखु जावे, बड़ो कर धम्मकला।
    पीपर तन की न मानूँ बरतन धधरया, बड़ो कर धम्मकला।।
  • भैंस चढ़ी बबूल पर और लप लप गूलर खाए।
    उतर उतर परमेश्वरी तेरा मठा सिरानों जाए।।

  • ■ दोहे – amir khusro dohe

  • खुसरो बाजी प्रेम की मैं खेलूँ पी के संग।
    जीत गयी तो पिया मोरे हारी पी के संग।।
  • चकवा चकवी दो जने इन मत मारो कोय।
    ये मारे करतार के रैन बिछोया होय।।
  • उज्जवल बरन अधीन तन एक चित्त दो ध्यान।
    देखन में तो साधु लगे निपट पाप की खान।।
  • श्याम सेत गोरी लिए जनमत भई अनीत।
    एक पल में फिर जात है जोगी काके मीत।।
  • पंखा होकर मैं डुली, साती तेरा चाव।
    मुझ जलती का जनम गयो तेरे लेखन भाव।।
  • नदी किनारे मैं खड़ी सो पानी झिलमिल होय।
    पी गोरी मैं साँवरी अब किस विध मिलना होय।।
  • साजन ये मत जानियो तोहे बिछड़त मोहे को चैन।
    दिया जलत है रात में और जिया जलत बिन रैन।।
  • रैन बिना जग दुखी और दुखी चन्द्र बिन रैन।
    तुम बिन साजन मैं दुखी और दुखी दरस बिन नैंन।।
  • अंगना तो परबत भयो, देहरी भई विदेस।
    जा बाबुल घर आपने, मैं चली पिया के देस।।
  • आ साजन मोरे नयनन में, तोहे पलक ढाप दूँ।
    न मैं देखूँ और न को, न तोहे देखन दूँ।
  • अपनी छवि बनाई के मैं तो पी के पास गई।
    जब छवि देखी पीव की सो अपनी भूल गई।।
  • खुसरो पाती प्रेम की बिरला बाँचे कोय।
    वेद, कुरान, पोथी पढ़े, प्रेम बिना का होय।।
  • संतों की निंदा करे, रखे पर नारी से हेत।
    वे नर ऐसे जाऐंगे, जैसे रणरेही का खेत।।
  • खुसरो सरीर सराय है क्यों सोवे सुख चैन।
    कूच नगारा सांस का, बाजत है दिन रैन।।

  • ■ ग़ज़ल – amir khusro ghazal

  • ज़िहाल-ए मिस्कीं मकुन तगाफ़ुल,
    दुराये नैना बनाये बतियां |
    कि ताब-ए-हिजरां नदारम ऎ जान,
    न लेहो काहे लगाये छतियां ||
  • शबां-ए-हिजरां दरज़ चूं ज़ुल्फ़
    वा रोज़-ए-वस्लत चो उम्र कोताह,
    सखि पिया को जो मैं न देखूं
    तो कैसे काटूं अंधेरी रतियां ||
  • यकायक अज़ दिल, दो चश्म-ए-जादू
    ब सद फ़रेबम बाबुर्द तस्कीं,
    किसे पडी है जो जा सुनावे
    पियारे पी को हमारी बतियां ||
  • चो शमा सोज़ान, चो ज़र्रा हैरान
    हमेशा गिरयान, बे इश्क आं मेह |
    न नींद नैना, ना अंग चैना,
    ना आप आवें, न भेजें पतियां ||
  • बहक्क-ए-रोज़े, विसाल-ए-दिलबर
    कि दाद मारा, गरीब खुसरौ |
    सपेत मन के, वराये राखूं
    जो जाये पांव, पिया की घतियां ||

  • :- मेरी बदहाली से क्यों तुम बेखबर रहते हो यार क्यों चुराते हो नज़र और क्यों  बात बनाते हो। अब मैं ओर जुड़े नही सह सकता मेरी जान अपनी छाती से क्यों नही लगा लेते।जुदाई की रातें तो ज़ुल्फों से भी घनी और लम्बी हैं दिन विसाल-ए-यार का ज़िन्दगी सा छोटा है। अगर मैं पिया को देख नही पाई तो अंधेरी रात कैसे काटूंगी। यकायक ही वो दो जादुई आँखें मेरे दिल का सुकून ले उड़ीं, लेकिन यह फुर्सत किसे है जो मेरे पिया तक मेरी बात पहुँचा दे। जलती हुई शम्मा और हैरान ज़र्रे की माफ़िक मैं इश्क में हमेशा फरियाद कर रहा हूँ। मेरे आंखों में न तो नींद है और न रात में चैन। मेरे पिया खुद आते भी नही और कोई खत भी नही भेजते।महबूब के दीदार के दिन की ख़ुशी का जिसने इतना लम्बा इंतज़ार कराया है, खुसरो, दिल का दर्द दबा के रखूंगी अगर मुझे कोई उस पिया की चालें समझा दे।
  • आपको हमारी यह प्रस्तुति ( Amir Khusro Poetry in Hindi) कैसी लगी जरुर बताएँ.
  • – अंशु प्रिया (Anshu priya)

.

Read Also - इन्हें भी पढ़ें

About SuvicharHindi.Com ( Best Online Hindi Blog Website ) earn knowledge & share it on social media seo service

server hosting seo gmail affiliate domain marketing startup insurance seo services DISEASES Children Health Men's Health Women's Health Cancer Heart Health Diabetes Other Diseases Miscellaneous DIET & FITNESS Weight Management Healthy Diet Exercise Fitness Yoga Alternative Therapies Mind And Body Ayurveda Home Remedies GROOMING Fashion And Beauty Hair Care Skin Care PREGNANCY & PARENTING New Born Care Parenting Tips RELATIONSHIPS Marriage Dating HEALTH EXPERTS Hi, friends, SuvicharHindi.Com की कोशिश है कि हिंदी पाठकों को उनकी पसंद की हर जानकारी SuvicharHindi.Com में मिले. SuvicharHindi.com में आपको Hindi shayari, Hindi Ghazal, Long & Short Hindi Slogans, Hindi Posters, Hindi Quotes with images wallpapers || Hindi Thoughts || Hindi Suvichar, Hindi & English Status, Hindi MSG Messages 140 words text, Hindi wishes, Best Hindi Tips & Tricks, Hindi Dadi maa ke Gharelu Nuskhe, Hindi Biography jeevan parichay jivani, Cute Hindi Poems poetry || Awesome Kavita, Hindi essay nibandh, Hindi Geet Lyrics, Hindi 2 sad / happy / romantic / liners / boyfriend / girlfriend gf / bf for facebook ( fb ) & whatsapp, useful 1 one line rs मिलेंगे. हमारे Website में दी गई चिकित्सा सम्बन्धित जानकारियाँ / Upay / Tarike / Nuskhe केवल जानकारी के लिए है, इनका उपयोग करने से पहले निकट के किसी Doctor से सलाह जरुर लें.
Previous प्यार-इश्क-मोहब्बत पर कविता – Pyar Ki Kavita Ishq Poem Mohabbat Hindi Poetry Prem :
Next वक्त पर 38 कोट्स Waqt Quotes in Hindi Quotes on Waqt Ki Ahmiyat Samay Pe Vichar :

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.