बेरुखी शायरी | Berukhi Shayari in Hindi

Berukhi Shayari in Hindi Font Status Quotes

बेरुखी शायरी – Berukhi Quotes Status Shayari in Hindi For facebook and whatsapp – जिसे हम बहुत ज्यादा मानते हैं, उसकी बेरुखी हमें झकझोर कर रख देती है.

  • इतनी बेरुखी से गई वो मुझे छोड़कर, कि हम मुस्कुराना भूल गये
    और बातें क्या बताएँ तुमको, हम किसी से भी दिल लगाना भूल गये.
    Itni Berukhi 2 lines shayari
  • जहाँ सौ वफाओं के बाद भी बेरुखी मिले, वहाँ प्यार की उम्मीद मत करना
    ढूढ़ लेना कोई और हमसफर, उसकी चाह में खुद को तबाह मत करना.
    Pyar ke badle berukhi shayari in Hindi
  • जो लोग बेरुखी से पेश आते हैं सभी से
    उनसे लोग दूर हो जाते हैं धीरे से.
  • उनकी बेरुखी ने बतलाया अब वो मेरे नहीं रहे
    जिनकी खातिर हमने क्या-क्या सितम नहीं सहे.
    Sad Unki berukhi shayari
  • बेरुखी से वो मुझसे पेश आएगी यह सोचा ना था
    क्योंकि मुझे यकीन था यह प्यार था धोखा ना था.
    Berukhi love shayari
  • बेरुखी जहाँ हो वहाँ प्यार बिल्कुल नहीं होता
    क्योंकि अपनेपन के बिना कोई रिश्ता, रिश्ता नहीं होता.
    realtions and berukhi
  • तेरी ये अदा ये बेरुखी उम्र भर याद रहेगी मुझे
    तू बेवफा निकली…..
    इसलिए किसी और से वफा की तलाश रहेगी मुझे.

उम्र की बेरुखी ने छीन ली शरारतें मेरी
वरना मैं भी जिंदादिल हुआ करता था कभी.

  • तू ना कर हमसे बेरुखी ए जानेमन, वरना बड़ा पछताएगी
    दूर तो जाएगी मुझसे, लेकिन मेरे जैसा फिर कहाँ पाओगी.
  • बेरुखी की आदत जिन्हें होती है
    अक्सर दुनिया उनसे रूठी होती है.
  • ऐसी भी क्या बेरुखी, जो मैं तेरा अपना ना रहा
    तेरे इश्क में मैंने क्या-क्या दर्द ना सहा.
  • तेरी बेरुखी एक दिन मुझसे तुझसे दूर कर देगी
    तेरी बेरुखी मुझे तेरे बिना जीने पर मजबूर कर देगी.
  • चार पैसे कमाते हीं लोग बेरुखी से पेश आने लगते हैं
    पैसे से खरीद लेंगे हर चीज, यह जताने लगते हैं.

बेरुखी शायरी – Berukhi Shayari Status Quotes in Hindi

  • जब से उसने बेरुखी का हुनर सीखा है
    वो मेरा नहीं अब और किसी का है.
  • मुझे देखकर उसने नजर फेर ली
    बेरुखी की हद इससे ज्यादा क्या होगी.
  • बेरुखी की आदत जिसे हो जाती है
    अच्छाई-बुराई उसे नजर नहीं आती है.
  • उसकी बेरुखी ने मुझे उसका असली चेहरा दिखाया
    जिसके लिए हमने क्या-क्या नहीं गंवाया.
  • कोई शख्स खास ना हो, तो बेरुखी हमेशा बरकरार रहती है
    किसी के पीछे ना उम्र गंवाना, बस यही बात कहती है.
  • तुम्हारी बेरुखी ने हमें पत्थर बना डाला
    कमाया प्यार कम, सब कुछ गंवा डाला.
  • वक्त भी था, मौका भी था और तन्हाई भी
    लेकिन बेरुखी उसकी बरकरार रही मेरे प्रति.
  • बेरुखी से पेश आया करो खुदगर्ज लोगों से
    क्योंकि हर किसी के आगे झुकना अच्छा नहीं होता.
  • तेरी बेरुखी ने दिल को बंजर बना दिया
    वरना कभी मेरा दिल भी गुलजार हुआ करता था.
    Teri Berukhi Shayari in Hindi

वो ऐसे मुझे अब भी अपने प्यार की याद दिलाता है
मुझसे बेरुखी से पेश आकर, बेरुखी से मुस्कुराता है.

Frequently Asked Questions on Berukhi ( FAQ )

  1. Q. लाख कोशिशों के बाद भी किसी की बेरुखी खत्म ना हो, तो क्या करना चाहिए ?
    Ans – आपको ऐसे व्यक्ति से दूर हो जाना चाहिए, क्योंकि अगर कोई व्यक्ति आपके बार-बार मनाने पर भी नहीं मान रहा है. ऐसे मामले में सब कुछ समय पर छोड़ देना चाहिए.
  2. Q. जिन्हें आप पसंद नहीं करते हों, उनके प्रति व्यवहार रुखा होना चाहिए ?
    Ans – भले ऐसे लोगों के साथ सिर्फ औपचारिकता निभाइए, लेकिन व्यवहार किसी के प्रति रुखा नहीं होना चाहिए.
  3. Q. हमारे साथ रुखा व्यवहार कौन करता है ?
    Ans – जिनकी नजर में हमारा थोड़ा भी महत्व नहीं होता है, ऐसे लोग हमारे साथ बेरुखी से पेश आते हैं.
  4. Q. किसी की बेरुखी को दूर करने का कोई उपाय है ?
    Ans – सारी बातों को अच्छे से समझाकर किसी की बेरुखी दूर की जा सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.