Hindi Poem

प्रकृति पर 3 कविता Paryavaran a Short Poem on Nature in Hindi language पोएम ऑन नेचर Poem :

A Short Poem On Nature in Hindi Language - प्रकृति सौंदर्य

Paryavaran A Short Poem on Nature in Hindi language – प्रकृति पर कविता पोएम ऑन नेचर Poem Poem on Nature in Hindi प्रकृति Poem on Paryavaran in Hindi माँ की तरह हम पर प्यार लुटाती है प्रकृतिबिना मांगे हमें कितना कुछ देती जाती है प्रकृति…..दिन में सूरज की रोशनी देती है प्रकृतिरात में शीतल चाँदनी लाती है प्रकृति…… भूमिगत जल …

Read More »

रविन्द्रनाथ टैगोर की 6 कविता ||| Rabindranath tagore poems in hindi written :

Rabindranath tagore poems in hindi written by रविन्द्रनाथ टैगोर की कविता हिंदी

Rabindranath Tagore Poems in Hindi – रवीन्द्रनाथ टैगोर कविता रविन्द्रनाथ टैगोर की कविता पिंजरे की चिड़िया..पिंजरे की चिड़िया थी सोने के पिंजरे मेंवन कि चिड़िया थी वन मेंएक दिन हुआ दोनों का सामनाक्या था विधाता के मन मेंवन की चिड़िया कहे सुन पिंजरे की चिड़िया रे         वन में उड़ें दोनों मिलकरपिंजरे की चिड़िया कहे वन की चिड़िया रे            पिंजरे में रहना बड़ा सुखकरवन …

Read More »

Nar Ho Na Nirash Karo Man Ko || नर हो, न निराश करो मन को कुछ काम करो :

Nar Ho Na Nirash Karo Man Ko || नर हो, न निराश करो मन को कुछ काम करो

Nar Ho Na Nirash Karo Man Ko – नर हो, न निराश करो मन को कुछ काम करो Nar Ho Na Nirash Karo Man Ko || नर हो, न निराश करो मन को कुछ काम करो नर हो, न निराश करो मन को नर हो, न निराश करो मन कोकुछ काम करो, कुछ काम करोजग में रह कर कुछ नाम करोयह …

Read More »

जीवन पर कविता ज़िन्दगी की धूप-छाँव emotional Hindi Poems on Life struggle Inspiration :

जीवन पर कविता - ज़िन्दगी की धूप-छाँव - Hindi Poems on Life Struggle Inspiration

Hindi Poems on Life Struggle – ज़िन्दगी की धूप-छाँव Zindagi Ka Sangharsh ज़िन्दगी की धूप-छाँव कभी गम, तो कभी खुशी है ज़िन्दगीकभी धूप, तो कभी छाँव है ज़िन्दगी . . . . . . .विधाता ने जो दिया, वो अद्भुत उपहार है ज़िन्दगीकुदरत ने जो धरती पर बिखेरा वो प्यार है ज़िन्दगी . . . . . .जिससे हर रोज …

Read More »

प्यार पर 2 बेहतरीन कविताएँ Love Poem in Hindi for girlfriend gf bf wife lover :

2 Love Poem in Hindi For Girlfriend gf bf wife प्यार पर बेहतरीन कविताएँ lover

Love Poem in Hindi For Girlfriend – प्रेम कविता / प्यार का नया सिलसिला gf ke liye kavita प्यार का नया सिलसिला तुम्हारे लिए ख्वाबों की एक दुनिया सजाई है मैंनेमेरे ख्वाबों की दुनिया में तुम आओ तो सही……………….न जाने तुम अब तक क्यों मुझसे दूर होछोड़ कर सबकुछ मेरी बाहों में समा जाओ तो सही……………….मैं तो हक से तुम्हें पुकारता …

Read More »

सुभद्राकुमारी चौहान की कविताएँ Subhadra Kumari Chauhan Poems in Hindi :

subhadra kumari chauhan poems in hindi

Subhadra Kumari Chauhan Poems in Hindi – सुभद्राकुमारी चौहान पोएम्स इन हिंदी Subhadra Kumari Chauhan Poems in Hindi सुभद्राकुमारी चौहान की कविताएँ मेरा नया बचपनबार-बार आती है मुझको मधुर याद बचपन तेरी।गया ले गया तू जीवन की सबसे मस्त खुशी मेरी॥चिंता-रहित खेलना-खाना वह फिरना निर्भय स्वच्छंद। कैसे भूला जा सकता है बचपन का अतुलित आनंद?ऊँच-नीच का ज्ञान नहीं था छुआछूत …

Read More »

मैथिलीशरण गुप्त की 7 कविताएँ – Maithili Sharan Gupt Poems in Hindi :

maithili sharan gupt poems in hindi

Maithili Sharan Gupt Poems in Hindi मैथिलीशरण गुप्त की 7 कविताएँ  मैथिलीशरण गुप्त की कविताएँ  नर हो, न निराश करो मन को नर हो, न निराश करो मन कोकुछ काम करो, कुछ काम करोजग में रह कर कुछ नाम करोयह जन्म हुआ किस अर्थ अहोसमझो जिसमें यह व्यर्थ न होकुछ तो उपयुक्त करो तन कोनर हो, न निराश करो मन …

Read More »

प्यार पर हिन्दी कविता – Sweet Love Poem in Hindi Lyrics Girl friend Boy friend :

प्यार पर हिन्दी कविता - Sweet Love Poem in Hindi Lyrics Girl friend Boy friend

Love Poem in Hindi -प्यार भरी कविता  Sweet Love Poem in Hindi प्यार पर हिन्दी कविता जो तुमसे दूर चला गया है, उसके लिए क्यों आँसू बहानाजो अतीत का पन्ना है, उसके लिए क्यों अपना वर्तमान गंवानाजो जीवन नहीं था, जो जीवन का एक हिस्सा भर था…………………जो अब बेगाना है, उसके लिए क्यों खुद को दिन-रात रुलानापर अब वो किसी …

Read More »

4 बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कविता || Beti Bachao Poems in Hindi padhao Kavita :

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर 4 कविता - Beti Bachao Poems in Hindi Beti Padhao Kavita

Beti Bachao Poems in Hindi – बेटी बचाओ पर कविता बेटी बचाओ कविता – Beti Bachao Poem In Hindi बेटी है जग का आधारजब माँ हीं जग में न होगीतो तुम जन्म किससे पाओगे ?……..जब बहन न होगी घर के आंगन मेंतो किससे रुठोगे, किसे मनाओगे ?………जब दादी-नानी न होगी तो तुम्हें कहानी कौन सुनाएगा ?…जब कोई स्वप्न सुन्दरी हीं न …

Read More »