परियों के देश में – Child Poem in Hindi Free Download

1
22
Child Poem in Hindi Free Download

Child Poem in Hindi Free Download – Child Poem in Hindi Free Download – Child Poem in Hindi Free Download Child Poem in Hindi Free Download

 

  • परियों के देश में

 

  • उड़ के चलूं आज मैं, एक ऐसे देश में,
    मिलेंगी जहां खुशियां, परियों के भेष में
    हर दर्द भूल जाउंगी, यूं ही खेल-खेल में
    मिलेंगी जहां खुशियां, परियों के भेष में
    देखा है एक सपना, सच करने जाउंगी
    ख्वाबों की नगरी में, नए घर बसाउंगी
    सच होंगें सारे सपने, बस सोच-सोच में
    मिलेंगी जहां खुशियां, परियों के भेष में
    मैं आसमां को खिड़कियों से, घर में लाउंगी
    चंदा मामा को मैं, आइना बनाउंगी
    सुरज-चांद-सितारे, खेले मेरे साथ-साथ में
    मिलेंगी जहां खुशियां, परियों के भेष में
    कागज पे लिपटी हुई, मेरी रात कह रही
    सपनों के अध्याय, हर रोज खोल रही
    कलम के दवात से, बुनूं ख्वाब-ख्वाब मैं
    मिलेंगी जहां खुशियां, परियों के भेष में
    प्यार की कश्ती में, सब झुमे नाचेंगें
    खुशियों की लहरों में, हर गम भूल जाएंगें
    खिलेंगें फूल प्यार के, हर डाल-डाल में
    मिलेंगी जहां खुशियां, परियों के भेष में
    सफलता की चादरों में, मैं लिपट जाउंगी
    चूनर प्रसिद्धियों की, हर वक्त लहराउंगी
    पहचानेंगें लोग मुझे, मेरे नाम-काम से
    मिलेंगी जहां खुशियां, परियों के भेष में
    – काजल कुमारी झा.
  • ud ke chaloon aaj main, ek aise desh mein,
    milengee jahaan khushiyaan, pariyon ke bhesh mein
    har dard bhool jaungee, yoon hee khel-khel mein
    milengee jahaan khushiyaan, pariyon ke bhesh mein
    dekha hai ek sapana, sach karane jaungee
    khvaabon kee nagaree mein, nae ghar basaungee
    sach hongen saare sapane, bas soch-soch mein
    milengee jahaan khushiyaan, pariyon ke bhesh mein
    main aasamaan ko khidakiyon se, ghar mein laungee
    chanda maama ko main, aaina banaungee
    suraj-chaand-sitaare, khele mere saath-saath mein
    milengee jahaan khushiyaan, pariyon ke bhesh mein
    kaagaj pe lipatee huee, meree raat kah rahee
    sapanon ke adhyaay, har roj khol rahee
    kalam ke davaat se, bunoon khvaab-khvaab main
    milengee jahaan khushiyaan, pariyon ke bhesh mein
    pyaar kee kashtee mein, sab jhume naachengen
    khushiyon kee laharon mein, har gam bhool jaengen
    khilengen phool pyaar ke, har daal-daal mein
    milengee jahaan khushiyaan, pariyon ke bhesh mein
    saphalata kee chaadaron mein, main lipat jaungee
    choonar prasiddhiyon kee, har vakt laharaungee
    pahachaanengen log mujhe, mere naam-kaam se

 

SHARE
Previous articleबूंद सावन की – Poem On Sawan in Hindi – सावन पर कविता
Next articleविश्वास पर 23 विचार – Believe Quotes in Hindi Language
Hi friends, I am Abhishek Mishra ( Abhi ), SuvicharHindi.Com का Founder और Administrator . SuvicharHindi.Com की कोशिश है कि हिंदी पाठकों को उनकी पसंद की हर जानकारी हमारे Website में मिले और हिंदी Writers को एक Global मंच मिले. अगर आपमें लिखने की क्षमता है, तो आप अपनी मौलिक और अप्रकाशित Article, Kavita, Shayari या Vichar अपने Photo के साथ हमें 25suvicharhindi@gmail.com पर Email कर सकते हैं.

1 COMMENT

  1. Child Poem in Hindi Free Download

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here