Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content

68 देश भक्ति शायरी || Desh Bhakti Shayari in Hindi deshbhakti shayari in hindi :

Desh Bhakti Shayari in Hindi font देशभक्ति शायरी 
Desh Bhakti Shayari in Hindi | देश भक्ति शायरी | Deshbhakti Shayari in Hindi

  • Desh Bhakti Shayari in Hindi

  • soldiers par Desh Bhakti Shayari in Hindi
    दुश्मनों के तोप के आगे जो सीना तानकर अड़ गया
    सोचो वो वीर कैसा होगा, जो तोप पर भारी पड़ गया
    ऐसे कई वीरों ने दुश्मनों को धूल चटाई है
    तब जाकर देश की आजादी अखण्ड रह पाई है.
  • Desh Bhakti Shayari in Hindi for Shahid
    वीरगति पाना, वरदान पाने से कम नहीं होता
    क्योंकि लोग तो रोज लाखों मरते हैं……..
    लेकिन तिरंगा हर किसी का कफन नहीं होता.
  • जब कोई वीर देश के लिए अपना लहू बहाता है
    तब हर देशवासी रात को चैन की नींद ले पाता है.
  • हर भारतीय की आँखों में सुनहरे भारत का स्वप्न हो ,
    हर नौजवान के दिल में देश के लिए जीने-मरने की लगन हो.
    मेरे और अरमान पूरे हों या न हो….. लेकिन बस मैं इतना चाहता हूँ
    जब-जब जन्म लूँ इस धरती पर, तो भारत मेरा वतन हो …
  • Subhash par Desh Bhakti Shayari in Hindi
    जब सुभाष ने आजाद हिन्द से धावा बोला,
    तब अंग्रेज थर्राए थेआजादी अब देनी ही होगी,
    यह संदेश उन्होंने लंदन तक पहुँचाए थे
    लाखों लोगों के लहू बहे, तब आजादी के दिन आए थे
  • Desh Bhakti Shayari in Hindi on desh bhakti
    आपकी प्राथमिकता में सबसे पहले देश होना चाहिये
    राष्ट्र से बड़ा नहीं होता कुछ, यह संदेश होना चाहिये
    हर किसी को देश से प्रेम हो, ऐसा घर-घर का परिवेश होना चाहिये.
  • Desh Bhakti Shayari in Hindi on desh prem
    जब देश प्रेम का नशा चढ़ता है, तभी तो खुदगर्जी का नशा उतरता है
    और तभी तो कोई विक्रम बत्रा, तो कोई मनोज पाण्डेय बन देश की खातिर मरता है.
    ( विक्रम बत्रा, और मनोज पाण्डेय कारगिल की युद्ध में शहीद हुए थे )
  • Desh Bhakti Shayari in Hindi on matribhumi

    देश प्रेम से बड़ा कोई संकल्प नहीं होता

    और देश के बारे में जितनी भी गलतफहमियां पाल लो तुम

    पर याद रखो मातृभूमि का कोई विकल्प नहीं होता.

  • Desh Bhakti Shayari in Hindi on gulami
    जाति, क्षेत्र, भाषा में हम बँटे रहे इसलिए 700 वर्षों तक गुलामी के दंश सहे
    हम फिर वही गलती दोहरा रहे हैं, जाति, क्षेत्र, भाषा में बँटे जा रहे हैं
    जो हम मुगलों और अंग्रेजों की सोच वाले लोगों को एेसे ही सिर पर चढ़ाएंगे
    आने वाली पीढ़ियों को फिर गुलामी का अभिशाप दे जाएंगे
  • जब-जब कोई कलम बिका कई पीढ़ियों को गुमराह कर गया
    शाहजहाँ को सर्वश्रेष्ठ प्रेमी बताया और अकबर को महान कर गया
    क्रांतिकारियों के योगदान को किनारे करके,
    अाजादी का सारा श्रेय गाँधीवादियों के नाम कर गया
  • दुश्मन की हर बात का जवाब होते हैं सैनिक
    वीरता की खुली किताब होते हैं सैनिक
    देशभक्ति की मिसाल होते हैं सैनिक
    देशवासियों की ढाल होते हैं सैनिक
  • न जाने कितनों ने आजादी के यज्ञ में अपनी आहुति चढ़ाई
    तब जाकर आजादी की सुनहरी सुबह आई
    न जाने कितनों ने जौहर किए, न जाने कितनों ने वीरगति पाई
  • देश को आजादी के नए अफसानों की जरूरत है
    भगत-आजाद जैसे आजादी के दीवानों की जरूरत है
    भारत को फिर देशभक्त परवानों की जरूरत है………………….
  • जिन्हें है प्यार वतन से, वो देश के लिए अपना लहू बहाते हैं
    माँ की चरणों में अपना शीश चढ़ाकर, देश की आजादी बचाते हैं
    देश के लिए हँसते-हँसते अपनी जान लुटाते हैं…………………………
  • अनगिनत क्रांतिकारियों ने लहू देकर दिलाई है स्वतन्त्रता
    वीर सैनिकों ने लहू देकर बचाई है स्वतन्त्रता……
    चार दिनों में मिली नहीं है यह, सदियों की कमाई है स्वतन्त्रता…….
    कुर्बानियों पर कुर्बानियाँ दी, तब जाकर हमने पाई है स्वतन्त्रता………
  • बात जब भी देश के सुरक्षा की आएगी
    हम दुश्मनों के संहार के लिए तैयार रहेंगे
    छोटी-बड़ी सभी कुर्बानियों के लिए तैयार रहेंगे.
  • Desh Bhakti Shayari in Hindi

  • अकबर तो था आक्रमणकारी, उसे महान मत बतलाओ
    वीर प्रताप के गुण गाओ………
    महाराणा के स्वाभिमान को मत भूल जाओ
    अकबर को महान बताना मक्कारी है, गद्दारी है………..
    अपना प्रताप लाखों अकबरों पर अकेले भारी है……………….
  • जिसने शाहजहाँ और औरंगजेब को उनकी नानी याद दिलाई थी
    वो मराठा वीर शिवाजी थे, जिसने मुगलों की चूलें हिलाई थी
    उस भगवा ध्वज वाहक में गजब की रवानी थी…………………………………..
    जिसने हर हिन्दुस्तानी के दिल में फिर, देशभक्ति की आग जलाई थी………………….
  • अपने खून का एक-एक कतरा बहाया वतन के वास्ते
    एक भी कतरा नहीं बचाया अपने वास्ते
    दुनिया में तो लाखों रोज मरते हैं……
    पर असल मरना तो वह है, जो मरते हैं वतन के वास्ते.
  • अपने खून से देश की सरहद को सींचते हैं हम
    हर रोज मौत और तूफानों से खेलते हैं हम
    दुश्मनों के मंसूबों पर पानी फेरते हैं हम
    मेरा देश महफूज रहे इसलिए हर दर्द झेलते हैं हम.
  • hindi desh bhakti shayari

  • दुनिया में सबसे खूबसूरत है भारत
    संस्कृति और विज्ञान का तराना है भारत
    मानवता का अद्भुत खजाना है भारत.
  • कौन बनेगा सरदार भगत सिंह
    कौन बनेगा स्वाभिमानी प्रताप
    Koun कौन बनेगा सरदार पटेल
    कौन-कौन करेगा देश के दुश्मनों का विनाश.
  • आज हम जहाँ लहू बहा रहे हैं, कल वहाँ  देशप्रेम के फसल लहलहाएंगे
    हम सैनिक हैं, हमारा धर्म है देश के लिए लड़ना
    Hum हम देशभक्ति की वीरगाथा गाते जायेंगे
    हम देश के दुश्मनों को जड़ से मिटाते जायेंगे.
  • हम कभी न कभी यह प्रश्न पूछते हैं कि आखिर हमारे सैनिक कबतक मारे जायेंगे….. इस प्रश्न का उत्तर हैं ये दो पंक्तियाँ
    जबतक गद्दारों के सिर न काटे जायेंगे
    तबतक सीमा पर सैनिक मारे जायेंगे.
    Desh Bhakti Shayaris by – Abhishek Mishra “Abhi”
  • जिंदगी जब तुझको समझा, मौत फिर क्या चीज है.
    ऐ वतन तू हीं बता, तुझसे बड़ी क्या चीज है – संतोष आनंद.
  • वक्त आने दे बता देंगे तुझे ऐ आसमां
    हम अभी से क्या बताएँ, क्या हमारे दिल में है.
  • शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले,
    वतन पे मर मिटनेवालों का बाकी यही निशां होगा.
  • अनेकता में एकता ही इस देश की शान है,
    इसीलिए मेरा भारत महान है.
  • खून से खेलेंगे होली,
    अगर वतन मुश्किल में है
    सरफ़रोशी की तमन्ना
    अब हमारे दिल में है.
  • चन्दन है इस देश की माटी,
    तपोभूमि हर ग्राम है.
    हर बाला देवी की प्रतिमा,
    बच्चा-बच्चा राम है.
  • जो अब तक ना खौला, वो खून नहीं पानी है,

    जो देश के काम ना आये, वो बेकार जवानी है

  • ऐ मेरे वतन के लोगों तुम खूब लगा लो नारा
    ये शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा
    पर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गँवाए
    कुछ याद उन्हें भी कर लो जो लौट के घर न आये.
  • लिख रहा हूं मैं अजांम जिसका कल आगाज आयेगा,
    मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा
    मैं रहूँ या ना रहूँ पर ये वादा है तुमसे मेरा कि,
    मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आयेगा.
  • अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं
    सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं.
  • आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे
    शहीदों की कुर्बानी बदनाम नहीं होने देंगे
    बची हो जो एक बूंद भी लहू की
    तब तक भारत माता का आँचल नीलाम नहीं होने देंगे.
  • खींच दो अपने ख़ूँ से जमीं पर लकीर
    इस तरफ आने पाये ना रावण कोई
    तोड़ दो अगर कोई हाथ उठने लगे
    छू ना पाये सीता का दामन कोई
    राम भी तुम तुम्हीं लक्ष्मण साथियो
    अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो.
  • तेरे दामन से जो आये, उन हवाओं को सलाम
    चूम लूँ मैं उस जुबां को जिस पे आये तेरा नाम
    सबसे सुन्दर सुबह तेरी
    सबसे सुन्दर तेरी शाम
    तुझ पे दिल कुरबान
    ऐ मेरे प्यारे वतन,
    ऐ मेरे पिछड़े चमन
    तुझ पे दिल कुर्बान।।.
  • कर चले हम फ़िदा जाने तन साथियो

    अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो

    ….अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो

  • कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
    कुछ नशा मातृभूमि की मान का है,
    हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा,
    नशा ये हिन्दुस्तान की शान का है.
  • दिल से मर कर भी ना निकलेगी वतन की उल्फ़त,
    मेरे मिट्टी से भी खुशबू-ए-वतन आएगी.
  • नज़ारे नज़र से ये कहने लगे,नयन से बड़ी चीज कोई नहीं

    तभी मेरे दिल ने ये आवाज दी, वतन से बड़ी चीज कोई नहीं – संतोष आनंद

  • हम हैं हिन्दुस्तानी
    हम हैं हिन्दुस्तानी
    हमने न कभी हार मानी
    क्योंकि हम हैं हिन्दुस्तानी
    आँधी आए या आए तूफान
    खड़े रहे हैं सीना तान
    सिर न झुकायेंगे, चाहे मिट जायेंगे
    बनकर न रहे सिर्फ कहानी
    समझ जाओ ये कहानी मेरी जुबानी
    क्योंकि मैं हूँ हिन्दुस्तानी – Arya
  • इतिहास गा रहा है.

    इतिहास गा रहा है दिन रात गुण हमारा
    दुनिया के लोगों सुन लो यह देश है हमारा ||
    इस पर जनम लिया है इसका पिया है पानी
    माता यह है हमारी यह है पिता हमारा
    दुनिया के लोगों सुन लो यह देश है हमारा ||
    वह देवता हिमालय हमको पुकारता है
    गुण गा रही है निश-दिन गंगा की शुभ पुण्य धारा
    दुनिया के लोगों सुन लो यह देश है हमारा ||
    पोरस की वीरता को झेलम तू ही बता दे
    यूनान का सिकंदर था तेरे तट पे हारा
    दुनिया के लोगों सुन लो यह देश है हमारा ||
    उज्जैन फिर सुना दे विक्रम की वह कहानी
    जिसमे प्रकट हुआ था संवत नया हमारा
    दुनिया के लोगों सुन लो यह देश है हमारा ||
    आता है याद हरदम गुप्तों का वह जमाना
    सारे जहाँ पे छाया वह स्वर्ण-युग हमारा
    दुनिया के लोगों सुन लो यह देश है हमारा ||
    चित्तोड़ रायगढ़ और चमकौर फिर गरज उठे थे
    सदियों लड़ा निरन्तर आज़ाद खूं हमारा
    दुनिया के लोगों सुन लो यह देश है हमारा ||
    दी क्रांतिकारियों ने अंग्रेज को चुनौती
    पल-पल प्रकट हुआ था स्वातंत्र्य वह हमारा
    दुनिया के लोगों सुन लो यह देश है हमारा ||
    हम इनको भूल जाएँ संभव नहीं कभी यह
    इनके लिए जियेंगे यह धर्म है हमारा
    दुनिया के लोगों सुन लो यह देश है हमारा ||
    होगा भविष्य उज्ज्वल संसार में अनोखा
    बतला रहा है हमको यह संगठन हमारा
  • देशभक्ति के गीत हिंदी में Desh Bhakti Geet in Hindi Written for Kids Lyrics New
  • देशभक्ति के गीत हिंदी में Desh Bhakti Geet in Hindi Written for Kids Lyrics New

.

Previous वीर रस कविता | Veer Ras Kavita | VirRas Poem :
Next 8 देशभक्ति कविता हिन्दी में short Desh Bhakti Poem in Hindi desh bhakti kavita :

50 comments

  1. Sgaar motilal chavhan

    जिगर वालो का डर से कोई वास्ता नही होता
    हम कदम वहाँ रखते है……जहाँ कोई रास्ता नही होता
    |जय हिँद|

  2. Thank you india i am ratan nawabganj

  3. mahaveer lohar

    good wishes for 71th independence day

  4. ANKUR KUMAR GAUTAM

    AT THE I LOVE MY INDIA

  5. Surendra Rajput

    Q marte ho sanam ke liye dupata bhi nahi degi kafhan ke liye marna he to maro vatang ke liye marne ke bad tiranga to mile ga kafhan ke liye Jay hind

  6. SWAPAN DAS

    I LOVE MY INDIA JAY HIND

  7. kuldeep kumar pal

    jahan raskhan kanha ke bhajan gakar rijhata hai jahanbuduaa majaro par duye mang aata hai jahan charch mandir masjido man hota uasi nam mere dost hindustan hota hai

  8. Himanshu chauhan

    jai hind

  9. shrigopal

    nice thought

  10. Anonymous

    Comment:jai ho
    nice
    ,

  11. Atul Raj

    Very very well

  12. Jagmohan yadav

    Hidustan Hindu in intelejent love love jay hind

  13. Monu chauhan

    Comment: I like this shayri

  14. Aman Kumar Goswami

    I love my india and Indian

  15. durgesh saina sir ja hend

    Durgesh saini sir ja haed

  16. SANNEE KUMAR

    I love india

  17. Anonymous

    Jai hind……

  18. Som vishwakarma

    अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं
    सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं

  19. anil kesharwani

    Gud Bhai gjb lines yrr

  20. Himanshu choudhary

    Hum sur juka nahi sakte Hum sur kata sakte hai JAI BHARAT MATE KI JAI

  21. surendra

    Jai hind

  22. rahul dev verman tilaiya

    Also varsity ki haddi me bars Josh purana the log Kahte hai vir Kumar Singh bada vir Mariana that. Rahul from Patna

  23. rahul dev verman

    Gagan bech denge dhra beach denge bechne wale kya kya beach denge. Oe vatan ke sipahi agar so gaye ho to vatan wale vatan hi Beth denge. Rahul from Tilaiya gaya patna

  24. Tapendra bhardwaj

    Jindgi ke kirdar ko itani siddhat se jio ki parda girne ke bad bhi taliya baje

  25. sonu prajapati

    I love my india

  26. sonu prajapati

    Kiyo marte ho sanam keli dupta na degi.kafan keli .maro to batan keli tiraga milega kafan keli

  27. Anonymous

    Vijay??????????☝

  28. Anonymous

    I Love My India

  29. Abhishek

    Aaj vatan ko aajad sukhdev jase uvao ki jruret he Abhishek love tannu

  30. priya mehta

    I am proud of all freedom fighters and their dreams

  31. shivam shahil shipu

    Na teer se na talvar se na goliyo ki boochhar se ye banda darta hai to Pakistani yo Bharat maa ke Lalo ke (saenik) lalkar se

  32. Your Name

    bharat mata ki jai.

  33. Arvind sharma

    I love Indians kya krne aye the kya kr Bethe khi mndir to khi msjid bna Bethe. Are hmse ache to ye pnchi hai. Jo kbhi mndir to kbhi msjid ja Bethe

  34. C.P.Banna

    I love my india
    वन्दे मातरम्
    जय हिँद जय भारत

  35. Anonymous

    Nice

  36. Naveen Chopra

    very nice
    I like it

  37. sandeep chauhan

    I like this shayari

  38. Anonymous

    Nice and sooooo sweet

  39. Prakash Kumar Nirala

    bahut badhiya

  40. Ramree kr yadav

    Your Comment Very good

  41. chahat

    That’s for writers
    Jai, hind

  42. manish chaudhary .bajrang del

    very nice and sweets.

  43. Anonymous

    Duniyame koi asa malk nahia joa hindustan ke do tukade kar sake. …bharat mata ki Jay. ..

  44. Akshay upadhyay

    Nice

  45. gopal purbiya

    Good

  46. Ritesh kumar

    i like it

  47. ANKIT KR. PANDIT

    wah! kya shyar hai.

  48. गुलाब गहलावत

    वन्देमातरम् भाई हम आप के साथ हैं
    http://www.fb.com/bbarajivdixit

  49. Sagar prajapati

    I lIkE iT sHaYaRi

  50. Ankitesh kUmar anku

    I Like this shairi

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.