Recent Posts

Essay on Diwali in Hindi in 250 Words दीपावली पर निबंध Diwali Par Nibandh

essay on diwali in hindi in 250 words – short essay on diwali in hindi – essay on diwali in hindi for kids – diwali festival essay in hindi – essay on diwali in hindi in 250 words – long essay on diwali in hindi – essay on diwali in hindi language – diwali essay in hindi for child – eco friendly diwali essay in hindi – diwali par essay in hindi – essay on diwali in hindi in 250 words – diwali essay in hindi for class 2 – diwali essay in hindi 100 words – essay on diwali in hindi for class 6 – diwali essay in hindi for class 8 – diwali essay in hindi for class 4 – essay on diwali pollution in hindi – diwali essay in hindi for class 5 – diwali without crackers essay in hindi – essay on diwali in hindi for class 3 – essay on diwali in hindi for class 7 – diwali essay in hindi for class 6 – essay on my favourite festival diwali in hindi – essay on diwali in hindi for class 5 – essay on diwali in hindi wikipedia – diwali nibandh in hindi – diwali par nibandh – diwali nibandh in english – diwali par nibandh in hindi – nibandh on diwali in hindi – nibandh on diwali – diwali ka nibandh – diwali par nibandh hindi mein – essay on diwali in hindi in 250 words – दीपावली पर निबंध – दीपावली पर निबंध हिंदी में – दीपावली का महत्व – निबंध दीपावली – दीपावली हिन्दी निबंध – दीपावली निबंध
Essay on Diwali in Hindi in 250 Words दीपावली पर निबंध Diwali Par Nibandh

 

  • दीपावली भारत के प्रमुख त्योहारों में से एक है. यह कार्तिक मास की अमावस्या को प्रति वर्ष मनाया जाता है. दीपावली को दीपों के त्यौहार के रूप में जाना जाता है. दीपावली अंधकार पर प्रकाश की जीत का पर्व है.
    भारत के हर घर में इस दिन दीप जलाये जाते हैं.

 

  • दीवाली के दिन भगवान गणेश और माता लक्ष्मी की पूजा की जाती है.

  • दीपावली को दीवाली के नाम से भी जाना जाता है.
  • हिंदू मान्यताओं में के अनुसार कार्तिक मास की अमावस्या को भगवान श्रीराम 14 वर्ष का वनवास काटकर तथा रावणा का संहार करके अयोध्या लौटे थे.
  • दीपावली में सभी लोग अपने घरों की सफाई करते हैं. यह पर्व सफाई का महत्व भी बताता है.
  • कार्तिक मास की त्रयोदशी से लेकर कार्तिक मास की अमावस्या तक दीपावली का उत्साह चरम पर रहता है.
  • ऐसा माना जाता है कि समुद्रमंथन से इसी दिन माता लक्ष्मी प्रकट हुई थी.
  • दीपावली के दिन बड़े मिठाइयाँ खाते हैं और बच्चे पटाखे जलाते हैं.
  • इस दिन घर के आंगन में सुंदर सी रंगोली बनाई जाती है.
  • दीपावली के दिन हर घर दीपों की रौशनी से जगमगा उठता है, घरों की शोभा देखने लायक होती है.
  • दीपावली के दिन दुकानदार और व्यापारी अपने दुकानों में धूमधाम से लक्ष्मी-गणेश की पूजा करते हैं.
  • इस दिन सभी लोग नये कपड़े पहनते हैं. छोटे-बड़े सभी इस त्यौहार को उत्साह के साथ मनाते हैं.
  • दीपावली से पहले सारे बाजार दीपावली के सामानों से भर जाते हैं. बाजारों की रौनक देखते हीं बनती है.
  • इस दिन घरों में विशेष पकवान बनाए जाते हैं.
  • बच्चे छोटे-छोटे घरौंदे बनाते हैं और इसमें गणेश-लक्ष्मी की मूर्ति रखकर पूजा करते हैं.
  • दीपावली का त्यौहार केवल भारत में हीं नहीं बल्कि हर उस स्थान पर मनाया जाता है, जहाँ-जहाँ हिन्दू रहते हैं.
  • दीपावली से पहले सारे लोग अपने घरों की सफाई और पुताई करते हैं.

  • लोग इस दिन एक दूसरे को दीपावली की शुभकामनाएँ देते हैं.
  • आजकल लोग घरों को बिजली के बल्बों और विद्युत लड़ियों से सजाने लगे हैं.
  • हिन्दू धर्म में ऐसा माना जाता है कि इस दिन माता लक्ष्मी हर घर में आती हैं. इसलिए लोग माता लक्ष्मी के स्वागत में अपने घरों को सजाते हैं ताकि वो उनके घर में निवास करें.

 

  • essay on diwali in hindi in 250 words व्यापारी लोग इस दिन नये बही-खाते की पूजा करते हैं.
  • दीपावली का पर्व पूरे समाज को फिर से उर्जा से भर देता है. दीपकों के जलने से कीड़े-मकोड़े नष्ट हो जाते हैं.
  • साल भर में घरों में जो गंदगी जमा हो जाती है, वो दीवाली में साफ हो जाती है.
  • दीपावली के पहले धनतेरस मनाया जाता है और दीपावली के ठीक बाद गोवर्धन पूजा और भैया दूज मनाया जाता है.
  • दीपावली की परम्परा लोगों को स्वस्थ्य रखने में भी प्राचीन समय से मदद कर रही है.
  • दीवाली के पर्व के कारण अमावस्या की रात भी पूर्णिमा की उजली रात जैसी लगती है.
  • दीपावली का अर्थ होता है, दीपों की माला.
  • दीपावली मुख्य रूप से व्यक्तिगत त्यौहार है, जिसे लोग अपने परिवार के साथ मनाते हैं.
  • दीवाली के दिन हीं सिक्खों के स्वर्ण मन्दिर की नींव रखी गई थी.

  • यह पर्व भारत की महान और समृद्ध परम्परा का जीता-जगता प्रतीक है.
  • दीवाली के दिन कुछ लोग जुआ भी खेलते हैं, जबकि यह हमारी परम्परा का हिस्सा नहीं है.
    हमें इस कुप्रथा को फैलने से रोकने के लिए कोशिश करनी चाहिए.
  • हमें इस दिन अपने आसपास के गरीब लोगों के बीच मिठाइयाँ और पटाखे बाँटने चाहिए. ताकि उन्हें किसी प्रकार की कमी महसूस न हो. इससे सामाजिक सद्भाव बढ़ेगा और हम दूसरों के दर्द महसूस कर सकेंगे.
  • इस दिन कई लोग नया व्यापर शुरू करते हैं.
  • वर्षा ऋतु के कारण जो झाड़ियाँ और कीड़े-मकोड़े हो जाते हैं, दीवाली की सफाई के बहाने वो सब साफ हो जाते हैं.
  • ऐसा माना जता है कि भगवान राम के इस दिन वनवास से वापस लौटने की ख़ुशी में अयोध्यावासियों ने पूरे अयोध्या में दीपावली मनाई थी. हमें दीपवाली में कुछ नई परम्पराओं को जोड़ने की जरूरत है और कुछ पुरानी कुप्रथाओं को खत्म करने की जरूरत है.
  • भ्रष्टाचार पर हिन्दी में निबंध – Bhrashtachar Essay in Hindi Nibandh On Corruption

 

अगर आप कविता, कहानी इत्यादि लिखने में सक्षम हैं, तो हमें अपनी रचनाएँ 25suvicharhindi@gmail.com पर भेजें. आपकी रचनाएँ मौलिक और अप्रकाशित होनी चाहिए.

About Abhi

Hi, friends, SuvicharHindi.Com की कोशिश है कि हिंदी पाठकों को उनकी पसंद की हर जानकारी SuvicharHindi.Com में मिले. SuvicharHindi.com में आपको Hindi shayari, Hindi Ghazal, Long & Short Hindi Slogans, Hindi Posters, Hindi Quotes with images wallpapers || Hindi Thoughts || Hindi Suvichar, Hindi & English Status, Hindi MSG Messages 140 words text, Hindi wishes, Best Hindi Tips & Tricks, Hindi Dadi maa ke Gharelu Nuskhe, Hindi Biography jeevan parichay jivani, Cute Hindi Poems poetry || Awesome Kavita, Hindi essay nibandh, Hindi Geet Lyrics, Hindi 2 sad / happy / romantic / liners / boyfriend / girlfriend gf / bf for facebook ( fb ) & whatsapp, useful 1 one line rs मिलेंगे. हमारे Website में दी गई चिकित्सा सम्बन्धित जानकारियाँ / Upay / Tarike / Nuskhe केवल जानकारी के लिए है, इनका उपयोग करने से पहले निकट के किसी Doctor से सलाह जरुर लें.

One comment

  1. priya

    very nice and interesting post like it

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!