गुस्से को नियंत्रित करने के 16 टिप्स How to Control Anger in Hindi get rid gussa :

how to control anger in hindi – गुस्से को नियंत्रित करने के टिप्सगुस्से को नियंत्रित करने के 16 टिप्स How to Control Anger in Hindi get rid gussa

गुस्से को नियंत्रित करने के 16 टिप्स How to Control Anger in Hindi get rid gussa

  • गुस्से को नियंत्रित करने के टिप्स

  • सबसे पहले आपको यह बात माननी होगी कि गुस्सा करना आपकी कमजोरी है. और आप अपनी इस कमजोरी को जड़ से खत्म करना चाहते हैं.
  • पूर्व की स्थितियों का आकलन करें कि जब जब आपने गुस्सा किया हो तो आपको क्या क्या नुकसान हुआ.
    इससे आपको अपने गुस्से को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी, क्योंकि आप गुस्से के दुष्परिणामों के प्रति जागरूक होंगे.
  • जब भी आपको गुस्सा आए तो अपनी किसी मीठी याद के बारे में सोचें, उससे आपको गुस्से को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी.
  • अगर संभव हो तो उस स्थान से हट जाएं, जहाँ बेकार में गुस्से की स्थिति उत्पन्न हो रही हो.
  • दूसरों की बेकार की बातों का जवाब न दें और न ही किसी से बेकार में उलझें.

  • ना तो दूसरों के मामले में खुद टांग अड़ाएं और ना ही दूसरे को अपने मामले में बेकार में टांग अड़ाने दें.
  • इस बात पर गौर करें कि कहीं गुस्सा करना आपके व्यक्तित्व की एक बड़ी कमजोरी तो नहीं बन गया और
    इस कमजोरी के कारण आप उन लोगों से भी अपने संबंध खराब कर ले रहे हैं जो लोग आपको बहुत मानते हैं.
  • कुछ भी बोलने से पहले सोचने की आदत डालें इससे आपको अपने गुस्से को नियंत्रण में रखने में मदद मिलेगी.
  • कभी-कभी व्यक्ति अगर शारीरिक रूप से ज्यादा कमजोर हो जाए तो भी गुस्सा बहुत आता है,
    इस इस स्थिति में यह जरूरी है कि आप अपने स्वास्थ्य ध्यान रखें और अपनी शारीरिक कमजोरी दूर करें.
  • उस व्यक्ति के बारे में सोचें जिस व्यक्ति को आप बहुत प्यार करते हैं.
  • जिस जिस दिन भी आपने गुस्सा किया हो उस दिन रात में यह जरूर सोचें कि आप के गुस्से ने कैसे बात को बिगाड़ा.

  • अच्छे नए लोगों से मिलिए.
  • अगर आपको कोई परेशानी है तो किसी ऐसे व्यक्ति के साथ इस परेशानी को शेयर करें जो व्यक्ति वास्तव में आपका शुभचिंतक हो.
  • कई बार गुस्से का एक कारण यह भी होता है कि हम अपने जीवन में इतने व्यस्त हो जाते हैं कि खुद के लिए हैं समय नहीं निकाल पाते हैं. तो अगर आप ऐसा कर रहे हैं तो जरूरत है कि आप अपने लिए भी समय निकालें आपको जो पसंद है वह करें, जहां घूमना पसंद है वहां घूमने जाएँ.
  • हर दिन सुबह उठकर पूजा करना शुरू करें.
  • यह बात याद रखें कि आप दूसरों को नहीं बदल सकते हैं इसलिए बेकार का गुस्सा करना आप को नुकसान हीं पहुंचाएगा.

.

Leave a Reply

Your email address will not be published.