Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content

भाई के लिए प्यारी सी चिट्ठी – Lovely Letter to Brother in Hindi from sister bhai bahan :

भाई के लिए प्यारी सी चिट्ठी – Lovely Letter to Brother in Hindi from sister
भाई के लिए प्यारी सी चिट्ठी  - Lovely Letter to Brother in Hindi from sister bhai bahan

Lovely Letter to Brother in Hindi from sister

  • छोटे,
  • अब तुझे “छोटा” नही कह सकते शायद,  हाँ तू बड़ा हो गया है। पर मेरे लिए तू छोटा ही रहेगा, इसलिए छोटू। तेरी बड़ी बहन होने के मायने थे, तेरा आदर्श बनना, तेरे सामने एक ऐसा व्यक्तित्व रखना जिससे तू प्रेरणा ले सके। तुझे सही रास्ते सिखाना, सही गलत का मतलब समझाना, अपनी गलतियाँ भी बताना, ताकि तू भी वही गलती न करे।
    लेकिन मैंने ऐसा कुछ नहीं किया। मैं असफल रही ये सारे ही काम करने में। उलटे ही, तू एक आदर्श बच्चा रहा हमेशा, हमेशा शांत, किसी से झगड़ा नही लेने वाला, और सदा ही अपनी उम्र से ज्यादा समझदार। जिस समय मैं गलती पे गलती किए जा रही थी, तू इतना समझदार था कि सदा मुझे बता रहा था कि दीदी ये सब कुछ गलत है, और हमेशा की तरह तुझे छोटे होने की डांट पिला कर मैंने गलत रास्ते चुने।
    पर छोटू मुझे आज भी याद है, जब तू छोटा था और मेरे पीछे पीछे घुमा करता था, यो शायद मैं इस दुनिया की सबसे बड़ी रानी हुआ करती थी, जिसके पास सबसे क़ाबिल ग़ुलाम था। तब भी तू मुझसे इतना प्यार करता था, की जब भी मुझे प्यास लगती थी, मैं गले मे कुछ अटकने का नाटक करती थी, और तू पानी लाने को दौड़ जाया करता था। बड़े होते के साथ हमारे बीच का ये रिश्ता ओर प्यार मज़बूत ही होता गया है। मैं तुझे छोटी से छोटी बात बताई बिना राह ही नही सकती,और मुझे पता है कि तू भी अगर मुझे कोई बात न बताए तो तुझे खाना हज़म नही होता। दुनिया की ऐसी कोई चीज़ नहीं जो मैं तेरे लिए छोड़ नही सकती या ला नही सकती। और मुझे पता है तू भी यही करेगा।
    आज राखी पे तुझसे यही कहना था कि मैं भले ही तुझे 3 साल से राखी नही बांध पाई,पर ऐसा कोई दिन नही की तेरी सलामती की दुआ न मांगी हो। और मुझे नाज़ है तुझ पर और खुद पर भी की तू मेरा भाई है। यक़ीन मान, मैं खुद को दुनिया की सबसे खुशनसीब बहन समझती हूँ कि तू मेरा भाई है।
    हाँ, मुझे पता है तू अगली बार मिलने पे जम कर खिंचाई करेगा मेरी इस चिट्ठी को ले कर, और इतनी तारीफों के बाद हवा में उड़ने लगेगा। पर जा, राखी है न, छोड़ दिया
    तेरी,
    दिदिया
    अंशु प्रिया (anshu priya)
  • Poem on Brother in Hindi 

.

Previous नानाजी – दादाजी कविता – Poem On Grandparents in Hindi Poem On Nanaji in Hindi :
Next सबसे अच्छे दोस्त के लिए चिट्टी Letter to Best Friend in Hindi sample informal format :

One comment

  1. Anurag Pathak

    आपका ब्लॉग कोट्स और wishes और कहानियों के लिए बेस्ट ब्लॉग है, थैंक्स भाई के लिए इस प्यारी सी चिठ्ठी के लिए|

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.