मेरे सपनों का भारत – Mere Sapno Ka Bharat Essay in Hindi india of my dream essay :

mere sapno ka bharat essay in hindi – मेरे सपनों का भारत निबन्ध
मेरे सपनों का भारत - Mere Sapno Ka Bharat Essay in Hindi india of my dream essay

मेरे सपनों का भारत – Mere Sapno Ka Bharat Essay in Hindi india of my dream essay

  • मेरे सपनों का भारत ऐसा होगा जहाँ सबको समानता की नजर से देखा जायेगा।जात-धर्म का भेदभाव दूर होगा, जहाँ सिर्फ लोग एकजुट रहेंगे।किसी भी व्यक्ति को उसके जात-धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं किया जायेगा।हर जगह सब प्रेम पूर्ण तरीके से रहेंगे। तकनीकी क्षेत्रों में तरक्क़ी हो।भारत विकासशील देश से विकसित देश बन जाये ऐसा सपनों का भारत है मेरा। निम्नलिखित बातें है मेरे सपनों का भारत में जो बहुत महत्वपूर्ण है-
  • शिक्षा और रोजगार- यहाँ के लोगों को मुफ्त शिक्षा प्रदान किया जाये, लोगों को शिक्षा के लिये प्रोत्साहित किया जाये।जितने शिक्षित व्यक्ति होंगे उतना ही भारत प्रगति करेगा।रोजगार के समान अवसर सबको प्रदान करना चाहिए तो युवा निराश नहीं होंगे।
  • स्वच्छ भारत-हर जगह बस गंदगी का अंबार है,जिस से बस बीमारी का आगाज है।इसलिए भारत में बीमारी से बहुत कोई ग्रसित है।हमारा भारत स्वच्छ होगा तो भारतवासी भी स्वस्थ रहेंगे।मेरे सपनों का भारत स्वच्छ भारत भी है।
  • लिंग भेद-लड़का-लड़की में जो लिंग भेद किया जाता है, लड़कियों को शिक्षित नहीं किया जाता है।ये सब बन्द हो।मेरे सपनों के भारत में लड़का-लड़की को समान अवसर मिले।पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को ज्यादा सम्मान मिले मेरे सपनों का भारत ऐसा है।
  • तकनीकी तरक्की-भारत अब हर ओर विकास कर रहा है।औद्योगिक तरक्क़ी कर रहा है,हर क्षेत्र में विकास हो ऐसा मेरा भारत हो।विकासशील देश से विकसित देश बनने की ओर भारत के ये बढ़ते कदम बढ़ते रहे ऐसा है मेरा सपनों का भारत।
  • भ्रष्टाचार-भारत की तरक्की में मुख्य अवरोधक भ्रष्टाचार है।नेता अपने स्वार्थ देखते है। आम जनता का विकास नहीं। मेरे सपनों का भारत ऐसा है जिसमें ना हो कोई काला धन ना ही हो कोई भ्रष्टाचार की बात।
  • जातिवाद-मेरे सपनों का भारत ऐसा है जिसमें ना हो कोई जात-पात की बात,ना ही हो कोई जात-धर्म से लड़ाई की बात।मेरे सपनों का भारत ऐसा हो जिसमें हो सबमें बस भाईचारे की बात सब ओर हो बस प्रेम की ही बात।
  • कृषि-मेरे सपनों का भारत ऐसा हो जिसमें हो कृषि बहुत अच्छे तरीके से।अत्याधुनिक तरीके से कृषि किया जाये ऐसा हो मेरे सपनों का भारत।
  • गरीबी-अभी भी हमारे भारत में गरीबी बहुत है।मेरे सपनों का भारत ऐसा हो जिसमें गरीबी कम हो जाये,सबको खाना-कपड़ा मिल जाये।सब अपना जीवन अच्छे से यापन कर सके ऐसा है मेरे सपनों का भारत।
  • निष्कर्ष:- मेरे सपनों का भारत ऐसा हो जिसमें हो सब एक समान।ना हो जात-पात की बात,ना ही हो लिंग भेद की चर्चा।सब ओर हो बस अच्छी और सच्ची सुविचार की बात।महिलाएं आगे बढ़े ऐसा हो हमारा भारत।गरीब भूखे ना मरे ऐसा हो मेरे सपनों का भारत।भ्रष्टाचार पर अंकुश लग जाये ऐसा हो मेरे सपनों का भारत।
  • – अनामिका मिश्रा
  • भ्रष्टाचार पर हिन्दी में निबंध – Bhrashtachar Essay in Hindi Nibandh On Corruption

.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.