Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content

नरेंद्र मोदी पर कविता || Narendra Modi Poems in Hindi PM Modi Pe Kavita :

narendra modi poems in hindi – नरेंद्र मोदी पोएम्स इन हिंदी नरेंद्र मोदी पर कविता || Narendra Modi Poems in Hindi PM Modi Pe Kavita

नरेंद्र मोदी पर कविता || Narendra Modi Poems in Hindi PM Modi Pe Kavita

  • नरेंद्र मोदी पर कविता || Narendra Modi Poems in Hindi PM Modi Pe Kavita
  • मोदी जी कविता

    प्रधानमंत्री मोदी का हर एक अभियान
    धीरे-धीरे बदल रहा है भारत की पहचान
    पहले की खुद गंगा के घाटों की सफाई
    फिर पूरे देश में सफाई की अलख जगाई
    देश के गाँव-गाँव में शौचालय बनवाए
    करोड़ों लोगों के बैंक खाते खुलवाए
    लेकिन अभी आपको बहुत कुछ करके दिखाना है
    अभी महिलाओं को सशक्त बनाना बाकी है
    भारत से अशिक्षा को मिटाना बाकी है
    शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाना बाकी है
    देशद्रोहियों को उनकी औकात बताना बाकी है
    देश में महिला डॉक्टरों की संख्या बढ़ाना बाकी है
    ईमानदारों के लिए राजनीति की राह खोलना बाकी है.
    गरीब भी चुनाव लड़ सके कुछ ऐसा कर जाइए
    अभी भूखमरी से आपकी लड़ाई बाकी  है
    संसद से देश के दुश्मनों की विदाई अभी बाकी  है
    किसानों के घर खुशहाली लाना अभी बाकी  है
    खेलों को दलालों से मुक्त कराना बाकी  है
    मीडिया को Responsible बनाना बाकी है
    सीमाओं को अभेद्य बनाना बाकी है
    विदेशों से काला धन लाना बाकी है
    भ्रष्ट लोगों को जेल पहुंचाना बाकी है
    नदियों को निर्मल बनाना बाकी है
    युवाओं को गुमराह होने से बचाना बाकी है
    जनसंख्या को नियंत्रित करना बाकी है
    समान नागरिक संहिता बनाना बाकी है
    न्याय व्यवस्था में तेजी लाना बाकी है
    जेलों से गुंडों का राज हटाना बाकी है
    हर भारतीय का स्वाभिमान जगाना बाकी है
    नैतिक भ्रष्टाचार मिटाना बाकी है
    न्यायिक भ्रष्टाचार मिटाना बाकी है
    सामाजिक भ्रष्टाचार मिटाना बाकी है
    सांस्कृतिक भ्रष्टाचार मिटाना बाकी है
    जो उम्मीदें जनता को आपसे है…
    उन सपनों को सच करके दिखाना बाकी है
    – अभिषेक मिश्र “Abhi “

  • Narendra Modi Par Kavita – narendra modi poems in hindi

  • शीर्षक ——मोदी बाबा की झोली
    गांधी नगर से ,
    इक्कीसबी सदी का ,
    गांधी आया है l
    देश को बचाने ,
    सिर ऊंचा उठाने ,
    देखो मोदी आया है l
    पापियों की बढ गयी ,
    धुकधुकी ,
    सच्चे भारतीयों के मुख ,
    पर मुस्कान लाया है l
    चीन के कर दिये ,
    दाँत खट्टे ,
    पाकिस्तानी ऊँट भी ,
    अब पहाड़ तले आया है l
    रिश्वतखोरी कल की ,
    बात हो गयी ,
    ईमानदारी के लिये ,
    ”भीम एप ” लाया है l
    गौकशी कर बंद ,
    मुस्कराई मानवता ही नही ,
    हर जानवर हर्षाया है l
    वक्त-ए-आजादी कुछ ,
    फ़ैसले हुए जल्दी में ,
    उनमें सुधार लाया है l
    गंगा -यमुना भी बह रही
    कल-कल ,
    पवित्रता कायम रखने का ,
    बीड़ा उठाया है l
    बह रही है पवन आजादी की ,
    आधी -आबादी आजाद है ,
    देने हक देखो ‘फरिश्ता’ आया है l
    बडे समा रहे नहीं –फूले ,
    बच्चा -बच्चा ,
    मोदी बाबा -मोदी बाबा चिल्ला रहा है l
    मोदी बाबा की झोली में ,
    सबको उपहार आया है !
    राशि सिंह

.

About Suvichar Hindi .Com ( Read here SEO, Tips, Hindi Quotes, Shayari, Status, Poem, Mantra : )

SuvicharHindi.Com में आप पढ़ेंगे, Hindi Quotes, Status, Shayari, Tips, Shlokas, Mantra, Poem इत्यादि|
Previous 43 वोटिंग स्लोगन || Voting Slogans in Hindi Vote Quotes Hindi Nare naare :
Next हिमालय पर्वत पर निबन्ध Essay on Himalaya in Hindi parvat history information :

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.