Recent Posts

खुसरो की रचनाएँ – Amir Khusro Poetry in Hindi paheliyan dohe ghazal mukriyan poem :

खुसरो की रचनाएँ - Amir Khusro Poetry in Hindi paheliyan dohe ghazal mukriyan poem

खुसरो की रचनाएँ – Amir Khusro Poetry in Hindi खुसरो की रचनाएँ – Amir Khusro Poetry in Hindi paheliyan dohe ghazal mukriyan poem खुसरो की रचनाएँ ■ पहेलियाँ – amir khusro ki paheliyan in hindi with answer puzzles एक गुनी ने ये गुन कीना, हरियल पिंजरे में दे दीना।देखो जादूगर का कमाल, डारे हरा निकाले लाल।।उत्तर—पान एक परख है सुंदर …

Read More »

प्यार-इश्क-मोहब्बत पर कविता – Pyar Ki Kavita Ishq Poem Mohabbat Hindi Poetry Prem :

प्यार-इश्क-मोहब्बत पर कविता - Pyar Ki Kavita Ishq Poem Mohabbat Hindi Poetry Prem

प्यार-इश्क-मोहब्बत पर कविता – Pyar Ki Kavita Ishq Poem Mohabbat Hindi दोस्तों हम आपके लिए लाये हैं प्यार-इश्क-मोहब्बत पर कविता – Pyar Ki Kavita Ishq Poem Mohabbat Hindi Poetry Prem. हमें उम्मीद है कि आपको कविताएँ पसंद आएँगी. Pyar Ki Kavita In Hindi __तुम__अपना सम्पूर्ण तुम्हे सौंप करजब लेती हूं साँस,तुम अंदर भर जाते हो,आत्मा तक पैठ जाते हो,छू लेते हो …

Read More »

माँ दुर्गा पर कविता – Poem on Maa Durga in Hindi mata durga navratri kavita :

माँ दुर्गा पर कविता - Poem on Maa Durga in Hindi mata durga kavita navratri lines liner

Poem on Maa Durga in Hindi mata durga navratri kavita, माता दुर्गा नवरात्रि पर कविता. Poem on Maa Durga in Hindi language font mata durga puja navratri kavita poetry poetries lines liner. जय माँ दुर्गा जय जगदम्बा जननी माँ दुर्गा भवानी,गाए तुम्हारी लीलासंसार का हर प्राणी।तुम वीरों की शक्ति माता,कमज़ोरों की हो ढाल।तुम जग की करुणामयी माता,जगत तुम्हारा लाल।जब भी …

Read More »

गाँव की याद कविता Poem On Village in Hindi – gaon par kavita village life beauty :

गाँव की याद कविता Poem On Village in Hindi - gaon par kavita village life beauty

गाँव की याद कविता Poem On Village in Hindi Poem On Village in Hindi – gaon par kavita बदलता गाँव – Village (Hindi Poem) मेरे गाँव में अब सावन की हरियाली नहीं बची,यहाँ की सारी रौनक शहर का रुख कर चली,यहाँ कागज़ की वो कश्तियाँ सारी डूब पड़ी,यहाँ की मिट्टी से वो सौंधी खुशबू छूट चली,अब यहाँ त्योहारों की शोरगुल भी नहीं …

Read More »

मेरे प्रिय शिक्षक – My Favourite Teacher Essay in Hindi Mere Priya Shikshak Nibandh :

मेरे प्रिय शिक्षक - My Favourite Teacher Essay in Hindi Mere Priya Shikshak Nibandh

मेरे प्रिय शिक्षक – My Favourite Teacher Essay in Hindi मेरे प्रिय शिक्षक – My Favourite Teacher Essay in Hindi Mere Priya Shikshak Nibandh गुरु गोबिंद दोउ खड़े, काको लागू पाँय।बलिहारी गुरु आपनो, गोबिंद दियो बताय।। कबीरदास का यह दोहा शिक्षक के महत्व को दर्शाता है। एक शिक्षक किसी शिक्षार्थी के लिए ईश्वर से भी उच्च महत्व रखता है, क्योंकि, …

Read More »

भगतसिंह सुखदेव राजगुरु पर कविता – Poem On Bhagat Singh in Hindi sukhdev rajguru :

भगतसिंह सुखदेव राजगुरु पर कविता - Poem On Bhagat Singh in Hindi sukhdev rajguru

भगतसिंह सुखदेव राजगुरु पर कविता – Poem On Bhagat Singh in Hindi भगतसिंह सुखदेव राजगुरु पर कविता – Poem On Bhagat Singh in Hindi sukhdev rajguru भगत सिंह ऐसे स्वतंत्रता सेनानी हैं, जो आज भी भारतीय को प्रेरित करते हैं. हम आपके लिए लेकर आए हैं भगत सिंह पर कविता. हमें विश्वास है आपको शहीद भगतसिंह की कविता पसंद आएगी. …

Read More »

हिंदी दिवस पर भाषण – Hindi Diwas Speech in Hindi Bhashan Aur Jankari & Essay :

हिंदी दिवस पर भाषण - Hindi Diwas Speech in Hindi Bhashan Aur Jankari & Essay

हिंदी दिवस पर भाषण – Hindi Diwas Speech in Hindi Bhashan Aur Jankari & Essay हिंदी दिवस पर भाषण – Hindi Diwas Speech in Hindi Bhashan Aur Jankari & Essay हिंदी दिवस हिंदी दिवस 14 सितम्बर को प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है. हिंदी भारत की राजभाषा है. 14 सितम्बर 1949 को ही संविधान सभा ने यह निर्णय लिया था की …

Read More »

( कर्म पर विचार ) Best Karma Quotes in Hindi font Shayari Status

कर्म पर विचार Best Karma Quotes in Hindi font for whatsapp facebook status

 कर्म पर हिंदी में विचार – Best Karma Quotes in Hindi font status shayari पुरुषार्थी व्यक्ति हीं जीवन में बहुत कुछ पा सकता है. दुनिया को समझना बहुत कठिन है, क्योंकि यहाँ योग्यता के हिसाब से हीं सब कुछ नहीं मिलता है. Bhagavad gita karma quotes in Hindi  व्यक्ति का कर्म अपने कर्ता को वैसे हीं हजारों लोगों के बीच …

Read More »

दशहरा पर कविता – Poem on Dussehra in Hindi Vijaya Dashami Poems Kavitayein :

दशहरा पर कविता - Poem on Dussehra in Hindi Vijaya Dashami Poems Kavitayein

दशहरा पर कविता – Poem on Dussehra in Hindi दशहरा पर कविता – Poem on Dussehra in Hindi Dussehra Kavita दशहरा कहने लगी ये बूढ़ी नानी,आओ बच्चों सुनो कहानी।कैसे हुई अच्छाई की जीतऔर बुराई की हार?क्यों मनाते हैं भला हमदशहरे का त्योहार?एक थे राम बड़े सुंदरअयोध्या के राजकुमार।अपनी पत्नी सीता सेकरते थे बहुत प्यार।यों तो थे वो न्यायप्रिय,पूरी प्रजा के …

Read More »