3 कविताएँ प्रेमिका के लिए – A Poem in Hindi For Girlfriend With Image :

A Poem in Hindi For Girlfriend With Image
3 कविताएँ प्रेमिका के लिए - A Poem in Hindi For Girlfriend With Image

3 कविताएँ प्रेमिका के लिए – A Poem in Hindi For Girlfriend With Image

  • एक वादा करो
    सूरज की रश्मि में
    जब शुरू होगा साल
    ओढ़ लेना तुम भी
    कंचन का भृगु छाल
    इस यायावरी में मेरी
    आवारगी का नुख़्सा 
    बसंत की इस अगन में 
    पूछ लेना तुम भी
    बिरस पतझड़ आयेगी
    इन सूखे दरख़्तों में
    सींच देना अनहद ही
    आंसुओ से तुम भी
    जब बढ़ोगे आगे
    आयेगी रुत तपन की
    मृदु शीतल सा बयार
    उड़ेल देना तुम भी
    फिर नज़र आऊँगा मैं
    चपला सी चंचल के संग
    गर्जूंगा इस भूमंडल में
    सिहर जाना तुम भी
    अंतिम जब इस गलन में
    ठिठुर रहा होगा “नवनीत”
    इन सभी वादों का कंबल 
    फेंक देना तुम भी
    एक वादा करो।
    – नवनीत
  • उन भंम्ररो को देखा था तुमने
    कैसे मचल रहे थे तुम पर
    उनमें से एक मैं भी था
    सबकुछ देख रहा था छिपकर
    तुम शरमा सी जाती थी ऐसे 
    जैसे मृदुल तरंग सी अक्सर
    एक दिन मैं भी आऊंगा
    फिर उस दिन तुम शर्माना 
    और मेरी गूँजो को सुनकर
    राग,रंग का पाठ पढाना।
  • तन्हाइयों में ही लिखता हूँ
    अल्फाज़ो में ही कहता हूँ,
    कुछ दर्द बयां करता हूँ
    और कुछ छिपा लेता हूँ।
    खामोशी है मेरी इस कदर 
    उन्हें अभी भी बुनता हूँ,
    और इस पागल दिल को 
    गज़ल बनाना सिखाता हूँ।।
    अभी अथाह दर्द है
    पन्ना भर जाएगा,
    इसीलिए तो जख्म पर
    शब्दों का मरहम करता हूँ।
    हर सुबह जख्म दे जाता है
    रात भर रहता है, 
    और नासमझी का दाग
    हर शब्द पर लगाता जाता हूँ।।
    -नवनीत तिवारी ‘नौसिखिया’
  • ख्वाबो की झिलमिल रातों में
    कब आओगी आहट बनकर
    गज़लों के इन सूनेपन में
    कब गाओगी राग उभरकर
    प्यासे दिल की गहराई में 
    कब बरसोगी बादल बनकर
    जब भी आना खत दे जाना
    जिसमें लिखा हो नाम तुम्हारा 
    “नौसिखिया” के कविताओं में
    कब होगी तुम उपमा बनकर।
    – नवनीत तिवारी”नौसिखिया”

.

One comment

  1. Anonymous

    मुझे नवनीतजी की कविता बेहद पसंद ायी

Leave a Reply

Your email address will not be published.