Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content

इंटरनेट की दुनिया कविता Poem On Internet in Hindi भागती-दौड़ती दिनचर्या पर सटीक कविता :

poem on internet in hindi – इंटरनेट की दुनिया कविता

इंटरनेट की दुनिया कविता Poem On Internet in Hindi भागती-दौड़ती दिनचर्या पर सटीक कविता

  • Poem On Internet in Hindi भागती-दौड़ती दिनचर्या पर सटीक कविता
  • इंटरनेट की दुनिया

    वाह री इंटरनेट की दुनिया,
    बढ़ा रही रिश्तों में अजीब सी दूरियाँ।
    घर में हों चाहे कितने भी सदस्य,
    सभी हैं बस अपने नेट पर ही व्यस्त।
    घर में छाया रहता पिन – डॉप साइलेन्स
    मुखर होते तभी शब्द जब नेट का बिगड़ता बैलेंस।
    पत्नी चढ़ाई सब्जी जल गयी चुल्हे पर,
    व्हासञप् पर लगी थी पुरानी सहेली के दूल्हे से।
    पति मोबाइल के हरेक ऐप को खंगालतै ऐसै,
    सी; बी:आई का डिटैक्टिव हो जैसे।
    बच्चो को नहीं फुर्सत बतियाने की,
    पापा मम्मी  को भो पडी है बस दोस्तों से चटियाने की
    हाल यह है कि देश विदेश की रिश्तेदारी तो निभ रहो,
    पर एक कमरे में बैठे घरवालों की बातें चुभ रहीं।
    तो ये है आज को इंटरनेट की दुनिया,
    अनेकों हैं अच्छाईयाॅ पर ढेरों हैं खामियाँ।
    तय करना है हमें खामियाँ चूने या अच्छाईयाँ,
    ताकि इस भरे-पूरे घर में हमें ना मिले तनहाईयाँ।।
    – Pratibha Sinha

  • Intaranet kee duniya

    vaah ree intaranet kee duniya,
    badha rahee rishton mein ajeeb see dooriyaan.
    ghar mein hon chaahe kitane bhee sadasy,
    sabhee hain bas apane net par hee vyast.
    ghar mein chhaaya rahata pin – dop sailens
    mukhar hote tabhee shabd jab net ka bigadata bailens.
    patnee chadhaee sabjee jal gayee chulhe par,
    vhaasanap par lagee thee puraanee sahelee ke doolhe se.
    pati mobail ke harek aip ko khangaalatai aisai,
    see; bee:aaee ka ditaiktiv ho jaise.
    bachcho ko nahin phursat batiyaane kee,
    paapa mammee ko bho padee hai bas doston se chatiyaane kee
    haal yah hai ki desh videsh kee rishtedaaree to nibh raho,
    par ek kamare mein baithe gharavaalon kee baaten chubh raheen.
    to ye hai aaj ko intaranet kee duniya,
    anekon hain achchhaeeyaaai par dheron hain khaamiyaan.
    tay karana hai hamen khaamiyaan choone ya achchhaeeyaan,
    taaki is bhare-poore ghar mein hamen na mile tanahaeeyaan..
    – pratibha sinha

.

Previous Types of Noun in Hindi & English || संज्ञा के प्रकार और परिभाषा definition sangya prakar :
Next शिव चालीसा Lyrics – Shiv Chalisa in Hindi – Bhagwan Shiv Ki Chalisa in English Font :

One comment

  1. Nirmal Kumar Mehta

    I am cheered to see everything here that I need
    ??

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.