Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

3 बेटी बचाओ – बेटी पढ़ाओ कविताएँ – Save Girl Child Poem in Hindi Font :

Save Girl Child Poem in Hindi
Save Girl Child Poem in Hindi - the best & short poerty on beti

Poem No 1 – Save Girl Child Poem in Hindi

  • बेटी है, तो है सृष्टि सारी
  • कभी बेटी, कभी बहन, कभी पत्नी, तो कभी माँ है नारी
    पुरुष जिसके बिना असहाय है, ऐसी है नारी
    कभी ममता की फुलवारी, तो कभी राखी की क्यारी है नारी
    सृष्टि जिसके बिना थम जाए, ऐसी है नारी
    पुरुषों की पूरी भीड़ पर अकेली भारी है नारी
    जो सृष्टि को जलाकर राख कर दे, ऐसी चिंगारी है नारी
    बेटी हो तो…….. पिता की राजदुलारी है नारी
    माँ हो तो………. सन्तान पर हमेशा भारी है नारी
    बहन हो तो……. भाई की लाडली है नारी
    पत्नी हो तो…….. पति की जान है नारी
    पुरुष हमेशा अधूरा तो…….. हमेशा पूरी है नारी
    सृष्टि जिस पर घूम रही, वह धुरी है नारी
    जब गर्भ में नहीं मरोगे, तभी तो तुम्हारी है नारी
    जब नारी है………… तभी तो है ये सृष्टि सारी
    – अभिषेक मिश्र
  • बेटी बचाओ – Poem No 2 – Save Girl Child Poem in Hindi

    मेरे होने का एहसास नहीं है।
    पर वो दिन क्या ख़ास नहीं है।
    जिस दिन मैं घर आई थी।
    मम्मी तो मुस्कुराईं थी।
    पापा भी चहक उठे थे।
    पर फिर क्यों दुनिया ने नहीं दी बधाई थी।
    लड़की हुई है ये सुनकर सबके मुह उतर गए।
    बधाई देने वालो के शब्द क्यों तानो में बदल गए ।
    लड़की हूँ मैं बोझ नहीं किस किस को समझाऊं मैं।
    लड़को से हूँ कम नहीं क्यों तुमको बतलाऊ मैं।
    भूल गए हो तुम सब शायद लड़की से है ये जग सारा।
    तुम ना होते आज अगर माँ ने न होता तुमको 9 महीने कोख में पाला।
    तो क्यों खुश नहीं होते हो तुम लड़की के होने पर ।
    क्यों कुछ मासूमों को मार देते हो उनके होने पर।
    उनका क्या कसूर उनको भेजा है इस जग में भगवान् ने।
    तुम कोन होते हो, ये फैसला करने वाले के हम रहेंगे या नहीं इस संसार में।
    लड़की से ही तुम भी हो , लड़की से है ये जग सारा।
    कद्र करो और समानता लाओ। कहीं हो न जाए बंजर जग सारा।
    – आँचल वर्मा

  • बेटी – Poem No 3 – Save Girl Child Poem in Hindi

    बेटी तुम हो मान हमारी

    सबसे प्यारी सबसे न्यारी
    बेटी तुम सम्मान हमारी
    तुमको जहाँ में लाना है
    जग में नाम कमाना है
    सरस मृदुल तुम न्यारी हो
    तुम तो शान हमारी हो
    तुमको हमे पढा़ना है
    तुमको आगे बढा़ना है
    लक्ष्मीबाई हो या लता
    पद्मिनी हो या पन्ना धाय
    एक से बढ़कर एक है नाम
    बेटी ने बढा़या देश का मान
    बेटी ने गौरव को बढा़या
    जग में नयी पहचान दिलाया
    हर पद को गुंजित करने वाली
    सूर्य सी किरण बिखेरने वाली
    नयी उडा़न को भरने वाली
    सपने को सच करने वाली
    आओ मिलकर करें सलाम
    बेटी है मेरे देश की शान
    – कंचन पाण्डेय GURUSANDI MIRZAPUR UTTAR PRADESH 

  • आपको हमारी कवितायें ( Save Girl Child Poem in Hindi ) कैसी लगी जरुर बताएं.

.

इन्हें भी जरुर पढ़ें

Share this post on Whatsapp, Facebook, Twitter, Pinterest and other Social Networking Sites

About Abhi @ SuvicharHindi.Com ( SEO, Tips, Thoughts, Shayari )

Hi, Friends मैं Abhi, SuvicharHindi.Com का Founder और Owner हूँ. हमारा उद्देश्य है Visitors के लिए विभन्न प्रकार की जानकारियाँ उपलब्ध करवाना. अगर आप भी लिखने का शौक रखते हैं, तो 25suvicharhindi@gmail.com पर अपनी मौलिक रचनाएँ जरुर भेजें.
Previous 2 लाइन स्टेटस इन हिंदी एटिट्यूड- 2 Line Status in Hindi Attitude with images :
Next 20 लव स्टेटस फॉर व्हाट्स एप्प हिन्दी Love Status For Whatsapp in Hindi words :

12 comments

  1. Gautam melkani

    Very nice poems

  2. neeru

    best one

  3. Anonymous

    Very nice poem
    We shoulh spread awairness to save girls

  4. ashnarayan Yadav

    nice poem

  5. Anamika roy

    good………………. job……………………………………..you done!

  6. shrey badoni

    heart touching poem

  7. Yashika Aidasani

    It was a v touching n beautiful poem.?

  8. Indu

    Your Comment excellent

  9. Vikrant Astbandhu

    What a fantastic collections. .I’m impressed with this type of poems. ..I’m thankful to you.

  10. ravi kumar gayakwad

    Very butifool

  11. ravi kumar gayakwad

    Very ….. very …….nice

  12. ritu agrawal

    Very nice ??

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.