कड़वे प्रवचन हिंदी में – Kadve Pravachan in Hindi किसी के Professional Life की सफलता :

कड़वे प्रवचन हिंदी में – Kadve Pravachan in Hindi
कड़वे प्रवचन हिंदी में Tarun Sagar Ji Maharaj Ke Kadve Pravachan in Hindi

एक कुप्रथा को खत्म करने के नाम पर नई कुप्रथा को जन्म देना महामूर्खता है.

  • भले हीं आपकी राजनीति में रूचि न हो, लेकिन आपमें राजनितिक समझ जरुर होनी चाहिए.
  • वोट नहीं डालने वाले लोग…… वोट नहीं डालकर भ्रष्ट लोगों की मदद करते हैं.
  • नाजायज चीजें हमेशा नाजायज होती हैं……. चाहे बात प्यार या जंग की हीं क्यों न हो. प्यार और जंग में भी नाजायज चीजें, नाजायज हीं होती है.
  • लोग केवल अपने गलत कामों को सही ठहराने के लिए कहते हैं कि “प्यार और जंग में सब जायज है.
  • आप जिससे प्यार करते हैं अगर उससे शादी करने की हिम्मत नहीं कर पाते हैं……. तो आपको अपने प्रेमी या प्रेमिका की शादी के बाद अपने प्रेमी या प्रेमिका से प्रेम सम्बन्ध रखना अंत में कई लोगों की जिंदगी बर्बाद कर देता है.
  • वैसा मजाक किसी के साथ मत कीजिए जैसा मजाक आप सहन नहीं कर सकते हैं.
  • या तो उसी से शादी कीजिए जिससे आप प्यार करते हैं. और अगर आप अपने प्रेमी / प्रेमिका से शादी नहीं कर पाते हैं, तो ईमानदारी से अपने पति / पत्नी से प्यार कीजिए.
  • दूसरों के भरोसे जिंदगी जीने वाले लोग हमेशा दुखी रहते हैं. इसलिए अगर हम सूखी जीवन जीना चाहते हैं, तो हमें आत्मनिर्भर बनने की कोशिश करनी चाहिए.
  • संघर्ष के बिना मिली सफलता को सम्भालना बड़ा मुश्किल होता है.
  • Shortcut से मिली हुई चीज टिकाऊ नहीं होती है.
  • परम्पराओं और कुप्रथाओं में बारीक़ फर्क होता है.
  • किसी के Professional Life की सफलता देखकर हीं उसके दीवाने मत बन जाइए. क्योंकि बुरा व्यक्ति घातक और मक्कार हीं होता है चाहे वह कितना हीं सफल क्यों न हो गया हो.
  • किसी के उपर भी बहुत अधिक भरोसा नहीं करना चाहिए, क्योंकि न जाने कब सामने वाला व्यक्ति बदल जाये.
  • जहाँ अधिकार के साथ कर्तव्यपालन नहीं सिखाया जाता है, वहाँ अधिकार लोगों को उदंड बना देता है.

.

Leave a Reply

Your email address will not be published.