जिंदगी पर 4 हिन्दी कविता Hindi Poem on Zindagi || poem on life in hindi lyrics :

जिंदगी पर हिन्दी कविता – Hindi Poem on Zindagi
जिंदगी पर हिन्दी कविता - Zindagi Poem in Hindi Language


  • Hindi Poem on Zindagi
    – 
    जिंदगी

    खुशियों की महक से है बनती जिंदगी,
    सपनों की कलम से है लिखनी जिंदगी ।
    कहना है तुझसे बस इतना जिंदगी ,
    हर मोड़ पर, तू संभलना जिंदगी ।
    जीत आसानी से मिले तो क्या जिंदगी ,
    कभी-कभी दुख भी सहना जिंदगी ।
    पर आखिर में तो है हँसना जिंदगी ,
    कांटो के बीच है रहना जिंदगी ।
    पर गुलाबों की तरह है महकना जिंदगी ।।
    आखिर में है ये कहना जिंदगी ,
    कि हर वक्त यूं जियो जिंदगी ।
    कि अगले पल फिर मिले या ना मिले जिंदगी ।।
    – श्रद्धा कक्षा – 11 ब


  • Poem on Zindagi in HIndi
    – दुआ

    दौलत कम कमाई है
    मगर इज्जत और प्यार हर दिन कमाता हूँ
    ऐशो आराम की जिंदगी तो नहीं है मेरी
    मगर जितना है  उसे सबके साथ बाट के खाता हूँ।
    जब महंगाई देखता हूँ,  तो मलाल होता है कम कमाने का।
    जब बेईमानी देखता हूँ, तो बुरा लगता है ईमानदारों का हाल देखकर।
    मगर फिर जब मैं अपनी थाली में से  किसी गरीब को खिलाता हूं तो पता चलता है।
    कि मुझसे अमीर तो कोई हैं ही नहीं मेरे पास तो इतने लोगों की दुआएँ है।
    पैसों से हर चीज खरीदी जा सकती है।
    मगर खुशी प्यार ओर  सच्चे दिल से निकली दुआ नहीं।
    – गार्गी अग्रवाल


  • Poem on Life in Hindi
    – जिन्दगी है एक खेल

    ये जो जिन्दगी है एक खेल है,
    हमें इसे खेलना ही है।
    जिन्दगी कभी जलती आग,
    तो कभी ठंडी हवा होती है।
    कभी आग में जल कर तड़पना पड़ता है,
    कभी ठंडी हवा में खुशियों का एहसास होता है।
    जिन्दगी में कभी ग़म कम और खुशी ज्यादा होता है,
    कभी खुशी कम और गम बेहिसाब होता है।
    जिन्दगी मे कभी दुःख का समन्दर,
    कभी खुशी की बूंद आती है।
    कभी इसमें नहीं रहता चैन और नीन्द उड़ जाती है।
    अगर प्यार की किरण जिन्दगी में हो, तो खुशी के उजालों से जिन्दगी भर जाती है।
    अगर प्यार की किरण जिंदगी में ना हो,
    तो ग़म का अंधेरा छाया रहता है।
    ये जो जिंदगी है एक बहती नदी है,
    रूकती नहीं कभी थमती नहीं,हमेशा बहती रहती है।
    कभी घनी अंधेरी रात के बाद उजालों से भरा दिन आता है,
    गम के बाद खुशियों की बारात आती है।
    जिन्दगी के ग़म से ना हार मानना चाहिये, ग़म के बाद खुशी आती है,
    गम मे खुशियों का इन्तेजार करना चाहिए
    भगवान का दिया हुआ सबसे अच्छा वरदान है जिन्दगी,
    इसे ना बर्बाद करना चाहिये।
    बीत जाती है जिन्दगी मुश्किलों से उलझ कर,
    कभी कभी वक्त निकालकर मुस्कुरा लेना चाहिये।
    —~~~~~~*~~~~~~—
    – सुधीर कुमार


  • Hindi Kavita on Life

    – कुछ पल की है जिंदगानी मेरी
    बस इतनी सी है कहानी मेरी कुछ पल की है जिंदगानी मेरी
    सवार लूं कुछ लम्हे आने वाले फिर मौत की बाहों में सो जानी है जिंदगानी मेरी
    छोटे छोटे सपने हैं छोटी सी उम्मीदें हैं
    छोटी-छोटी खुशियों से बटोर लो एक कहानी नई
    जो तू साथ दे इस मोड़ पर मेरा तो समझ जाएगी जिंदगानी मेरी
    कर दूँ आबाद अपनी यादों से सब को नाज हो फिर उन सबको
    अफसोस ना रहे मुझे जाने का
    एक पल में ही जी ली कई सदियां ऐसी बना दे जिंदगानी मेरी
    ना कोई शिकवा ना कोई शिकायत ना रहे कोई नाराजगी
    कितनी चाहत भर दे मेरी सांसों में मुझको ही कम लगे जिंदगानी मेरी
    अगर दिल को मंजूर है तो कबूल कर वरना चाहत पर सितम ना करो
    मैं तंहा हूं पर खुश हूं ऐसे ही बीत जाएगी जिंदगानी मेरी
    बस इतनी सी है कहानी मेरी
    बस इतनी सी है कहानी मेरी
    – Mahi Ram
  • जिंदगी पर शायरी – Hindi Shayari On Life in Hindi Language
Related Posts  वीर रस के उदाहरण - Veer Ras Ke Udaharan :

.

Previous मोबाइल फ़ोन पर निबन्ध – Essay on Mobile Phone in Hindi Language :
Next बचपन पर कविता – Short Poem On Bachpan in Hindi Childhood poetry lines :

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.