31 बाप बेटी शायरी || Baap Beti Shayari Hindi shayari on father & daughter :

shayari on father and daughter in hindi – baap beti shayari hindi – बाप बेटी शायरी 31 बाप बेटी शायरी || Baap Beti Shayari Hindi shayari on father & daughter

बाप बेटी शायरी || Baap Beti Shayari Hindi shayari on father & daughter

 

  • पूरे घर की जान होती है बेटियाँ,
    दो कुलों की मान होती है बेटियाँ.
  • अपने शौक को दबा कर जीना सीख जाती हैं,
    ना जाने बेटियाँ ये हुनर कहाँ से लाती हैं.
  • अपनी बेटी के कन्यादान का सपना हर रोज देखता था जो पिता,

    फूट-फूट कर रोया था वो, जब वही सपना पूरा होने को आया.

  • ना कोई गाड़ी, ना कोई बंगला चाहिये,
    बस सलामत रहे माँ-बाप, ऐसी दुआ चाहिये.
  • नन्ही सी परी को उसने गोद में खिलाया होगा,
    हर दुःख-दर्द से उसे बचाया होगा,
    ना जाने कितने आंसुओं को दफन कर,
    उसके पिता ने कन्यादान का फर्ज निभाया होगा.
  • अपनी जरूरतों को नजरअंदाज करके अक्सर
    हमारी ख्वाइशों को पूरी करते हैं पापा.
  • अपने बच्चों का बोझ वो कंधे पे उठा लेता है,
    वो बाप है साहेब, बच्चों के लिये हर गम उठा लेता है,
  • बेटी को पढ़ा-लिखा कर काबिल बनाया है,
    इस तरह एक बाप ने उसे आत्मसम्मान दिलाया है.
  • मेरे लिये वो दुनिया से लड़ जाते हैं,
    पिता बच्चों के लिए कुछ भी कर जाते हैं.
  • अपने बच्चों को हर खुशी वो देता है,
    वो बाप है साहेब बस बच्चों के लिए हीं सांसे लेता है.
  • पिता की जान होती है बेटियाँ,
    पिता का अभिमान होती है बेटियाँ.
  • सब सुख एक तरफ है,
    माता-पिता की मुस्कान एक तरफ है.
  • अपनी सारी कमाई अपने बच्चों पर लगा कर खुश हो जाता है,
    वो पिता है अपने बच्चों को खुश देखकर हीं खुश हो जाता है.
  • माँ ममता की मूरत है,
    पापा त्याग की सूरत है.
  • चिड़ियों सी चहकती रहती है बेटियाँ,
    मायके में जब तक रहती है बेटियाँ.
  • हर बात में नखरे करती हैं बेटियाँ,
    जब तक पिता के घर में रहती हैं बेटियाँ.
  • पापा की हर तकलीफ को वो भाँप लेती है,
    बेटियां पापा के सुख-दुःख को जान लेती है.
  • बेटी है तो आज है, बेटी है तो कल है.
  • मेरे हँसी के पीछे का गम वो जान लेते हैं,

    पिता हैं वो, इसलिए मेरे दिल की हालत पहचान लेते हैं.

  • बेटी हूँ मैं, मेरी बस इतनी कहानी है
    मेरी दुनिया माँ से शुरू, और पिता पे खत्म है.
  • मैंने पापा से दुनियादारी सीखी है,
    शायद इसलिए मैं धोखे और फरेब से दूर हूँ.
  • पापा के दुःखो को बाँटती है बेटियाँ,
    इस तरह सन्तान होने का फर्ज निभाती है बेटियाँ.
  • चिलचिलाती धूप में जब भी मुझे छांव की तलाश होती है
    तो मेरी बेचैन नजरें बस मेरे पिता को खोजती हैं.
  • हर पिता का बेटी से दिल का रिश्ता होता है,
    तभी तकलीफ बेटी को हो, तो दर्द पिता को होता है.
  • तुम आँखों से अपनी तकलीफ कहना पापा
    मैं आँखों से तुम्हारा हर दर्द समझ लूंगी पापा.
  • अपनेपन का पाठ वो सिखाते हैं,
    आखिर पिता हैं वो……
    इसलिए बस प्यार की बात वो बताते हैं.
  • अपने बच्चों को दो वक्त की रोटी के लिये, दिन-रात मेहनत करता है,
    वो पिता है साहेब, बच्चों को पालने के लिये, जीता-मरता है।
  • बेटों से बिल्कुल कम नहीं होती है बेटियाँ,
    ये बात, पापा हरदम बताते हैं,
    इसलिए वो, बेटे-बेटी में भेद नहीं कर पाते हैं.
  • बेटे पापा की “जायदाद” बाँटते हैं,
    और बेटियाँ पापा की “तकलीफ” बाँटती है.
  • बेटी की हर ख्वाइश पूरी नहीं होती,

    फिर भी बेटियाँ कभी अधूरी नहीं होती।

Related Posts  15 दिल की बात शायरी Dil ki Baat Shayari ke Saath good morning दिल के जख्म :

.

Previous बहन के जन्मदिन पर कविता || Birthday Poems for Sister in Hindi bhai bahan :
Next गरीबी पर कविता || Poem On Poverty in Hindi – Garibi Par Kavita poetries :

One comment

  1. Rgp

    Heart touched

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.