5 दिल छू लेने वाली कविता ❤ Heart Touching Love Poems in Hindi messages world best :

Heart Touching Love Poems in Hindi for girlfriend,
Heart Touching Love Poems in Hindi

Heart Touching Love Poems in Hindi for the one you love wife gf husband boyfriend, dil ko chune wali kavita


  • 1st
    Poem
  • पूरी झल्ली है वो – दिल छू लेने वाली कविता

  • पूरी दुनिया जब बुरा-भला कह रही थी मुझे
    तो I Love you कहा था, उसने मुझे
    जब दुनिया ने तोड़-मरोड़कर रख दिया था मुझे
    तो उसने सहारा देकर, फिर से आगे बढ़ना सिखाया था मुझे
    न जाने क्या देखा था उस पगली ने मुझमें !
    जब परछाई ने भी साथ छोड़ दिया था मेरा, वो मेरे साथ पल-पल खड़ी थी
    न जाने क्यों….. मैं पूरी दुनिया से अलग लगा था उसे
    जब सबकुछ हार गया था मैं, तो वो जीत बनकर साथ खड़ी थी मेरे
    और देखते-देखते मेरे पूरे अस्तित्व में हीं समा गई वो
    मैं उसका बन गया था, और मेरी बन गई थी वो
    मुझे प्यार करते-करते….. खुद प्यार बन गई थी वो
    तभी तो कहता हूँ, लड़की नहीं…….  पूरी झल्ली है वो
    अब उसे बहुत प्यार करता हूँ मैं, वो जान है मेरी… ये इकरार करता हूँ मैं
    आजकल प्यार की नई कहानी लिख रहे हैं, वो और मैं
    वैसे तो पूरी दुनिया है अब मेरे साथ, पर मेरे सबसे पास है वो
    तभी तो कहता हूँ, लड़की नहीं…….  पूरी झल्ली है वो
    – अभिषेक मिश्र

  • 2nd
    Poem
  • एक मुस्कान अपने नाम करदे – poem from the bottom of my heart

  • एक मुस्कान अपने नाम करदे
    ख़ुशियों का एक जाम अपने नाम करदे
    बातें करके दिन बिताए औरों के संग
    एक दिन अपने लिए सुबह से शाम करदे
    सुनके लोगों को बड़ा आज़माया है ख़ुद को
    अब ख़ुद से ख़ुद की पहचान करदे
    तरीक़े भी तेरे हो और इरादा भी तेरा
    ऐसा ख़ुद के लिए कुछ काम करदे
    हाथों में हाथ डालकर चलती रही है जो ज़िन्दगी
    उसे थोड़ा तू विश्राम करदे
    कुछ पल छोड़ दे तू अपने लिए
    बाक़ी सब पे अल्पविराम करदे
    एक मुस्कान अपने नाम करदे
    ख़ुशियों का एक जाम अपने नाम करदे
    -प्रियंका पुरोहित व्यास
    न्यू यॉर्क

  • 3rd Poem
  • ( Sad Love Poems in Hindi )

  • “कोई प्रीत-बीज कैसे उपजाऊं”

    ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

    मन गागर में दुःख भरा है,
    कैसे चेहरा प्रफुल्लित दिखाऊंं?
    पहेलियों भरे इस जीवन को,
    मैं कैसे सरल तुम्हें बताऊं?
    ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
    समस्याएं जब मेरी अनेक है,
    मैं कैसे सवाल तेरे सुलझाऊं?
    दुनिया बड़ी बेरहम है,
    मैं ज़ख्म मेरे फिर क्यों दिखाऊं?
    ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
    सुखे हुए जब गुलाब पड़े हैं,
    मैं बसंत बहार कहां से लाऊं?
    श्वेत चादर में लिपटा हुआ हूं,
    फिर कैसे रंगों से मिलाप कराऊं?
    ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
    स्वार्थ भरी इस दुनिया में,
    अब मन का मीत कहां से लाऊ?
    जब वेदनाओं से मन भरा है,
    मैं फिर कैसे प्रेम-गीत गुनगुनाऊं?
    ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
    निरर्थक पड़े इस जीवन को
    अब कैसे जीकर मैं दिखाऊं?
    नयन-तालाब जब सुख गया है
    फिर कैसे रोकर मन बहलाऊं?
    ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
    नफरतें भरी जब दिलों में
    कोई प्रीत-बीज कैसे उपजाऊं?
    रो पड़ी आज कलम भी मेरी
    मैंं कैसे व्यथा मौखिक सुनाऊं?
    ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
    -भारत सैनी ‘गहलोत’✍


  • 4th Poem
  • love poem in hindi for girlfriend

    “कसक”

  • जबसे आई हो तुम मेरी आँखों के सामने,
    मेरी जिंदगी के हर पन्नों में शामिल होती जा रही हो।
    बेइरादा ही सही मेरे हर पल को महका रही हो,
    अब तो मुझे खुद को टटोलना पड़ता है,
    रुक जा ज़रा सा,,,
    ‘दिल’ को बार-बार टोकना पड़ता है।
    मैं सोचता था ‘दिल’ मेरा निर्जीव है,
    यह मरा हुआ है पर,
    यह तुम्हें देख तुमसे बोलना चाहता है,
    मैं जानता हूँ नहीं हो तुम मेरे फिर भी ये तुम्हारा होना चाहता है।
    क्यों आ गई तुम सर्दी की धूप बनके,
    क्यों आ गई तुम मेरे मन में छपी तस्वीर की रूप बनके,
    मैं तो जीतता आया था हमेशा,
    लेकिन अब मुझे तुमसे हारना पड़ता है।
    बुरा न लग जाए कभी तुम्हें मेरी चाहतों को जानकर इसलिए,
    मन में मुझे ‘कील’ सा मारना पड़ता है।
    हिमांशु शर्मा ‘हेमु’

  • मेरा पहला प्यार –
    First Love poem in Hindi
  • दिल तक पहुंचने वाली कविता

  • अजनबी था,
    पर थी मेरी ही पहचान उसमे,
    जो देख ले एकबार,
    सुकून के सागर में,
    दिल डूब जाए,
    उससे पहली मुलाकात ,
    याद है मुझे आज भी,
    आँखों में शर्म थी ,
    और दिल में ज़ुबान,
    काँपते थे होंठ उसके
    पर रुक से
    जाते थे उसके
    अल्फ़ाज़ वहां,
    बिना दीदार,
    बातें होने लगीं
    उससे हज़ार,
    दिल यूँ मेरा भी,
    गया था हार,
    वो बन बैठा मेरा
    पहला प्यार,
    हिम्मत जुटाकर
    सामने आया वो,
    और कह दिया उसने
    अपने दिल का हाल,
    डर गई, सहम सी गयी मैं,
    हाँ या ना के भवंर में
    फंस गई मैं,
    ना तो हामी भरी
    ना ही किया इंकार,
    डर था मुझे,
    कही दूर न हो जाए
    मेरा पहला प्यार,
    आज भी दिल उसके,
    ही पास है मेरा,
    उसी की तो यादो ने
    लगा रखा है डेरा,
    क्या मैं भी बयां
    करूँ उसे अपना प्यार?
    आखिर कैसे करूँ
    इज़हार?
    वो था, वो है,
    और वो ही रहेगा,
    मेरा पहला प्यार,
    मेरा पहला प्यार।
    – प्रियंका प्रियंवदा….
  • Read also :
  • One Sided Love Poems in Hindi
  • Sad Love Poems in Hindi for Girlfriend
  • One Line Heart Touching Quotes in Hindi

Share these Heart Touching Love Poems in Hindi for the one you love.

.